बायो मेडिकल कचरा निस्तारण का अनुपालन नहीं करने वाले आठ पैथोलॉजी सेंटरों को किया गया सील

Munger News - सॉलिड बेस्ट मैनेजमेंट के तहत बायो मेडिकल कचरा के निस्तारण का अनुपालन नहीं करने वाले 08 पैथोलोजी जांच घर को...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:50 AM IST
Jamalpur News - sealed to eight pathology centers who did not comply with bio medical waste disposal
सॉलिड बेस्ट मैनेजमेंट के तहत बायो मेडिकल कचरा के निस्तारण का अनुपालन नहीं करने वाले 08 पैथोलोजी जांच घर को स्वास्थ्य विभाग के सचिव संजय कुमार के आदेश पर सील कर दिया गया। सिविल सर्जन डॉ. पुरुषोत्तम कुमार द्वारा गठित टीम ने शुक्रवार को इन जांच घरों को सील किया। स्वास्थ्य विभाग के सचिव द्वारा 09 पैथोलॉजी जांच घर को सील करने का आदेश दिया किया गया था। लेकिन एक जांच घर का सटीक पता नहीं मिल पाने के कारण उसे सील नहीं किया जा सका। इस दौरान पैथोलॉजी संचालकों ने बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद द्वारा जारी रिवोकेशन आदेश की प्रति दिखाते हुए कार्रवाई पर पुनर्विचार करने का अनुरोध किया। लेकिन टीम के सदस्यों ने उनकी एक नहीं सुनी। टीम में शामिल अस्पताल उपाधीक्षक डॉ. सुधीर कुमार ने कहा कि उन्हें डीएम की ओर से पैथोलॉजी जांच घर को सील करने का आदेश मिला है। रिवोकेशन के आदेश की प्रति सिविल सर्जन और डीएम को जाकर दिखाइए। सुबह 11.15 से 12.30 बजे तक चले अभियान में 09 में से 08 पैथोलॉजी जांच घर को सील किया गया। इस कार्रवाई में बतौर दंडाधिकारी अंचलाधिकारी सदर दिव्यराज गणेश, अस्पताल उपाधीक्षक डा.सुधीर कुमार, डा. रमण कुमार के अलावा पुलिस बल मौजूद थे।

प्रदूषण पर्षद ने जनवरी में स्वास्थ्य सचिव को पत्र लिख कर दी थी जानकारी

एनओसी पाने की जुगत में थे संचालक

बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद की ओर से 30 जनवरी को स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव को पत्र जारी कर बायो मेडिकल कचरा निस्तारण के नियम 1986 का अनुपालन नहीं करने वाले 09 पैथोलॉजी जांच घर पर कार्रवाई करने का आदेश निर्गत किया गया था। इसके बाद पैथोलॉजी संचालक एनओसी हासिल करने के लिए आवेदन किए थे। सभी मानकों को पूरा करते हुए 04 अप्रैल 2019 को पैथोलॉजी संचालकों ने सर्टिफिकेट हासिल किया। इस बीच प्रक्रिया में विलंब होने के कारण 19 मार्च को स्वास्थ्य सचिव क्लोजर नोटिस जारी कर दिया।

बड़ी बाजार में पैथोलॉजी को सील करते डीएस।

रिवोकेशन आदेश के बाद सील किए जाने से रोष

ऑल इंडिया मेडिकल लैब टेक्नीशियन एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष अशोक गुप्ता अध्यक्षता में शुक्रवार को एक बैठक हुई। जिसमें रिवोकेशन आदेश के बाद भी सील किए जाने की कार्रवाई पर रोष जताया गया। जिलाध्यक्ष ने कहा कि 30 जनवरी के बाद से पैथोलॉजी संचालक आदेश को स्थगित कराने की प्रक्रिया में जुटे थे। इस बीच 15 मई को बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद द्वारा पूर्व में जारी किए गए आदेश के आलोक में रिवोकेशन आदेश जारी कर दिया गया। डीएम और सिविल सर्जन के मेल पर भी आदेश की प्रति निर्गत किया गया था।

इन आठ जांच घरों को किया गया सील

सावित्री पैथोलॉजी बड़ी बाजार, शिवम पैथोलॉजी बड़ी बाजार, पवन लेबोरेटरीज बड़ी बाजार, रिलीप पैथोलॉजी बड़ी बाजार, लाइफ केयर पैथोलॉजी बड़ी बाजार, नेशनल पैथोलॉजी, बड़ी बाजार, पब्लिक हेल्थ पैथोलॉजी जमालपुर, कोमल पैथोलॉजी, जमालपुर को सील कर दिया गया। परख पैथोलॉजी सील होने से बच गया।

प्रधान सचिव के आदेश पर हुई कार्रवाई


कचरा के निस्तारण का करना है इंतजाम

सॉलिड बेस्ट मैनेजमेंट के तहत पैथोलॉजी जांच घर, निजी क्लीनिक से निकलने वाले बायो मेडिकल वेस्ट के निस्तारण का प्रबंध किया जाना है। इसके तहत पूर्व से कई पैथोलॉजी जांच घर भागलपुर की एजेंसी सेनर्जी वेस्ट मैनेजमेंट से निबंधित होकर अपने संस्थान के कचरा को एक जगह एकत्र कर निस्तारण कराती है।

आर्मी जवान को गोली मारने के मामले में एक गिरफ्तार

भास्कर न्यूज| मुंगेर

गुरुवार की देर शाम बासुदेवपुर में सेना के सेवानिवृत जवान किशोर कुमार सिंह को गोली मारने के मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार आरोपी का नाम गोलु कुमार है। मामले की जानकारी देते हुए बासुदेवपुर ओपीध्यक्ष सर्वजीत कुमार ने बताया कि जख्मी के बयान के आधार पर गोलू की गिरफ्तारी की गई है। जबकि अन्य अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है। उल्लेखनीय है कि गुरुवार देर शाम नौ बजे के आस-पास रंगदारी की मांग पूरी नहीं किए जाने पर अपराधियों ने सेवानिवृत जवान को घर से बुलाकर बाएं कंघे व जांघ में दो गोली मार दी थी। परिजनों ने किशोर को सदर अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां अॉपरेशन के बाद किशोर की गोली निकाली गई थी। उसके बाद उनकी स्थिति में सुधार है।

वार्ड पार्षद पर रंगदारी मांगने व मारपीट करने का आरोप

पूरबसराय ब्रह्मस्थान निवासी छोटू ने दिया आवेदन

भास्कर न्यूज| मुंगेर

शहर के पूरबसराय ब्रह्मस्थान निवासी नारायण शर्मा के पुत्र छोटू कुमार ने आरक्षी अधीक्षक तथा डीआईजी को आवेदन देकर नगर निगम के वार्ड संख्या 16 के वार्ड पार्षद विजय कुमार विजय सहित उनके सहयोगियों पर रंगदारी मांगने का तथा मारपीट करने का आरोप लगाया है।

एसपी को दिए पत्र में छोटू कुमार ने कहा है कि 14 मई को रात्रि 10:00 बजे जब हुआ भोज खाकर लौट रहा था, तभी पूरबसराय के समीप वार्ड पार्षद विजय कुमार विजय अपने सहयोगी क्रमश: अभय कुमार उर्फ फूचो, अनिल कुमार, ब्रह्मदेव प्रसाद यादव, मिथिलेश, राजीव, मो गुलफाम सहित 04-05 लोगों ने जबरन पकड़ कर फागो मोदी के चाय दुकान में ले गए। जहां उससे मारपीट की। इसी बीच विजय कुमार विजय ने जातिसूचक शब्द का प्रयोग करते हुए गाली दिया और 50 हजार की रंगदारी मांगी।

X
Jamalpur News - sealed to eight pathology centers who did not comply with bio medical waste disposal
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना