• Hindi News
  • Bihar
  • Motihari
  • Sikrhna News 30 percent people of the country are fighting landless unemployment youth and economic system is getting weak tariq anwar

देश के 30 प्रतिशत लोग भूमिहीन, बेरोजगारी से लड़ रहे हैं युवा और आर्थिक व्यवस्था कमजोर हो रही : तारिक अनवर

Motihari News - प्रखंड क्षेत्र के विशुनपुर मटियरिया गांव में पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री तारिक अनवर ने राष्ट्र निर्माण और समाज...

Feb 15, 2020, 09:51 AM IST
Sikrhna News - 30 percent people of the country are fighting landless unemployment youth and economic system is getting weak tariq anwar

प्रखंड क्षेत्र के विशुनपुर मटियरिया गांव में पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री तारिक अनवर ने राष्ट्र निर्माण और समाज के उत्थान के लिए शुक्रवार को आयोजित जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि सीएए व एनसीआर को देश के विकास के लिए बाधक है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार आज भी देश के 30 प्रतिशत लोग भूमिहीन हैं। युवा, बेरोजगारी से लड़ रहे हैं और अर्थव्यवस्था कमजोर पड़ रही है।

पूर्व मंत्री ने कहा कि जब मोदीजी प्रधानमंत्री बने तो लगा कि देश में परिवर्तन होगा। लेकिन स्थिति यह है कि आज देश की अर्थ व्यवस्था चरमराने लगी है। पड़ोसी देश से भी हमारा विकास दर नीचा है। मोदी सरकार भी अंग्रेजों की नीति पर कार्य कर रही हैं। आज समाज में एेसे मुद्दों को जान बुझकर ला रही जिससे समाज के लोग लड़े और समाज टूटे। इससे शासन का सुख हमेशा किया जा सकें। क्योंकि विकास के नाम पर यह सरकार अधिक दिनो तक शासन नहीं कर सकती। यह सरकार उलटा इतिहास बताकर कांग्रेस को नीचा दिखा रही हैं।

वही सर्वेश तिवारी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमारा यह भारत विभिन्नता में एकता का देश हैं। इसलिए हमारे देश के लोग न हिंदू बनेंगे और न मुसलमान बनेंगे इंसान के बच्चें हैं इंसान बनेंगे और राष्ट्र की सेवा करेंगे। जनसभा में मौजूद नेता तथा जन समुदाय पुलवामा हमला के प्रथम वर्षी पर एक मिनट का मौन धारण कर जवानों को श्रद्धांजलि दी। जनसभा का संचालन विजय कांत मणि त्रिपाठी और अध्यक्षता शैलेंद्र कुमार शुक्ला ने किया। मौके पर श्याम सुंदर सिंह धीरज, मदन मोहन तिवारी(विधायक), मधुरेंद्र प्रसाद सिंह, आनंद कुमार तिवारी, ओमनारायण सिंह, शंभू चौबे, श्रीकांत मिश्रा, शशिभूषण राय, मो हातीम, विजय कुशवाहा, जमुना पंड़ित, अशोक तिवारी, रामपूजन गुप्ता, वीरेंद्र पटेल, कासिम खा, नेयाज अहमद खा आदि सैकड़ों ग्रामीण मौजूद थे।

‘देशवासियों के बीच भेदभाव पैदा करने के साथ संविधान की आत्मा को घायल करता है सीएए’

मोतिहारी| जमाते इस्लामी बिहार प्रदेश के अमीर मौलाना रिजवान अहमद इस्लाही ने शुक्रवार को उर्दू लाइब्रेरी में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में देश के ज्वलंत सीएए व एनआरसी पर विस्तार से अपनी बातें रखीं। उन्होंने अपने वक्तव्य में कहा कि सीएए देशवासियों के बीच भेदभाव पैदा करता है। यह संविधान की आत्मा को घायल करता है। हमारा संविधान देश के सभी वासियों को बराबर का दर्जा देता है। हम इसे मौलिक अधिकारों का उल्लंघन मानते हैं। उन्होंने कहा कि इस देश में सभी धर्मों के लोग आपस में सौहार्द के साथ रहते आ रहे हैं। कोई भी ऐसा कानून जो भेदभावपूर्ण है वह देश के हित में नहीं है। हम सरकार से मांग करते हैं कि इस कानून को समाप्त किया जाए। जहां तक एनआरसी का सवाल है वह सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर केवल असम के लिए किया गया था। इसे पूरे देश में लागू करने की घोषणा दुर्भाग्यपूर्ण है। हालांकि इसे फिलहाल लागू नहीं करने का आश्वासन गृह राज्य मंत्री ने संसद में दिया है। इसके बावजूद संशय कायम है। केंद्रीय गृह मंत्री से यह अनुरोध है कि अपने स्तर से संसद में इसको नहीं लागू करने की घोषणा करें। बिहार सरकार भी पंजाब ,राजस्थान और केरल की तरह एनपीआर को खारिज करे। मौके पर पूर्वी चंपारण के जिला अमीर अब्दुर्रशीद बर्क, तिरहुत प्रमंडल मुजफ्फरपुर के अमीर मौलाना नुरुल्लाह खान, बिहार यूथ ऑर्गेनाइजेशन के पूर्व प्रदेश महासचिव तौकीर अख्तर सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

सीएए के विरोध में 13वें दिन भी धरना जारी

सिकरहना| सीएए, एनआरसी व एनपीआर के विरोध में संविधान बचाओ संघर्ष मोर्चा के तत्वावधान में शक्ति शंकर पेट्रोल पंप परिसर में जारी अनिश्चितकालीन धरना में 13वें दिन भी लोगों की अच्छी खासी भीड़ रही। कार्यक्रम की शुरूआत राष्ट्रगान से हुई। उसके बाद पुलवामा में शहीद हुए सैनिकों के प्रति दो मिनट का मौन रखा गया। फिर संविधान की प्रस्तावना पढ़ी गई और लोगों में जोश भरने वाले क्रांतिकारी नारे भी लगाए गए। धरना को संबोधित करते इमारत-ए-सरिया के बिहार झारखंड प्रभारी सचिव मौलाना शिबली कासमी ने कहा कि सीएए के माध्यम से लोगों की नागरिकता छीन कर उन्हें शरणार्थी बनाने की साजिश चल रही है। हमारे देश में 30 करोड़ लोग बेघर हैं, वे अपना कागजात कहां से लाएंगे। सड़क पर बैठी देश की करोड़ों महिलाओं का ख्याल देश की सरकार को नहीं है। हमारी लड़ाई किसी जात, धर्म या पार्टी से नहीं वरन समाज के बांटने वाली विचारधारा से है। बैठक को बहुजन मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी एल मातंग, मौलाना जावेद कासमी, फौजिया रहमानी, शोहदा खातून, नाहिदा प्रवीण, गुफराना खातून सहित अन्य लोगों ने संबोधित किया।

नागरिकता संशोधन कानून और एनसीआर को देश के विकास के लिए पूर्व मंत्री ने बाधक बताया

विशुनपुर मटियरिया गांव में सभा को संबोधित करते पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री तारिक अनवर। ढाका में संविधान बचाओ संघर्ष मोर्चा के तत्वावधान में धरना में शामिल लोग।

Sikrhna News - 30 percent people of the country are fighting landless unemployment youth and economic system is getting weak tariq anwar
X
Sikrhna News - 30 percent people of the country are fighting landless unemployment youth and economic system is getting weak tariq anwar
Sikrhna News - 30 percent people of the country are fighting landless unemployment youth and economic system is getting weak tariq anwar
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना