लोकनायक ने भ्रष्टाचार के खिलाफ जिस आंदोलन की शुरुआत की, आज भी उसकी दरकार : सुंदरदेव

Motihari News - शहर के गांधी संग्रहालय में शुक्रवार को जेपी की 117वीं जयंती मनाई गई। इस मौके पर लोगों ने लोकनायक के विचारों को जन-जन...

Oct 12, 2019, 08:16 AM IST
शहर के गांधी संग्रहालय में शुक्रवार को जेपी की 117वीं जयंती मनाई गई। इस मौके पर लोगों ने लोकनायक के विचारों को जन-जन तक पहुंचाने का संकल्प लिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जेपी सेनानी के जिलाध्यक्ष राय सुंदरदेव शर्मा ने की। इस दौरान श्री शर्मा ने कहा कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण ने भ्रष्टाचार के खिलाफ जन आंदोलन की शुरुआत की थी। इस आंदोलन की आज भी दरकार है, लेकिन व्यवस्था परिवर्तन की लड़ाई लड़ने वाले जेपी सेनानी आज भी उपेक्षित हैं। मौके पर मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री ब्रज किशोर सिंह ने कहा कि जेपी सेनानियों को द्वितीय स्वतंत्रता सेनानी की दर्जा देने, भारत सरकार से संबंधित सभी लाभ देने, अन्य राज्य के जेपी सेनानियों की तरह पेंशन देने तथा पूरे प्रदेश के जेपी सेनानियों का समागम मोतिहारी में करने तथा 1974 से 1977 के आंदोलन में शामिल लोगों की पहचान कर उन्हें जेपी सेनानी का दर्जा देने आदि की मांग प्रधानमंत्री से की। मौके पर पताही के स्व. यदु नंदन साह के पुत्र मिश्री लाल साह को अंग वस्त्रम व पुष्प गुच्छ देकर सम्मानित किया गया। मौके पर दिग्विजय नारायण सिन्हा, अरूण कुमार सिन्हा, भरत गुप्ता, सुरेन्द्र पांडेय, सत्यदेव प्रसाद, मिथिलेश कुमार वर्मा, अशोक कुमार वर्मा, विजय अग्रवाल, प्रकाश मिश्रा, कामेश्वर नारायण सिंह, ब्रजेश श्रीवास्तव, अब्दुल हमीद कैप्टन आदि मौजूद थे। वहीं चांदमारी चौक स्थित लोकनायक की प्रतिमा पर अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के सदस्यों ने माल्यार्पण किया तथा उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी। जिलाध्यक्ष अखिलेश शरण ने कहा कि देश में सामाजिक, आर्थिक तथा राजनैतिक सुधार के लिए जेपी के सम्पूर्ण क्रांति को सफल बनाना आवश्यक है। मौके पर हरिहर नाथ वर्मा, मोहन प्रसाद श्रीवास्तव, नरेन्द्र प्रसाद वर्मा, अजय कुमार, संजय कुमार सिन्हा आदि मौजूद थे।

गांधी संग्रहालय में लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जयंती पर संबोधित करते जेपी सेनानी।

मनाई गई लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जयंती

चन्द्रप्रभा बालिका उच्च विद्यालय में मनी लोकनायक की जयंती

पहाड़पुर|
चन्द्रप्रभा+2 बालिका उच्च विद्यालय में शिक्षकों ने जयंती मनाई। प्रधानाध्यापक प्रमोद कुमार सिंह ने तैल चित्र पर माल्यार्पण कर उनके विचारों पर प्रकाश डाला। जेपी का कार्य समाज के लिए प्रेरणादायक हैं। उन्होंने हमेशा छात्रों को नि:स्वार्थ और अहिंसात्मक नीति अपनाने के लिए प्रेरित किया। मौके पर नवल किशोर पड़ित, त्रिपुरेश उपाध्याय, स्वदेश कुमार, सीमा कुमारी, अमलेश कुमार, मोतिलाल प्रसाद, अजय कुमार राम आदि शिक्षक मौजूद थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना