• Hindi News
  • Bihar
  • Muzaffarpur
  • Muzaffarpur News 39if there is a disturbance at the centers the central inspector will be responsible social media will be on watch39

‘केंद्रों पर गड़बड़ी हुई तो केंद्राधीक्षक होंगे जिम्मेदार, सोशल मीडिया पर रहेगी नजर’

Muzaffarpur News - 17 फरवरी से जिले में 63 केंद्रों पर दो पालियों में शुरू होने वाली मैट्रिक परीक्षा में अगर किसी तरह की लापरवाही उजागर...

Feb 15, 2020, 08:55 AM IST
Muzaffarpur News - 39if there is a disturbance at the centers the central inspector will be responsible social media will be on watch39

17 फरवरी से जिले में 63 केंद्रों पर दो पालियों में शुरू होने वाली मैट्रिक परीक्षा में अगर किसी तरह की लापरवाही उजागर होती है तो इसके लिए केंद्राधीक्षक जिम्मेदार होंगे। हर हाल में शांतिपूर्ण माहौल व कदाचारमुक्त परीक्षा का आयोजन सुनिश्चित करना है। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के निर्देशों का हर हाल में पालन जरूरी है।

ये बातें डीएम आलोक रंजन घोष ने परीक्षा आयोजन को लेकर शुक्रवार को एमआईटी परिसर में हुई बैठक में कही। इसमें सभी केंद्राधीक्षक, वीक्षक, पुलिस पदाधिकारी से लेकर डीईओ और दंडाधिकारी उपस्थित हुए। वहीं एसएसपी जयंत कांत ने वीक्षकों और केंद्राधीक्षकों को कहा कि सभी दंडाधिकारी और पुलिस पदाधिकारी तय समय से केंद्र पर पहुंचेंगे। अफवाह फैलाने वाले बख्शे नहीं जाएंगे। सोशल मीडिया पर भी पैनी नजर रखी जाएगी।

आज तक अपनी जॉइनिंग लेटर हासिल कर सकेंगे वीक्षक : डीईओ डॉ. विमल ठाकुर ने बताया कि परीक्षा के सफल संचालन के लिए सारी तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई हैं। 2500 से अधिक वीक्षकों को रिजर्व में रखा गया है। वहीं शुक्रवार को सैकड़ों वीक्षकों को नियुक्ति पत्र दिया गया। शनिवार को भी बचे हुए वीक्षक अपना पत्र हासिल करेंगे।

वैसे शिक्षक जिन्हें अब तक पत्र हासिल नहीं हो सका है, वे सीधे कार्यालय पहुंचकर पत्र हासिल कर सकते हैं। बताया कि 6 केंद्रों पर जहां बेंच-डेस्क की अतिरिक्त जरूरत पड़ी थी वहां 75 फीसदी आपूर्ति कर ली गई है। बाकी जगह शनिवार तक उपस्कर की आपूर्ति हो जाएगी।

जिले में चार परीक्षा केंद्रों को बनाया गया है आदर्श : जिले में 4 परीक्षा केंद्रों को आदर्श केंद्र बनाया गया है। यहां परीक्षार्थी, वीक्षक से लेकर अन्य सभी महिला ही होंगे। केंद्र की सजावट भी की जाएगी। आदर्श केंद्र के रूप में आरबीबीएम कॉलेज, एमडीडीएम कॉलेज, प्रभात तारा और एमएसकेबी गर्ल्स हाई
स्कूल शामिल हैं।

17 फरवरी से दो पालियों में होगी परीक्षा, जिले में बनाए गए 63 केंद्र

स्कूल नहीं जाने वाले शिक्षक नेता की पहचान कर होगी बर्खास्तगी

नियोजित शिक्षकों की ओर से मैट्रिक परीक्षा में हड़ताल किए जाने को लेकर सरकार ने सख्ती बरतना शुरू कर दी है। वैसे शिक्षक जो वीक्षण और मूल्यांकन कार्य का विरोध करते हैं, उन्हें अनुपस्थित मानकर उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई होगी। मामले को लेकर नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव ने सभी मेयर, और नगर पंचायत के मुख्य पार्षद को निर्देश जारी किया है। कहा गया है कि कुछ शिक्षक संगठनों के नेता विद्यालय नहीं आते हैं और शिक्षकों के बीच भय और अराजकता उत्पन्न कर शैक्षणिक माहौल को बिगाड़ने में लगे रहते हैं। ऐसे में उनकी पहचान कर अनुशासनिक कार्रवाई की जाए। साथ ही सेवा से बर्खास्तगी की भी कार्रवाई होगी।

मैट्रिक परीक्षा में 63 केंद्रों पर दो-दो जूनियर छात्रों को लेखक के रूप में रखा जाएगा। ये छात्र दिव्यांग छात्र-छात्राओं की सहायता के लिए रखे जाएंगे। इसका निर्देश जिला शिक्षा पदाधिकारी ने सभी केंद्राधीक्षकों को जारी कर दिया है। साथ ही हर केंद्र पर एक-एक कंप्यूटर एक्सपर्ट शिक्षक की तैनाती भी की गई है। ये छात्र-छात्राओं की उपस्थित, अनुपस्थिति, ओएमआर से लेकर अन्य जानकारी तुरंत बोर्ड कार्यालय को भेंजेगे। वहीं शिक्षा विभाग की ओर से बेहतर मॉनिटरिंग के लिए एक मोबाइल एप भी बनाया गया है।

जिले में 63 केंद्रों पर होने वाली परीक्षा में कुल 65 हजार से अधिक परीक्षार्थी शामिल होंेगे। इसमें 34 केंद्र केवल छात्राओं के लिए और बाकी छात्रों के लिए बनाया गया है। निर्धारित समय से 10 मिनट पहले केंद्र में प्रवेश करना अनिवार्य है। देरी होने पर छात्र-छात्राओं को एंट्री नहीं दी जाएगी।

एमअाईटी में आयोजित बैठक में मैट्रिक परीक्षा को लेकर ब्रीफिंग करते डीएम।

X
Muzaffarpur News - 39if there is a disturbance at the centers the central inspector will be responsible social media will be on watch39
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना