• Hindi News
  • Bihar
  • Motihari
  • Motihari News the public representative who came in support of the striking teachers said the employed teachers should get the status of state worker

हड़ताली शिक्षकों के समर्थन में उतरे जनप्रतिनिधि, कहा- नियोजित शिक्षकों काे राज्यकर्मी का दर्जा मिलना चाहिए

Motihari News - प्रखंड मुख्यालय स्थित बीआरसी में बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समिति के बैनर तले नियोजित शिक्षकों की हड़ताल लगातार...

Feb 22, 2020, 08:25 AM IST
Motihari News - the public representative who came in support of the striking teachers said the employed teachers should get the status of state worker

प्रखंड मुख्यालय स्थित बीआरसी में बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समिति के बैनर तले नियोजित शिक्षकों की हड़ताल लगातार पांचवें दिन भी जारी रही। इस बीच हड़ताली शिक्षकों के समर्थन में अब प्रखंड के जनप्रतिनिधियों ने भी इनकी मांग को जायज ठहराया है। जिला पार्षद प्रभा प्रवेश यादव, प्रखंड प्रमुख सह नियोजन इकाई के अध्यक्ष रामएकबाल प्रसाद यादव, मुखिया संघ के प्रखंड अध्यक्ष जिकरुल्लाह हुसैन, भतनहिया मुखिया मुकेश कुमार यादव, महुआवा मुखिया बिंदु देवी, भेलवा के सरपंच मो हाशिम मियां, पंचायत समिति सदस्य उमेश राय, जयप्रकाश कुशवाहा, गोला पकड़िया मुखिया अंजला देवी, खैरवा मुखिया रोबैदा खातून, दरपा मुखिया अर्बुन नेशा आदि ने बिहार सरकार के नाम से पत्र लिख इनकी मांग का समर्थन किया है।

प्रखंड प्रमुख सहित दर्जन भर जनप्रतिनिधियों ने सरकार को लिखे पत्र में अपील करते हुए कहा है कि नियोजित शिक्षकों को भी समान स्कूल शिक्षा प्रणाली के तहत राज्यकर्मी का दर्जा मिलना चाहिए। एक ही विद्यालय में अलग-अलग वेतन पर कार्य कर रहे शिक्षकों के साथ यह सरकार द्वारा नाइंसाफी की जा रही है। शिक्षा के स्तर में सुधार के लिए नियोजित शिक्षकों की मांग को हमारा नैतिक समर्थन है। शीघ्र ही सरकार को उनसे वार्ता कर उनकी मांग को मान लेनी चाहिए। वहीं मुखिया बिंदू देवी, रोबैदा खातून, अर्मुन नेेशा ने कहा कि नियोजित शिक्षकों को राज्यकर्मी का दर्जा नही मिलने से खासकर महिला शिक्षिकाओं को काफी परेशानी उठानी पड़ती है। जबकि यह सरकार महिला सशक्तिकरण का विशेष दावा करती है। सभी जनप्रतिनिधियों ने एक स्वर में कहा कि बिहार सरकार के सभी
कार्यों को समय नियोजित शिक्षक ही पूरा करते हैं, ऐसे में उन्हें राज्यकर्मी का दर्जा देते हुए सभी सुविधाएं भी सरकार को देनी चाहिए। अलग अलग वेतनमान देकर शिक्षा का बंटाधार किया जा रहा है। शिक्षा व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए उन्होंने हड़ताली शिक्षकों से शीघ्र वार्ता कर उनकी मांग को मानने की अपील राज्य सरकार से की है।

नियोजित शिक्षकों के समर्थन में आए पंचायत जनप्रतिनिधि

केसरिया | समान काम समान वेतन की मांग को लेकर नियोजित शिक्षकों का अनिश्चितकालीन हड़ताल पांचवें दिन भी जारी रही। इस दौरान स्थानीय जनप्रतिनिधि में शिक्षकों के समर्थन में इनके साथ कड़े होकर उनकी मांगों को जायज बताया। प्रदर्शन के दौरान प्रखंड के बीआरसी प्रांगण के समक्ष शिक्षकों ने धरना प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। शिक्षक नेता नवनीत प्रकाश भारती ने कहा कि सरकार आंदोलन को दबाने का प्रयास कर रही है, लेकिन मांग पूरी होने तक आंदोलन जारी रहेगा, शिक्षकों के हड़ताल को राजद, सीपीआई, रालोसपा समेत विभिन्न राजनीतिक दलों व कई पंचायत जनप्रतिनिधियों का समर्थन मिल रहा है। सेमुआपुर पंचायत के मुखिया सावित्री देवी, खिजिरपुरा बेनीपुर सीमा सिंह समेत कई पंचायत जनप्रतिनिधियों ने शिक्षकों की मांग को जायज ठहराया। कहा कि शिक्षक समाज की रीढ़ हैं और उन्हें अपने अधिकार के लिए संघर्ष करना दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने सरकार से नियोजित शिक्षकों की मांग पूरा करने का अनुरोध किया है। शिक्षकों ने मांग पूरी होने तक आंदोलन जारी रहने की बात कही। मौके पर मो आलम, चंदन पाण्डेय, शशि शेखर सिंह, श्याम बाबू ठाकुर, राकेश तिवारी, जितेन्द्र सिंह, टुनटुन सिंह, रूपेश कुमार श्रीवास्तव, सुनील कुमार समेत कई लोग उपस्थित थे।

‘शिक्षा के स्तर में सुधार के लिए नियोजित शिक्षकों की मांग जायज, सरकार को वार्ता करनी चाहिए’

तुरकौलिया मध्य पंचायत की पंस सदस्या ने शिक्षकों की हड़ताल का किया समर्थन

तुरकौलिया | नियोजित शिक्षकों का चल रहे अनिश्चितकालीन हड़ताल का समर्थन तुरकौलिया मध्य पंचायत की महिला पंसस जगपति देवी ने एक पत्र लिखकर किया है। जहां पंसस ने विहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रखंड अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार को एक समर्थन पत्र दिया है। दिए पत्र मे बताया गया है कि समान काम-समान वेतन व पूर्ण राज्य कर्मी का दर्जा सहित कई मांगों को लेकर नियोजित शिक्षक गत 17 फरवरी से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। शिक्षकों का मांग बिल्कुल जायज है। सरकार को इन शिक्षकों की मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक तुरंत विचार करनी चाहिए। ताकि विद्यालयों मे सुचारू रुप पठन-पाठन शुरू हो सकें।

बीआरसी परिसर में धरना देते नियोजित शिक्षक।

केसरिया बीआरसी पर धरना देते शिक्षक।

छोड़ादानों बीआरसी में धरना पर बैठे हड़ताली शिक्षक।

Motihari News - the public representative who came in support of the striking teachers said the employed teachers should get the status of state worker
Motihari News - the public representative who came in support of the striking teachers said the employed teachers should get the status of state worker
Motihari News - the public representative who came in support of the striking teachers said the employed teachers should get the status of state worker
X
Motihari News - the public representative who came in support of the striking teachers said the employed teachers should get the status of state worker
Motihari News - the public representative who came in support of the striking teachers said the employed teachers should get the status of state worker
Motihari News - the public representative who came in support of the striking teachers said the employed teachers should get the status of state worker
Motihari News - the public representative who came in support of the striking teachers said the employed teachers should get the status of state worker

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना