पश्चिमी कोसी नहर परियोजना को हरहाल में धरातल पर लाएंगे

Madhubani News - पश्चिमी कोसी नहर मिथिलांचल में दूसरी हरित क्रांति लेकर आयेगी। जल संसाधन विभाग के आला अधिकारियों के साथ बिहार...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:55 AM IST
Lakhnaur News - western kosi canal project to be brought to the ground in harhal
पश्चिमी कोसी नहर मिथिलांचल में दूसरी हरित क्रांति लेकर आयेगी। जल संसाधन विभाग के आला अधिकारियों के साथ बिहार सरकार के मंत्री ने समीक्षात्मक बैठक की। इस परियोजना के पूर्ण होने से 34811 हेक्टेयर भूमि की सिंचाई संभव हो सकेगी। 1962 ई0 में इस योजना का डीपीआर तैयार हुआ था पर 56 वर्षों में अब तक यह पूरी नहीं हो सकी।जल संसाधन विभाग के मंत्री बनने के बाद पहली बार झंझारपुर पहुंचे संजय झा आईबी में विभागीय अधिकारियों के साथ लंबी बैठक की। बैठक में विभाग के प्रधान सचिव स्तर के अधिकारी मौजूद थे। समीक्षा बैठक में मुख्य रूप से मिथिलांचल क्षेत्र में हरियाली लाने वाली इस पश्चिमी कोसी नहर परियोजना को हरहाल में धरातल पर लाने की बात की गई। मंत्री ने समीक्षा के बाद बताया कि इस योजना से दरभंगा तथा मधुबनी जिले के 34811 हेक्टेयर की भूमि सिंचित होगी। उन्होंने बताया कि इस योजना की शुरुआत 1962 में हुई, 60 वर्ष गुजरने के बाद भी अब तक यहां के प्रतिनिधि इस योजना को मूर्त रूप में नहीं ला सके। उन्होंने जानकारी दी कि 1972 में 13 करोड़ की लागत से शुरू की गई योजना आज 1900 करोड़ का हो गया है। पश्चिमी कोसी नहर का मेन कैनाल 91.6 किलोमीटर का है जिसमें नेपाल क्षेत्र में 35़.13 किलोमीटर एवं भारत में 56.59 किलोमीटर का निर्माण होना है। इसके अलावा कई अन्य शाखा इससे निकलेगी। योजना पूरी करने के लिए भूमि अधिग्रहण किया जाना था जिसमें राशि का अधिग्रहण कर लिया गया है। मंत्री श्री झा ने जनप्रतिनिधियों तथा मिथिलांचल वासियों से अपील किया कि वह हमें सहयोग दें और पश्चिमी कोसी नहर के वृहद योजना का लाभ उठा ले। किसानों के जमीन का वाजिब मुआवजा मुआवजा सरकार देगी। प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद उन्होंने कहा कि प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद मिथिलांचल में पलायन के बदले वापसी होगी।

X
Lakhnaur News - western kosi canal project to be brought to the ground in harhal
COMMENT