पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Motihari News A Detailed Review Of Preparations For The Rescue Of Potential Floods In 2020

2020 में संभावित बाढ़ को लेकर बचाव के लिए हो रही तैयारियों की विस्तार से की समीक्षा

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कलेक्ट्रेट स्थित राधाकृष्णन भवन में बरसात में जिले में आने वाली बाढ़ को लेकर पूर्व तैयारी की समीक्षा की गई। डीएम की अध्यक्षता में शनिवार को आयोजित बैठक में जिला के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में बाढ़ पूर्व होने वाले तथा हुए कार्यों का बिंदुवार समीक्षा हुई। आपदा प्रबंधन के मानक संचालन प्रक्रिया के अनुरूप संभावित बाढ़ की तैयारियों की समीक्षा के दौरान अधिकारियों व कर्मियों को कई दिशा-निर्देश दिए गए। इस दौरान सीओ को संसाधन मानचित्रण, बाढ़ सहायक कार्य के लिए प्रभावकारी सूचना प्रणाली विकसित करने, बाढ़ की स्थिति में बाढ़ से प्रभावित होने वाले व्यक्तियों के आश्रय स्थल चिह्नित करने, बाढ़ की स्थिति में सहायता कार्य के लिए आवश्यकतानुसार स्वयंसेवी संस्था, एनसीसी व अन्य सामाजिक संगठन को चिह्नित करने, अंचल में उपलब्ध सरकारी नाव, लाइफ जैकेट व अन्य संसाधनों के भौतिक सत्यापन का निर्देश दिया गया है। ग्रामीण कार्य विभाग के सभी कार्यपालक अभियंता को संभावित बाढ़ 2020 से पूर्व सड़कों की समुचित देखरेख, तटबंधों की स्थिति की समीक्षा, सतत पर्यवेक्षण व आवश्यतानुसार मरम्मति कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है। सभी एसडीओ व सीओ को तटबंधों के निरीक्षण का निर्देश दिया गया हा ताकि बाढ़ के समय परेशानी नहीं झेलनी पड़े। साथ ही ससमय तैयारी की प्रक्रिया पूरी की जा सके।

इधर, जिला कृषक सलाहकार समिति में नए सदस्यों के चयन के लिए किया विमर्श, योजनाओं का क्रियान्वयन सही तरीके से करने को कहा

मोतिहारी | कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंध अभिकरण द्वारा संचालित योजनाओं व अन्य मुद्दों पर विचार-विमर्श के लिए शनिवार को कलेक्ट्रेट में बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने की। बैठक में आत्मा योजना में कैफेटेरिया अनुसार वित्तीय वर्ष 2019-20 में कराए जा रहे कार्यों की समीक्षा की गई। इस दौरान आत्माशासी परिषद की बैठक भी आयोजित की गई जहां जिला कृषक सलाहकार समिति में नए सदस्यों के चयन के लिए विचार-विमर्श किया गया तथा योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए दिशा-निर्देश दिया गया। मौके पर वित्तीय वर्ष 2019-20 के स्टेट एक्सटेंशन वर्क प्लान के अनुसार जिला को आवंटित राशि के अनुरूप लक्ष्य की समीक्षा की गई। बैठक में जिला कृषि पदाधिकारी ओंकारनाथ सिंह, परियोजना निदेशक आत्मा सहित अन्य संबंधित उपस्थित थे।

तैयारी नहीं होने पर बाढ़ के समय होती है परेशानी

डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने कहा कि एकाएक बाढ़ के समय तैयारी करने में परेशानी होती है तथा बाढ़ की समुचित तैयारी भी नहीं हो पाती है। इसलिए आवश्यकता है बाढ़ की तैयारी की समीक्षा पहले कर सभी संसाधनों की पूर्ति कर ली जाए जिससे बाढ़ के समय अतिरिक्त बोझ नहीं पड़े। वहीं जनमानस को होनेवाली क्षति से बचाया जा सकें। बाढ़ पूर्व तैयारी की समीक्षा के बाद राष्ट्रीय पोषण अभियान के तहत जिला अभिसरण समिति की बैठक सह जिला पोषण सेमिनार का आयोजन किया गया। बैठक में राष्ट्रीय पोषण अभियान के सुचारू क्रियान्वयन में स्वास्थ्य, आईसीडीएस, पंचायती राज सहित अन्य संबंधित विभागों की भूमिका पर विचार-विमर्श किया गया। बैठक में 08 मार्च 2020 से 22 मार्च 2020 तक आयोजित होने वाले पोषण पखवाड़ा के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई। बैठक में एडीएम शशि शेखर चौधरी, अपर समाहर्ता आपदा प्रबंधन अनिल कुमार, सभी एसडीओ, बीडीओ, सीओ, तकनीकी विभागों से संबंधित कार्यपालक अभियंता आदि उपस्थित थे।

राधा कृष्णन भवन में बैठक करते डीएम और मौजूद अन्य अधिकारी।

ग्रामीण कार्य विभाग को सड़कों की देखरेख करने और तटबंधों पर नजर रखने को कहा गया
खबरें और भी हैं...