--Advertisement--

आशा की हड़ताल से आठवें दिन भी ठप रही स्वास्थ्य सेवा, मरीज लौटे

Motihari News - शनिवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रांगण में बारह सूत्री मांगों को लेकर आशा कार्यकर्ता व आशा फैसिलेटरों का...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:56 AM IST
Raxaul News - health service patients returning for eight days due to asha39s strike
शनिवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रांगण में बारह सूत्री मांगों को लेकर आशा कार्यकर्ता व आशा फैसिलेटरों का आठवें दिन भी अनिश्चितकालीन हड़ताल संघ के अध्यक्ष मीना देवी के नेतृत्व में जारी रहा। इस हड़ताल से स्वास्थ्य सेवा बाधित रहा। इससे जनजीवन पर प्रतिकूल प्रभाव पद रहा है । इस हड़ताल से अनभिज्ञ सुदूर ग्रामीण क्षेत्र से उपचार कराने आनेवाले रोगी या तो बिना उपचार कराए ही वापस लौट रहे हैं या फिर प्राइवेट नर्सिंग होम में उपचार कराने को विवश हैं। आशा कार्यकर्ताओं के द्वारा अपनी मांग को लकर पीएचसी में विरोध प्रदर्शन किया गया। आशा कार्यकर्ताओं का कहना है कि जब हम अपने कर्तव्यों का निर्वहन पूरी निष्ठा के साथ करते आरहे हैं तो फिर सरकार हमारी मांग को पूरा करने में आनाकानी क्यों कर रही है। हमारे परिश्रम का ही प्रतिफल है कि राज्य में संस्थागत प्रसव, मातृ-शिशु मृत्यु दर में उलेखनीय उपलब्धियां हासिल हुई है । पोलियो उन्मूलन में रिकार्ड स्थापित हुआ है और ग्रामीण जन-स्वास्थ्य की स्थिति एवं स्वास्थ्य के प्रति जन-जागरूकता में वृद्धि दर्ज हुई है। मौके पर संघ के सचिव गायत्री देवी,निर्मला देवी , माला देवी, सुनैना देवी, सुदामा देवी, चंदा देवी, रेणु देवी, उमरावती देवी, सोनी देवी, किरण देवी, मामता देवी, रीता देवी, चिंता देवी, प्रमिला देवी, सगीरा खातुन, निलम देवी, रामावती देवीखसकीना खातून ,मनपरी देवी आदि सभी पंचायत के आशा कार्यकर्ता उपस्थित रही ।

गांवों से आने वाले मरीज लौटे बैरंग, कई निजी अस्पतालों की ले रहे शरण

अपनी मांगों को लेकर पीएचसी के बाहर प्रदर्शन करतीं आशा कार्यकर्ता।

स्वास्थ्य केंद्र के समक्ष किया प्रदर्शन

कल्याणपुर | स्वास्थ्य केंद्र कल्याणपुर एवं जन स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के अह्वान पर प्रंखड के सभी आशा कर्मियों का अनिश्चितकालीन हड़ताल आठवें दिन जारी रहा। आशा कार्यकर्ताओं ने स्वास्थ्य केंद्र के समक्ष प्रदर्शन किया। मौके पर पुनम कुमारी, कलावती देवी, लक्ष्मिणा देवी, उषा देवी, बबीता देवी, किरण देवी, शंकुन्तला देवी, जीवन यादव, ललिता देवी सहित सैकड़ों आशा कार्यकता उपस्थित थे।

सेविकाओं का आंदोलन जारी

मोतिहारी | विभिन्न मांगों के समर्थन में पिछले चार दिनों से चल रहा सेविका-सहायिका का आंदोलन पीपराकोठी में शनिवार को भी जारी रहा। क्षेत्र की सभी सेविकाओं ने राज्य नेतृत्व के आह्वान पर पिछले पांच दिसंबर से आंगनबाड़ी केंद्र को बंद कर दिया है। सभी सेविका-सहायिका केंद्र को बंद कर पीपराकोठी सीडीपीओ कार्यालय पर धरना प्रदर्शन की। जिसकी अध्यक्षता प्रखंड अध्यक्ष कुमारी काजल ने किया। मौके पर सचिव मेनका कुमारी, सेविका नीतू सिंह, रेणु सिंह, विद्यान्ति पांडेय, किरण जायसवाल, पूनम देवी, नंदना देवी, अभिलाषा कुमारी, राखी कुमारी मुंसी, मुन्नी देवी, सुमित्रा देवी, गीता देवी, मालती देवी व गुड़िया देवी सहित कई सेविका के नाम शामिल है।

आशा ने अस्पताल का मुख्य गेट बंद कर दिया धरना व किया प्रदर्शन : घोड़ासहन | सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के मुख्य द्वार को आशा कार्यकर्ताओं ने बंद कर धरना-प्रदर्शन किया एवं सरकार के विरुद्ध नारेबाजी की। हड़ताल से इमरजेंसी सेवा छोड़ सभी कार्य ठप रहा। धरना पर बैठी आशा नीलम देवी, सत्यवती देवी,मनोरमा देवी, दुर्गा देवी ने बताया कि हम लोग 24 घंटे काम करते हैं फिर भी हमें महज कुछ पैसे मिलता। जबतक सरकार मांग पूरी नहीं करती, आंदोलन जारी रहेगा। धरना प्रदर्शन में चिंता देवी, गुड्डी देवी, शां‍ति आदि थीं।

सुगौली में सरकार के विरोधी नारे लगाए

सुगौली | पीएचसी पहुंची आक्रोशित आशा कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर सरकार विरोधी नारे लगाए। साथ ही पीएचसी के मेन गेट में ताला लगा कर पूरी तरह से चिकित्सकीय कार्य बाधित कर दिया। मौके पर रीना कुमारी, निक्की कुमारी आशा फैसिलेटर, चमेली देवी, रूबी कुमारी, रागनी सिन्हा, रंभा देवी, सुनीता देवी, गुलावती देवी, जायदा खातून, शुशीला देवी सहित अन्य आशा कर्मी शामिल थी।

X
Raxaul News - health service patients returning for eight days due to asha39s strike
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..