• Hindi News
  • Bihar
  • Motihari
  • Raxaul - along with administration all the people including vratis businessmen are preparing for chhath
--Advertisement--

प्रशासन के साथ-साथ व्रती, कारोबारी समेत सभी लोग छठ की तैयारी में लगे

लोक आस्था के महापर्व छठ की तैयारी में लोग जोर-शोर से जुट गए हैं। सूर्योपासना का चार दिवसीय महापर्व रविवार को...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 04:35 AM IST
Raxaul - along with administration all the people including vratis businessmen are preparing for chhath
लोक आस्था के महापर्व छठ की तैयारी में लोग जोर-शोर से जुट गए हैं। सूर्योपासना का चार दिवसीय महापर्व रविवार को नहाय-खाय के साथ प्रारंभ होगा। 11 नवम्बर रविवार को नहाय खाय, खरना 12 नवंबर सोमवार को और व्रत के तीसरे रोज अस्ताचलगामी सूर्य को 13 नवंबर मंगलवार को व्रती अर्घ्य देंगे। बुधवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही यह पर्व समाप्त हो जाएगा। इसके लिए प्रशासन के साथ-साथ व्रती, कारोबारी समेत सारे लोग लगे हुए हैं। प्रशासन छठ पर्व को लेकर सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त करने में लगा हुआ है। वहीं मजदूर और कारीगर अधिक से अधिक सूप और दऊरा बनाने में लगे हुए हैं। शहर के अहिरवा टोला वार्ड न. 7 रेलवे लाइन के पास व नेपाली स्टेशन समेत कई जगहों पर सूप व दऊरा बनाने में दिन-रात लोग जुटे हुए हैं।

नहाय-खाय पर होगी जमकर कद्दू की खरीदारी

सूर्योपासना का चार दिवसीय महापर्व छठ रविवार को नहाय-खाय के साथ प्रारंभ होगा। पहले दिन नहाय-खाय यानी कद्दू-भात का प्रचलन प्रत्येक छठ व्रती द्वारा किया जाता है। इस दिन अरबा चावल व चने की दाल के साथ कद्दू की सब्जी बना कर खाने का प्रचलन है। नहाय-खाय को लेकर शनिवार से ही कद्दू खरीदने का सिलसिला जारी हो गया। ऐसे तो शनिवार को दैनिक बाजार में कद्दू 40 से 60 रुपये प्रति पीस की दर से बिकना शुरू हो गया। अधिकतर सब्जी व्यापारी व कुछ छठव्रतियों को गुरुवार व शुक्रवार से ही कद्दू का स्टॉक करते पाया गया।

छठ व्रतियों ने शुरू की सूप व दऊरा की खरीदारी

शहरी इलाकों समेत ग्रामीण इलाकों के विभिन्न बाजारों में छठ पर्व के लिए भारी संख्या में लोग बांस के बने सूप, टोकरी, पंखे आदि की खरीदारी करते पाये गए। बाजारों में बांस के बने सूप 100 से लेकर 200 रुपये तक के मूल्य पर बिक रहे हैं। वहीं बांस की बनी टोकरी भी छोटे से बड़े आकार तक बाजारों में 200 से 300 रुपये तक के मूल्य पर उपलब्ध है। हालांकि बढ़ती महंगाई का असर बांस से बनायी गई सामग्री पर भी देखने को मिल रहा है बावजूद इसके महंगाई पर आस्था भारी पड़ता दिख रहा है।

छठ के पहले दिन नहाय-खाय को कद्दू-भात खाने का है प्रचलन

छठव्रतियों को बांटा गया छठ साम्रगी

रक्सौल | शनिवार को नगरपरिषद के वार्ड सं.18 में वार्ड पार्षद खुशबू दयाल एवं पार्षद पति सह बिहार युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव प्रो. अखिलेश दयाल के नेतृत्व में 200 छठव्रतियों को छठ साम्रगी का वितरण किया गया। प्रदेश महासचिव प्रो. अखिलेश दयाल और वार्ड पार्षद खुशबू दयाल ने आस्था के महापर्व छठ की शुभकामना सभी क्षेत्रवासियों को दी। इस अवसर पर प्रदेश महासचिव ने कहा कि पूरे भारत के बिहार और उतरप्रदेश राज्य में बड़े धूम-धाम से यह पर्व मनाया जाता है। उक्त अवसर पर उपेंद्र साह, कृष्णा प्रसाद, भूलन राउत, रोहन कुमार, शिवनाथ प्रसाद, उषा देवी, मोतिया देवी आदि उपस्थित थे।

X
Raxaul - along with administration all the people including vratis businessmen are preparing for chhath
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..