आईटी सहायकों के फर्जी प्रमाणपत्रों की जांच नहीं करा रहे पंचायती राज के अफसर

Motihari News - जिला पंचायती राज विभाग में लेखापाल सह आईटी सहायक के 74 पदों पर दो चरणों में बहाली की गयी है। इसमें अभ्यर्थियों...

Jan 16, 2020, 08:20 AM IST
Motihari News - panchayati raj officials are not checking fake certificates of it assistants
जिला पंचायती राज विभाग में लेखापाल सह आईटी सहायक के 74 पदों पर दो चरणों में बहाली की गयी है। इसमें अभ्यर्थियों द्वारा अमान्य संस्था के प्रमाणपत्र का खूब इस्तेमाल किया गया है। शिकायत सामने आने पर विभाग जांच कराने की बात कह रहा है। बहाली स्नातक के प्रमाणपत्र पर हुई है। कई अभ्यर्थियों द्वारा नौकरी के लिए सौंपा गया इंटरमीडिएट का प्रमाण अमान्य संस्था से निर्गत है। इधर, विभाग प्रमाणपत्रों की जांच कराने की बात कहकर उनसे कार्य करा रहा है और उन्हें इस एवज में भुगतान भी किया जा रहा है।

अभी तक दो चरणों की बहाली में 74 लोगों को नियुक्त किया जा चुका है। जुलाई, 2019 में 36 तथा नवंबर, 2019 में 38 लेखापाल सह आईटी सहायकों की बहाली की गई। बताया जाता है कि अरुणाचलप्रदेश के ईटानगर में हिमालयन यूनिवर्सिटी नाम से एक डीम्ड विश्वविद्यालय है। इसे यूजीसी ने एक अक्तूबर, 2014 को मान्यता दिया। यह विवि की वेबसाइट पर भी अंकित है। जबकि चार लोगों ने इसी विश्वविद्यालय से 2013 में उत्तीर्णता का प्रमाणपत्र देकर नौकरी हासिल की है। हालांकि विभाग ने नियोजन से पहले 13 लोगों पर फर्जी प्रमाणपत्र प्रस्तुत करने को लेकर प्राथमिकी दर्ज कराया था।

यह पत्र अक्टूबर 2014 में यूजीसी द्वारा हिमालयन यूनिवर्सिटी के मान्यता का है, इसके पहले ही 2013 में इस विवि से नौ लोगों का प्रमाणपत्र निर्गत हो चुका है।

नौ अभ्यर्थियों के इंटरमीडिएट का प्रमाणपत्र मान्यता से पहले निर्गत

आरोप है कि इनमें से नौ लोगों के इंटरमीडिएट के प्रमाणपत्र ही अमान्य संस्था से निर्गत हैं। जबकि चार लोगों का प्रमाणपत्र विश्वविद्यालय की स्थापना से पहले का ही निर्गत है। इस संबंध में केसरिया प्रखंड के संतोष कुमार श्रीवास्तव ने डीएम रमण कुमार को आवेदन देकर शिकायत की है व बहाली में हुए फर्जीवाड़े से अवगत कराया है। साथ ही इस मामले में आवश्यक कार्रवाई का आग्रह किया है। केंद्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान उत्तरप्रदेश, लखनऊ से इंटरमीडिएट की डिग्री जारी करता है। इसका वेबसाइट पता www.ciosup.org है। इसे उत्तरप्रदेश सरकार ने फर्जी संस्थानों की सूची में डाल रखा है। इस प्रमाणपत्र पर नौ लोग नौकरी हासिल कर ली है। मगर उसकी जांच अभी तक नहीं कराई गई।


X
Motihari News - panchayati raj officials are not checking fake certificates of it assistants
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना