• Hindi News
  • Bihar
  • Motihari
  • Motihari News sribabu was an advocate of girl child education her contribution in the field of education cannot be forgotten pramod kumar

बालिका शिक्षा के हिमायती थे श्रीबाबू, शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता : प्रमोद कुमार

Motihari News - एजुकेशन रिपोर्टर | मोतिहारी डॉ. श्रीकृष्ण सिन्हा महिला महाविद्यालय में सोमवार को सूबे के प्रथम मुख्यमंत्री डॉ....

Oct 22, 2019, 08:11 AM IST
एजुकेशन रिपोर्टर | मोतिहारी

डॉ. श्रीकृष्ण सिन्हा महिला महाविद्यालय में सोमवार को सूबे के प्रथम मुख्यमंत्री डॉ. श्रीकृष्ण सिंह की 132वीं जयंती समारोहपूर्वक मनाई गई। अध्यक्षता व स्वागत प्राचार्य डॉ. र|ेश आनंद ने की। माैके पर मुख्य अतिथि कला संस्कृति व युवा मंत्री प्रमोद कुमार ने कहा कि राज्य में भाजपा व जदयू की नीतीश सरकार ने बच्चियों की शिक्षा के लिए कई कदम उठाया है। बिहार केसरी भी बालिका शिक्षा के हिमायती थे। शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। उन्हीं से प्रेरित होकर केंद्र व राज्य सरकार कमजोर, वंचित व बच्चियों की बेहतरी के लिए कई योजना चला रही है। उन्होंने कहा कि श्रीबाबू कहते थे कि भारत एक सांस्कृतिक राष्ट्र है और इसकी पहचान बिहार से ही होती है।

जयंती समारोह को संबोधित करते मंत्री प्रमोद कुमार व उपस्थित अन्य।

श्रीबाबू के विचारों को अपनाएं

बीअारए बिहार विवि के सिंडिकेट सदस्य मयंकेश्वर सिंह ने कहा कि श्रीबाबू के बारे में आज की पीढ़ी को बताना बहुत जरूरी है। वह एक व्यक्ति नहीं, संस्था थे। श्रीबाबू के विचारों को अपने आचरण में उतारना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

खूब पढ़ो तभी आगे बढ़ोगे : डॉ. सीबी सिंह

डॉ. सीबी सिंह ने एक किसान की कहानी सुनाकर बिहार केसरी की सादगी का चित्रण किया। उन्होंने बच्चियों से कहा कि खूब पढ़ो तभी आगे बढ़ोगे। साथ ही परिवार के बड़ों का आदर व सम्मान जरूर करें। जेपी सेनानी सुंदरदेव शर्मा ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में उनकी सोच को बाद के लोगों ने 10 प्रतिशत भी नहीं माना, नहीं तो आज तसवीर दूसरी होती। गांधीवादी चिंतक चंद्रभूषण पांडेय ने श्रीबाबू के जीवन व योगदान पर विस्तार से प्रकाश डाला। वहीं नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष प्रकाश अस्थाना, विनोद श्रीवास्तव, शिवकुमारी देवी ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम के दौरान उत्कृष्ट छात्राओं को प्रमाणपत्र व मेडल देकर सम्मानित किया गया। मौके पर डॉ. कला कुमारी, डॉ. चंचला रानी, डॉ. मनीषा वाजपेयी, कल्पना कुमारी, इरशाद आलम, दीपमाला कुमारी, कुमारी रौशनी, ब्रजमोहन सिंह, संजय सत्यार्थी, मदन प्रसाद आदि उपस्थित थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना