• Hindi News
  • Rajya
  • Bihar
  • Madhubani
  • Jhanjhapur News there was a lizard in the mid day meal 66 children were sick no one was aware so hm locked the children in the room

मिड-डे मील में थी छिपकली, 66 बच्चे हुए बीमार, किसी काे भनक न लगे, इसलिए एचएम ने बच्चों को कमरे में बंद किया

Madhubani News - मध्य विद्यालय प्रसाद में शनिवार को एमडीएम में छिपकली मिली। एमडीएम की खिचड़ी खा चुके 66 छात्रों में कुछ की हालत स्कूल...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:50 AM IST
Jhanjhapur News - there was a lizard in the mid day meal 66 children were sick no one was aware so hm locked the children in the room
मध्य विद्यालय प्रसाद में शनिवार को एमडीएम में छिपकली मिली। एमडीएम की खिचड़ी खा चुके 66 छात्रों में कुछ की हालत स्कूल में बिगड़ने लगी। सूचना पाकर बीडीओ और पुलिस पदाधिकारी स्कूल पर पहुंचे और खिचड़ी खाए सभी छात्रों को इलाज के लिए मधेपुर पीएचसी पहुंचाया। जहां 13 छात्रों का इलाज चल रहा है और शेष सभी छात्रों को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया। इलाजरत छात्र भी खतरा से बाहर बताए गए हैं।

दोपहर 12:45 बजे मध्याह्न भोजन अवकाश हुआ और पांच दर्जन से अधिक छात्रों को खाना खिलाया गया। उसके बाद एक रसोईया की नजर खिचड़ी में मरी हुई छिपकली पर गई और यह जानकारी शिक्षकों को दी। शिक्षक ने खिचड़ी खा चुके छात्रों को एक कमरे में बंद कर दिया। स्कूल के दूसरे छात्र किसी तरह विद्यालय से भागकर घर गए और घटना की जानकारी अपने परिजनों को दी। उसके बाद एक एक कर अभिभावक स्कूल पर पहुंचने लगे और इसकी सूचना बीडीओ एवं थाना को दी।

बीईओ मरजीना खातून की सफाई : शिक्षक ने कमरे में बंद नहीं किया, अपनी देखरेख में हालात भांप रहे थे

मधेपुर पीएचसी में बैठे एमडीएम खाए बच्चे।

झंझारपुर एसडीओ ने बीईओ को दिया मामले की जांच का आदेश

पीएचसी पर पहुंचे झंझारपुर एसडीओ शैलेश कुमार चौधरी ने बताया कि मामले की जांच कर प्रतिवेदन की मांग प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी मरजीना खातून से की गई है। उन्होंने बताया कि जांचोपरांत दोषी कर्मियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। इधर बीईओ मरजीना खातून ने बताया कि खिचड़ी खाकर घबराए बच्चों को कमरे में कैद कर नहीं रखा गया था। शिक्षक उन्हें अपनी देखरेख में बैठाकर उनके हालात को भांप रहे थे।

मधेपुर पीएचसी पर अभिभावकों की भीड़।

हंगामा होता देख भाग खड़े हुए शिक्षक व रसोइया

विद्यालय को उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में उत्क्रमित कर दिया गया है। यहां पहली से दसवीं तक पढ़ाई होती है। स्कूल में 600 छात्र नामांकित हैं। एचएम के प्रभार में कामेश्वर झा हैं। शनिवार को वे स्कूल में नहीं थे तो पारितोष कुमार एचएम के प्रभार में थे। अधिकारियों के स्कूल पर पहुंचने के बाद सभी शिक्षक और रसोईया भाग खड़े हुए।

अन्य छात्र स्कूल से किसी तरह भागकर घर गए और परिजनों को दी पूरे मामले की सूचना

सामान्य होने पर सभी बच्चों को पीएचसी से भेज दिया गया घर

इधर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मधेपुर के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ.दिनेश चौधरी ने जांच के संबंध में डीपीओ मध्याह्न भोजन योजना इम्तियाज आलम को लिखा है। डाॅ.चौधरी ने चिकित्सीय जांच रिपोर्ट में कहा है कि मध्य विद्यालय प्रसाद में छात्रों के मध्याह्न भोजन खाने के बाद बच्चों में भ्रम की स्थिति में चिकित्सीय जांच के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मधेपुर लाया गया। जहां चिकित्सकों द्वारा 66 बच्चों का चिकित्सीय जांच की गई। मेडिकल जांच के बाद किसी भी बच्चे में विषाक्त भोजन से संबंधित लक्षण नहीं पाए गए। सभी बच्चों को सामान्य पाते हुए उनको घर भेज दिया गया। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने इसकी जानकारी बीडीओ मधेपुर, एसडीओ झंझारपुर व सिविल सर्जन को भी दे दी है।

Jhanjhapur News - there was a lizard in the mid day meal 66 children were sick no one was aware so hm locked the children in the room
X
Jhanjhapur News - there was a lizard in the mid day meal 66 children were sick no one was aware so hm locked the children in the room
Jhanjhapur News - there was a lizard in the mid day meal 66 children were sick no one was aware so hm locked the children in the room
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना