• Hindi News
  • Bihar
  • Motihari
  • Motihari News after saraswati puja the go raksha chariot will roam from village to village and gather unusable cow mata and calves

सरस्वती पूजा बाद गो रक्षा रथ गांव-गांव घूमकर अनुपयोगी गो माता और बछड़ों को इकट्ठा करेगा

Motihari News - गौ रक्षा रथ गांव-गांव घूमकर अनुपयोगी गो माता व बछड़ों को इकट्ठा करेगा। अनुपयोगी गायों को तुरकौलिया स्थित भलुआ...

Jan 16, 2020, 08:20 AM IST
Motihari News - after saraswati puja the go raksha chariot will roam from village to village and gather unusable cow mata and calves
गौ रक्षा रथ गांव-गांव घूमकर अनुपयोगी गो माता व बछड़ों को इकट्ठा करेगा। अनुपयोगी गायों को तुरकौलिया स्थित भलुआ रघुनाथपुर गोपाल गोशाला में सुरक्षित रखा जाएगा व गौ माता की समुचित सेवा की जाएगी। सरस्वती पूजा के बाद इस अभियान की शुरुआत की जाएगी व प्रत्येक गांव में गौ रक्षा रथ घूमकर अनुपयोगी गायों को एकत्रित किया जाएगा।

अनुपयोगी गायों की हत्या को मद्देनजर रखते हुए गोपाल गोशाला के संयोजक गोपालजी मिश्रा ने यह निर्णय लिया है। विदित हो कि गोपाल गौशाला का संचालन निजी हाथों से किया जाता है तथा सरकारी स्तर से कोई अनुदान नहीं लिया जाता है। बावजूद आज की तारीख में गोपाल गोशाला के पास एक गाय से बढ़कर गायों की संख्या 188 पहुंच गई है।

पहल
गोशाला के लिए कई लोग करते हैं भूसा दान

गौशाला में कई बड़े-बड़े दान करता भी हैं, जो निशुल्क भूसा एवं समय-समय पर दाना- पानी की व्यवस्था भी करते रहते हैं। इसमें छौडादानो प्रखंड के कुदरकट गांव के अजय यादव, चिरैया प्रखंड के महुआवा गांव के मोहम्मद नसीम अख्तर, बनकटवा प्रखंड के बलुआ धेनुकी गांव के मुनि शंकर सिंह बनकटवा के प्रेमशंकर जाधव व भलुआ तुरकौलिया के समी सिंह आदि शामिल हैं।

गायों को गोपाल गोशाला में सुरक्षित रख कर की जाएगी उसकी सेवा

सरस्वती पूजा के बाद गोपाल गो रक्षा रथ पूरे जिले के लिए प्रस्थान करेगी, जो गांव-गांव घूमकर अनुपयोगी गौ माता एवं बछड़ों को संग्रहित कर गोपाल गोशाला में सुरक्षित रखेगा और उनकी सेवा करेगी। विद्वानों की मानें तो गो माता को कसाई के हाथों बेचने पर वंश का नाश होता है तथा उस परिवार पर हमेशा विपत्ति बनी रहती है। इसलिए गो माता को कदापि नहीं बेचे तथा उसे किसी गोशाला में दान कर दें।

गोशाला को अभी तक दान में मिल चुकी है 20 गायें

कोल्हुअरवा निवासी प्रकाश कुमार मिश्रा ने मकर संक्रांति के दिन अपने स्वर्गीय पिता जटाधारी मिश्रा की स्मृति में गाय के एक बछड़े को दान स्वरूप गोपाल गोशाला को समर्पित किया। इसे गोशाला के संयोजक ने सहर्ष स्वीकार किया। इस प्रकार अभी तक लगभग 30 गाय दान के रूप में मिल चुकी हैं।

X
Motihari News - after saraswati puja the go raksha chariot will roam from village to village and gather unusable cow mata and calves
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना