• Hindi News
  • Bihar
  • Motihari
  • Sugauli News with the rest of the city the people of the city have breathed a lot of relief the crowd gathered at the shops for essential goods

बारिश थमने के साथ शहर के लोगों ने ली राहत की सांस, जरूरी सामान के लिए दुकानों पर उमड़ी भीड़

Motihari News - चिलवनिया मुहल्ले में सड़क पर लगे बारिश के पानी को पार करता युवक । एकौना मठ में बारिश के पानी से घर डूब जाने के कारण...

Jul 14, 2019, 09:20 AM IST
चिलवनिया मुहल्ले में सड़क पर लगे बारिश के पानी को पार करता युवक । एकौना मठ में बारिश के पानी से घर डूब जाने के कारण सामान निकालता व्यक्ति। चांदमारी मोहल्ला में लगा बारिश का पानी।

सिटी रिपोर्टर | मोतिहारी

पिछले पांच दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश के रुकने से शहर के लोगों को थोड़ी राहत मिली है। शनिवार को दिन भर बूंदा बांदी होती रही। जिसके कारण लोगों ने राहत की सांस ली। हालांकि बारिश व बाढ़ का खतरा अभी टला नही है। साइक्लोनिक प्रेशर का प्रभाव अभी भी है। मौसम विभाग ने 16 जुलाई तक तेज बारिश होने की संभावना व्यक्त की है। शहर के अधिकांश मोहल्लों में बारिश के पानी से जलजमाव है। शहर में बाढ़ का पानी प्रवेश करने की कहीं से सूचना नही है। हालांकि शहर के आसपास के नदियों में उफान लगातार जारी है। जिससे संभावना व्यक्त की जा रही है कि देर रात तक नगर परिषद क्षेत्र के निचले हिस्सों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर जाए। शहर में बाढ़ का पानी प्रवेश नही करे इसको लेकर नगर परिषद प्रशासन कवायद कर रहा है। लगातार हो रही बारिश के कारण शहर के कई निचले मोहल्लों के घरों में पानी घुस गया है। जिसके कारण लोगों को काफी परेशानी हो रही है। कई लोग दूसरे के घरों में शरण लिए हुए हैं। वहीं कुछ लोग रेलवे स्टेशन पर रह रहे हैं। अभी भी सदर अस्पताल परिसर में डेढ़ से दो फीट पानी लगा हुआ है। जिसके कारण मरीजों को काफी परेशानी हो रही है। हालांकि शनिवार को सदर अस्पताल के ओपीडी को सुचारू कर दिया गया। लेकिन,मरीजों की स्थिति नगण्य थी। इमरजेंसी में मरीजों की संख्या अच्छी खासी देखी गई।

बेलिसराय, बेलबनवा, अगरवा, चांदमारी, एकौना, अंबिका नगर, चिलवनिया, राजेन्द्र नगर, मठियाडीह, नकछेद टोला, हवाईअड्डा रोड, बरियारपुर की स्थिति बदतर

इन मोहल्लों की स्थिति खराब

बेलिसराय, बेलबनवा, अगरवा, चांदमारी, एकौना, अंबिका नगर, चिलवनिया, राजेन्द्र नगर, मठियाडीह, नकछेद टोला, हवाईअड्डा रोड, बरियारपुर, भवानीपुर, ठाकुड़बाड़ी, हनुमान गढ़ी आदि मोहल्लों की स्थिति ज्यादा खराब है। अभी भी इन मोहल्लों में दो से तीन फीट जलजमाव है। लोगों का घर से निकलना मुश्किल हो गया है।

चांदमारी मुहल्ले में घर में घुसे बारिश के पानी को निकालते लोग।

सड़क पार कर ऊंचे स्थल पर जाते लोग। लित बस्ती में घुसा सरिसवा नदी का पानी।

कटाव स्थल की मरम्मत नहीं होने से बाढ़ का खतरा मंडराया

रामगढ़वा | कलिकापुर गांव के समीप तिलावे पुल से दक्षिण दिशा में पिछले वर्ष तिलावे नदी के कटाव स्थल की मरम्मत नहीं होने से तिलावे नदी की धार पखनहिया पंचायत के कालिकापुर, खोड़वा, पोखरिया गांव की तरफ मुड़ गई है। इससे मुड़वा, सकरार पंचायत के दोस्तियां, सकरार, हसनपुरा, मुशहरी बहुअरी सहित दर्जनों गांव के खेतों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है। पानी का दबाव ज्यादा है, जिससे इन ग्रामों में भी बाढ़ का पानी के घुसने की आशंका से ग्रामीण भयभीत हैं। पिछले वर्ष सैकड़ों हेक्टेयर किसानों की फसल बरबाद हो गई थी। इस बार भी वहीं समस्या बनी हुई है। वही सुगौली विधायक रामचन्द्र सहनी ने कहा कि शीघ्र ही बाढ़ से पीड़ित लोगों को सहायता की जाएगी।

नगर परिषद के सफाई कर्मियों की टीम पूरी मुस्तैदी से काम कर रही है। शहर के अधिकांश मोहल्लों से पानी निकाला गया है। शहर के लोगों को जलजमाव से निजात दिलाने की भरसक कोशिश की जा रही है। बारिश नही हुई तो रविवार तक सभी वार्ड जलजमाव से मुक्त हो जाएंगे। - अंजू देवी, मुख्य पार्षद, नगर परिषद, मोतिहारी

बारिश से किसी का निजी घर गिरा तो किसी का सरकारी क्वार्टर

रक्सौल | आफत की बारिश ने कई घरों को बेघर कर दिया है। पिछले चार रोज से जारी लगातार बारिश में पीएचसी प्रभारी डां. शरतचंद्र शर्मा का सरकारी क्वार्टर धाराशायी हो गया। हालांकि इसमें कोई मानवीय क्षति नहीं हुआ है। जबकि तुमडिया टोला वार्ड नंबर 3 निवासी शिवजी प्रसाद सर्राफ का एकमात्र फूस का झोपड़ी जिसमें उनका परिवार रहता था, गिर गया। जिस कारण उनका पुरा परिवार बेघर हो गए है। जिसमें शिवजी प्रसाद का पूरा परिवार बाल- बाल बच गया। शिवजी सर्राफ ने बताया कि पुरा परिवार रात्री में घर में सोये थे कि तेज बारिश में अचानक घर गिर गया। घर चापाकल पर अड़ गया, वरना हम सभी लोग इसमें दब जाते। स्थानीय ग्रामीणों के सहयोग से शिवजी प्रसाद के परिजनों को घर से बाहर निकाला गया।

रक्सौल नगर परिषद के विभिन्न मुहल्लों में घुसा बाढ़ का पानी

रक्सौल | विगत चार रोज से जारी लगातार मुसलाधार बारिश से शहरी व ग्रामीण क्षेत्र जल प्रलय में तब्दील हो गया है। शहर के गांधी नगर वार्ड नंबर 9, अहिरवाटोला, इस्लामपुर, दलित बस्ती, भारतीय राजदूतावास अतिथि गृह, डंकन अस्पताल, तुमडिया टोला, सुन्दरपुर, पंटोका, हजमा टोला, कालेज रोड, शिवपुरी, मौजे, अनुमंडल परिसर आदि बाढ़ के पानी से बुरी तरह प्रभावित है। सरिसवा नदी में आए बाढ़ का पानी नगर परिषद अन्तर्गत क्षेत्र के अहिरवा टोला, इस्लामपुर, गांधीनगर में सैकड़ो परिवार के घरों में पानी घुस गया है। जिसे शहर के फुलचंद शाह स्कूल सहित विभिन्न स्थानों पर पहुंचाया गया है। जबकि गांधीनगर मुहल्ले के दर्जनों बाढ़ प्रभावित परिवार गांधीनगर और आश्रम रोड के बीच पुल पर तिरपाल तान कर अपने मवेशी के साथ शरण लिए हुए है। उधर तुमडिया टोला से हाजमा टोला और रेलवे ढाला के तरफ जाने वाले रोड में ब्रह्म चौक पर तेज धार चलने के कारण आवागमन बाधित हो गया है। डंकन रोड से कस्टम तरफ जाने वाले सड़क पर चार से पांच फीट पानी बह रहा है। नेपाली रेलवे माल गोदाम से रेलवे ढाला पर जानेवाले सड़क पर पांच से छह फीट पानी बह रहा है।सब्जी बाजार, मछली बाजार, ब्लाक रोड, मौजे मुहल्ला में भी पांच फीट पानी बहने के कारण आवागमन बाधित हो गया है। एसडीएम अमीत ने प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण कर उन्हें सहयोग करने का निर्देश अधिकारियों को दिया है।

गांधी नगर वार्ड संख्या 9 में सड़क पर जमा है 4 फीट पानी।

बारिश का पानी घरों में घुसने से हो रही परेशानी जलजमाव से सदर अस्पताल की स्थिति भयावह

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना