• Hindi News
  • Rajya
  • Bihar
  • Madhubani
  • Madhubani News who said so nihal satashri famine before celebrating the festival on guru nanak jayanti a procession was taken out of the gurudwara

जो बोले सो निहाल, सतश्री अकाल : गुरु नानक जयंती पर प्रकाशोत्सव मनाने से पूर्व गुरुद्वारे से जुलूस निकाला

Madhubani News - गुरू नानक साहिब जी का जन्मदिन प्रतिवर्ष कार्तिक पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस दिवस को प्रकाशोत्सव के रूप में...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 08:20 AM IST
Madhubani News - who said so nihal satashri famine before celebrating the festival on guru nanak jayanti a procession was taken out of the gurudwara
गुरू नानक साहिब जी का जन्मदिन प्रतिवर्ष कार्तिक पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस दिवस को प्रकाशोत्सव के रूप में मनाया जाता है। शहर के गुरुद्वारा के ग्रंथि मंजीत सिंह ने बताया की प्रकाशोत्सव 12 नवम्बर को है। ग्रंथि ने गुरू की महिमा बताते हुए कहा कि नानक देव जी एक महान क्रान्तिकारी, समाज सुधारक और राष्ट्रवादी गुरू थे। गुरू नानक देव जी सिख धर्म के संस्थापक का जन्म कार्तिक पूर्णिमा को वर्ष 1469 को राय-भोए-दी तलवण्डी वर्तमान में शेखुपुरा पाकिस्तान ननकाना साहिब स्थान पर हुआ था। गुरु नानक ने सिख धर्म के विभिन्न उपदेश केन्द्रों की स्थापना की। गुरू नानक साहब जी करतारपुर शहर पाकिस्तान जो कि उनके द्वारा 1522 में बसाया गया था, में बस गये एवं अपना शेष जीवन वहीं पर बिताया। गृहस्थ जीवन में रहते हुए अपना आध्यात्मिक व सामाजिक जीवन को जीने की कला समझायी। उनके द्वारा स्थापित सिख जीवन दर्शन का आधार मानवता की सेवा, कीर्तन, सत्संग एवं एक सर्वशक्तिमान ईश्वर के प्रति विश्वास है। इस प्रकार उन्होंने सीख धर्म की आधारशिला रखी।

प्रकाश पर्व पर सिख श्रद्धालुओ ने जुलूस निकाला।

जुलूस में बच्चे, महिलाएं सहित सैकड़ों शामिल थे

उन्होंने जाति प्रथा एवं मुस्लिम शासकों की नीतियों का विरोध किया। गुरुनानक देव जी की बाणी श्री गुरूग्रन्थ साहिब में अंकित है। गुरुद्वारा से निकाले गए जुलूस में पचास से अधिक महिलाए,बच्चे,बुजुर्ग शामिल थे। जुलूस का नेतृत्व हरभजन सिंह,रणवीर सिंह,निर्मल सिंह कर रहे थे। पूरा शहर बोले जो बोले सो निहाल सत्य श्रीअकाल के जयघोष से गूंज रहा था।

X
Madhubani News - who said so nihal satashri famine before celebrating the festival on guru nanak jayanti a procession was taken out of the gurudwara
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना