‘सिविल साेसाइटी गुड गवर्नेंस का हिस्सा कानून बनाने से पहले बहस हाेनी चाहिए’

Muzaffarpur News - सिटी रिपाेर्टर | मुजफ्फरपुर भारतीय लाेक प्रशासन संस्थान के उपाध्यक्ष सुरेन्द्र प्रसाद सिंह ने कहा कि सिविल...

Oct 12, 2019, 08:26 AM IST
सिटी रिपाेर्टर | मुजफ्फरपुर

भारतीय लाेक प्रशासन संस्थान के उपाध्यक्ष सुरेन्द्र प्रसाद सिंह ने कहा कि सिविल साेसाइटी गुड गवर्नेंस का अहम हिस्सा है। इसलिए कानून बनाने से पहले जनता के बीच बहस हाेनी चाहिए। सिविल साेसाइटी काे भी इसके प्रति जागरूक हाेने की अावश्यकता है। वे शुक्रवार काे एलएस काॅलेज में भारतीय लाेक प्रशासन संस्थान की अाेर से गुड गवर्नेंस एंड यूएन सस्टेनेबल डेवलपमेंट विषय पर अायाेजित सेमिनार में बाेल रहे थे। उन्हाेंने कहा कि राजनीतिक दलाें में अांतरिक लाेकतंत्र नहीं है। एेसे में सिविल साेसाइटी के ऊपर बड़ा दायित्व है। अध्यक्षता करते हुए पूर्व कुलपति डाॅ. रिपुसूदन श्रीवास्तव ने कहा कि यूएन के लक्ष्याें काे प्राप्त करने के लिए सभी काे जागरूक हाेने की जरूरत है। पूर्व कुलपति डाॅ. रविन्द्र कुमार वर्मा रवि ने एनजीअाे में व्याप्त भ्रष्टाचार की बात उठाई अाैर कहा कि ईमानदारी खुद से शुरू करनी हाेगी। डाॅ. अनिल अाेझा ने कहा, संयुक्त राष्ट्र संघ की अाेर से 17 लक्ष्याें काे प्राप्त करने का प्रावधान किया गया है। इनमें भारत ने 14 लक्ष्याें काे प्राप्त करने का लक्ष्य रखा है। माैके पर संस्था के सचिव डाॅ. अवधेश सिंह, नागेंद्र चाैधरी, डाॅ. सुनील कुमार अादि ने विचार रखे।

गुड गवर्नेंस एंड यूएन सस्टेनेबल डेवलपमेंट सेमिनार में विचार रखते वक्ता।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना