तीन पंचायतों को जोड़ने वाली सड़क गड्ढे में तब्दील

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:15 AM IST

Madhubani News - सीमावर्ती क्षेत्र के तीन पंचायत सहित पड़ोसी मित्र राष्ट्र नेपाल के करीब एक दर्जन गांवों को जोड़नी वाली सबसे कम दूरी...

Madhawapur News - the road connecting the three panchayats has turned into pits
सीमावर्ती क्षेत्र के तीन पंचायत सहित पड़ोसी मित्र राष्ट्र नेपाल के करीब एक दर्जन गांवों को जोड़नी वाली सबसे कम दूरी की विरीत बिहारी खरंजा पथ एक दशक से पूरी तरह जर्जर होकर गड्ढे में तब्दील हो गया है। इस पथ में वर्ष दो हजार में पंचायत समिति की राशि से लगाए खरंजों की करीब 80 प्रतिशत ईंटें भारी वाहन के परिचालन से उखड़ गई है। इस कारण रात के अंधेरे में कौन कहे दिन के उजाले में भी राहगीरों के लिए यह अनुमान लगाना मुश्किल हो जाता है कि “गड्ढे में सड़क है या सड़क में गड्ढा”। मधवापुर,वासुकी बिहारी उतरी वासुकी बिहारी दक्षिणी पंचायत के साथ साथ पड़ोसी मित्र राष्ट्र नेपाल के धनुषा एवं महोत्तरी जिले के एक दर्जन से अधिक गांवों को यह आपस में जोड़ने वाली सबसे कम दूरी की प्रमुख ग्रामीण सड़क है। जिनमें, मुख्यालय पंचायत के रामपुर, विरीत, मधवापुर, वासुकी बिहारी उतरी के बिहारी इनरवा, मजकोठिया, गढ़ी, शिरोमण पट्टी, गोपालपट्टी, मुखियापट्टी, गुलरिया दक्षिणी के ब्रह्मपुरी, जानकीनगर, दुर्गापट्टी, वासुकी एवं नेपाल के मटिहानी, फेंचहा, खतवैया, फुलगामा, मुसहरनियां, बैरिया, तुलसियाही, कोल्हुआ, मुखियापट्टी आदि गांव के लोग शामिल हैं। इसका उपयोग अधिकांशतः खेतों में काम करने वाले इन पड़ोसी गांवों के किसान,मजदूर,चरवाहा, पशुपालक,स्कूली छात्र -छात्राएं, घास व अन्य पशु चारा लाने वाली महिलाएं एवं भारत नेपाल सीमा पर तैनात सुरक्षा कर्मी करते हैं। इसी पथ में नया प्राथमिक विद्यालय इनरवाटोल बिहारी एवं नव सृजित प्राथमिक स्कूल मजकोठिया है।

जर्जर विरीत बिहारी पथ।

भारी वाहन के परिचालन से हुआ डेमेज

मधवापुर मधुबनी मुख्य पथ जर्जर रहने के कारण एवं सीमा पर तैनात एसएसबी जवानों द्वारा शख्ती बरते जाने पर करीब तीन वर्षों तक हर तरह के व्यवसायियों के मालवाहक वाहन का परिचालन इसी पथ से किया गया। क्योंकि,पंसस निधि से इस पथ में मिट्टीकरण एवं खरंजाकरण कार्य कराया गया था।

कहते हैं अधिकारी | बीडीओ वैभव कुमार ने बताया कि मेरे संज्ञान में ये बातें इसलिए नहीं आयी है कि योगदान के बाद चुनावी व्यस्तता की वजह से उस पथ से गुजरने का मौका नहीं मिला है।उन्होंने बताया कि जनहित में जल्द इसका मुआयना कर सीमा विकास या अन्य मद से बनवाने की ठोस पहल की जाएगी।

X
Madhawapur News - the road connecting the three panchayats has turned into pits
COMMENT