भूमि उपलब्ध हाेने के बाद भी यत्र-तत्र फेंके जा रहे कचरे

Motihari News - स्वच्छ भारत-स्वस्थ भारत अभियान के तहत साफ-सफाई का दौर चल रहा है। साफ-सफाई को लेकर लोग भी जागरूक हुए हैं। नतीजा है कि...

Nov 11, 2019, 09:56 AM IST
स्वच्छ भारत-स्वस्थ भारत अभियान के तहत साफ-सफाई का दौर चल रहा है। साफ-सफाई को लेकर लोग भी जागरूक हुए हैं। नतीजा है कि घर के व घर के आसपास के कूड़े-कचरे का निपटारा लोग व्यवस्थित ढंग से करने लगे हैं। नगर परिषद क्षेत्र में आउट सोर्सिंग के माध्यम से चल रहा साफ-सफाई का फलाफल सड़कों पर दिख रहा।

आउटसोर्सिंग वाले कभी भी शहर में कूड़ा-कचरा उठाते व शहर की सड़कों पर झाडू मारते आपको दिख जाएंगे। प्रतिदिन कचरा यहां पर गिरा कर फिर यहां से उठा कर दूसरे जगह गिराया जाता है। लेकिन जब तक यह कचरा यहां रहता है तब तक यहां से गुजरने वाले व यहां के स्थानीय लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। यहां से गुजरने वाले लोग व स्थानीय लोग इस कूड़े-कचरे के ढ़ेर से प्रतिदिन रूबरू होते हैं।

नाक पर रुमाल रख कर लोगों को इस रास्ते से गुजरने कि विवशता है। साफ-सफाई अभियान के बीच शहर का कूड़ा-कचरा शहर में ही गिराया जाना कहीं से उचित नहीं है। इस बाबत नगर परिषद के पुराना कार्यालय भवन के पास वाले मोटरसाइकिल स्पेयर के दुकानदार सुनील कुमार का कहना है कि प्रतिदिन कूड़ा कचरा के डंपिंग स्टॉल बन जाने के कारण उसके बदबू से हम और हमारे दुकान पर आने वाले ग्राहक लोग भी परेशान रहते है। 60 प्रतिशत सड़क कूड़ा से ही भरा रहता है जिस कारण उक्त स्थल से कूड़ा उठाने के समय जाम लगना स्वाभाविक है।

मशीन से कूड़ा उठाने के समय घटना होने की संभावना बनी रहती है। कंप्यूटर के दुकानदार प्रशांत कुमार का कहना है कि जब से कूड़े का स्टॉक यहां होना शुरू हुआ है तब से यहां मच्छर का प्रकोप बढ़ गया है। कूड़े की महक से ग्राहक भी ज्यादा देर तक नहीं रह पाते हैं। स्थानीय निवासी मनोज कुमार का कहना है कि कूड़ा कचरा प्रतिदिन गिरा कर यहां से 3-4 घंटे बाद पुनः कचरा को उठा लिया जाता है। यहीं कार्य अगर रात्रि को किया जाए तो किसी को परेशानी नहीं होगी।

रक्सौल एनएच किनारे कूड़ा-कचरा का लगा ढेर।

एसडीओ ने कार्यपालक अभियंता को लिखा पत्र

उधर इस मामले को गंभीरता से लेते हुए अनुमंडल पदाधिकारी अमित कुमार ने शनिवार को नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी गौतम आनंद को पत्र लिखकर शहर में यत्र-तत्र कूड़ा-कचरा नहीं डालकर वैध स्थान पर ही डालने का निर्देश दिया है। पत्र में उल्लेख किया गया है कि आपको कूड़ा कचरा भण्डारण व डंपिंग के लिए भूमि उपलब्ध कराया गया है। बावजूद इसके यह देखा जा रहा है कि राष्‍ट्रीय राजमार्ग, सरिसवा नदी और नोनियाडीह स्थित नहर में कूड़ा कचरा गिराया जा रहा है। इसके लिए जिम्मेदार सफाई निरीक्षक को चिह्नित कर कार्यवाई करने का निर्देश दिया गया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना