लॉकडाउन से पहले इस माह दूसरे देशों से राज्य में आए कुल 3383 लोग

Muzaffarpur News - बिहार में विदेशों से आए लोगों को होम क्वारेंटाइन करना बड़ी चुनौती है। सिर्फ मार्च में ही लॉकडाउन से पहले तक राज्य...

Mar 27, 2020, 07:45 AM IST
Muzaffarpur News - a total of 3383 people from other countries arrived in the state before the lockdown this month

बिहार में विदेशों से आए लोगों को होम क्वारेंटाइन करना बड़ी चुनौती है। सिर्फ मार्च में ही लॉकडाउन से पहले तक राज्य में दूसरे देशों से 3383 लोग आए हैं। गुरुवार को मुख्य सचिव दीपक कुमार ने नगर निकायों के मेयर, डिप्टी मेयर, अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और वार्ड कमिश्नर के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की जिसमें उन्होंने विदेशों से बिहार आए लोगों की संख्या को सार्वजनिक किया। साथ ही ऐसे लोगों को होम क्वारेंटाइन कराने के लिए नगर निकाय प्रतिनिधियों से मदद मांगी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान नगर निकाय प्रतिनिधियों से दुकानदारों व मजदूरों को पास बनवाने में भी मदद करने के लिए कहा गया। अब यह व्यवस्था की जा रही है कि पास ऑनलाइन जारी किया जाए। ताकि दुकानदारों या अन्य लोग मजदूरों को एसडीओ ऑफिस जाने की जरूरत ही ना पड़े। मुख्य सचिव ने कहा कि लॉक डाउन को सफलतापूर्वक लागू कराना और कोरोना वायरस के प्रसार को रोकना नगर निकाय प्रतिनिधियों की भी जिम्मेदारी है।

स्वास्थ्य विभाग ने बनाई विशेष टीम


पूर्वी चंपारण में विदेश से आए सबसे अधिक लोग

पूर्वी चंपारण की सबसे अधिक 653 लोग इस माह विभिन्न देशों से आए हैं। दरभंगा में 548 लोग, छपरा में 478 लोग, मुजफ्फरपुर में 255 लोग और सीवान में 257 लोग मार्च में विदेशों से लौटे हैं। इसके अलावा विशेष ट्रेनों से पिछले कुछ दिनों में दूसरे प्रदेशों से 58000 लोग बिहार वापस लौटे हैं। इधर, मुख्य सचिव ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने और लॉकडाउन की मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी सरकार ने जिलों के प्रभारी सचिव को सौंप दी है। उन्हें अपने जिले के डीएम और अन्य अधिकारियों के संपर्क में रहने के लिए कहा गया है।

स्कूल और कॉलेजों में बने कम्युनिटी किचन

पटना|आपदा प्रबंधन विभाग ने स्कूल और कॉलेजों को आपदा राहत केंद्र बनाते हुए वहां कम्युनिटी किचन बनाने का निर्देश सभी डीएम को दिया है। विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने कहा कि जिला मुख्यालयों में ऐसे व्यक्ति जिन्हें भोजन और आवास की सुविधा नहीं है उनके भोजन के लिए कम्युनिटी किचन की व्यवस्था की जाये।

मुख्य सचिव ने मेयर-डिप्टी मेयर व वार्ड कमिश्नर के साथ की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग

} 16 सदस्यीय इमरजेंसी रिस्पांस एंड को-आॅर्डिनेशन टीम बनी। यह टीम कमांड व कंट्रोल सेंटर के रूप में काम करेगी। नेतृत्व स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव करेंगे।

} गांवों में कोरोना के फैलाव को रोकने की जिम्मेदारी पंचायती राज संस्थाओं को।

} कालाबाजारी को रोकने के लिए जिलों में डीएम, एसडीओ, एसडीपीओ व जिला आपूर्ति पदाधिकारी की विशेष टीमें।

} गांवों में स्कूल, सामुदायिक भवन तथा अन्य बड़े भवन बनाए गए क्वेरेंटाइन सेंटर।

} एनएमसीएच को कोरोना अस्पताल बनाया गया।

} आरएमआई के बाद आईजीआईएमएस और पीएमसीएच में जांच की सुविधा हो रही बहाल।

खास तैयारी

X
Muzaffarpur News - a total of 3383 people from other countries arrived in the state before the lockdown this month

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना