गर्मी के दिनों में पशु पक्षियों के लिए भी करें पानी की व्यवस्था

Motihari News - गर्मी में पानी को अमृत के समान माना जाता है। मनुष्य को प्यास लगती है तो वह कहीं भी मांग कर पी लेता है। लेकिन मूक पशु...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 09:11 AM IST
Raxaul News - do water for animal birds in the summer
गर्मी में पानी को अमृत के समान माना जाता है। मनुष्य को प्यास लगती है तो वह कहीं भी मांग कर पी लेता है। लेकिन मूक पशु पक्षियों को प्यास में तड़पना पड़ता है। हालांकि जब वे प्यासे होते हैं तो घरों के सामने दरवाजे पर आकर खड़े हो जाते हैं। कुछ लोग पानी पिला देते हैं तो कुछ लोग भगा भी देते है। इस गर्मी में पशु पक्षियों की प्यास बुझाने के लिए लोगों को प्रयास करना चाहिए।

गर्मियों में कई परिंदों व पशुओं की मौत पानी की कमी के कारण हो जाती है। लोगों का थोड़ा सा प्रयास घरों के आस- पास उड़ने वाले परिंदों की प्यास बुझाकर उनकी जिंदगी बचा सकता है। सुबह आंखें खुलने के साथ ही घरों के आस-पास गाय, गौरेया, मैना व अन्य पक्षियों की चहक सभी के मन को मोह लेती है। घरों के बाहर फुदकती गौरेया बच्चों सहित बड़ों को भी अपनी ओर आकर्षित करती है। गर्मियों में घरों के आसपास इनकी चहचहाहट बनी रहे। इसके लिए जरूरी है कि लोग पक्षियों से प्रेम करें और उनका विशेष ख्याल रखें।

रक्सौल अनुमंडल में गर्मी बढऩे लगी है। यहां का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस पार हो गया है। आने वाले सप्ताह और जेठ में और अधिक गर्मी पडऩे की संभावना है। मनुष्य तो पानी का संग्रहण कर रख लेता है, लेकिन परिंदे व पशुओं को तपती गर्मी में यहां-वहां पानी के लिए भटकना पड़ता है। रक्सौल नगरपरिषद के 25 वार्डों के तमाम गल्ली मुहल्लों में गाय इधर-उधर भटकते नजर आते रहते हैं। स्वच्छ संस्था के रंजीत सिंह का कहना है कि शहर में गायों को पेट की आग को शांत करने वास्ते चारा तो जैसे-तैसे नसीब हो जाता है। परन्तु गर्मी में पशु को पानी नहीं नसीब हो पाता है।

रक्सौल में लगे नलके पर अपना प्यास बुझाते पशु।

भ्रमण शील पशु चिकित्सक पदाधिकारी डॉ. अवधेश कुमार ने बताया कि साल्ट और एनर्जी पक्षियों की किडनी के फंक्शन के लिए जरूरी है। इसकी पूर्ति खनिज-लवण युक्त पानी से हो सकती है। गर्मी में अपने घरों के बाहर, छतों पर पानी के बर्तन रखें और हो सके तो छतों पर पक्षियों के लिए छाया की व्यवस्था भी करें। पक्षियों के शरीर में इलेक्ट्रोलाइट की मात्रा संतुलित रहे, इसके लिए पानी मे गुड़ की थोड़ी मात्रा मिलानी चाहिए। इससे गर्मी में तापमान से राहत मिलती है और शरीर में पानी की कमी नहीं होती। वहीं मवेशियों के लिए भी कोटना अपने घरों के सामने रखना चाहिए जो वेस्ट वाटर घर से बाहर फेंका जाता है, वह कोटना में डाल दें तो मवेशियों को भी पानी मिल सकता है।

कहते हैं पशु चिकित्सक

X
Raxaul News - do water for animal birds in the summer
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना