9 माह बाद फिर आईजी रत्न संजय की टीम ने बोला धावा

Muzaffarpur News - क्राइम रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर 9 माह बाद आईजी र| संजय की टीम ने मुजफ्फरपुर में दूसरी बार धावा बोला। अप्रैल में आईजी...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 04:32 AM IST
Muzaffarpur News - after 9 months then ig ratna39s team talked about
क्राइम रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर

9 माह बाद आईजी र| संजय की टीम ने मुजफ्फरपुर में दूसरी बार धावा बोला। अप्रैल में आईजी र| संजय की टीम ने तत्कालीन एसएसपी विवेक कुमार के आवास में भ्रष्टाचार के मामले में छापेमारी की थी। जबकि, 13 जनवरी की रात मोतीपुर थानेदार के आवास की घेराबंदी आईजी र| संजय की टीम ने ही की। तब और अब में अंतर बस इतना है कि अप्रैल में तत्कालीन एसएसपी विवेक कुमार के आवास में छापेमारी स्पेशल विजिलेंस यूनिट ने की। जबकि, 13 जनवरी की रात मद्य निषेध की टीम ने छापेमारी की। स्पेशल विजिलेंस यूनिट व मद्य निषेध दोनों के आईजी र| संजय ही हैं।

चर्चित शराब तस्कर के भाई का थाने पर था अड्डा | मोतीपुर इलाके के एक हिस्ट्रीशीटर शराब तस्कर के भाई का मोतीपुर थाने पर ही अक्सर अड्डा जमा रहता था। मोतीपुर थाना अध्यक्ष व शराब तस्कर के भाई में भी बहुत करीबी संबंध बताया जा रहा है। शराब तस्करों से संबंध खंगालने के लिए मोतीपुर थाना अध्यक्ष व शराब तस्करों के मोबाइल कॉल डिटेल पुलिस खंगालेगी।

अमिताभ का विवादों से था पुराना रिश्ता

मुजफ्फरपुर | 1995 बैच के इंस्पेक्टर कुमार अमिताभ का विवादों से पुराना रिश्ता रहा है। कटिहार में तैनाती के दौरान एक जन प्रतिनिधि से उठा-पटक का वीडियो वायरल होने के बाद कटिहार एसपी ने कुमार अमिताभ को सस्पेंड कर दिया था। महज तीन माह के कार्यकाल में ही मोतीपुर में कुमार अमिताभ का स्थानीय जनप्रतिनिधियों, पत्रकारों व कारोबारियों से संबंध काफी बिगड़ गया था। चार दिन पहले ही स्थानीय पत्रकार व कुछ अन्य लोग एसएसपी से मिल कर मोतीपुर थानाध्यक्ष की भूमिका के खिलाफ शिकायत दर्ज किए थे। मोतीपुर थानेदार कुमार अमिताभ पर कार्रवाई की सूचना से मोतीपुर इलाके के लोगों को राहत मिली है। मोतीपुर थाना में तैनात एक मुंशी के साथ भी बदतमीजी करने का मामला सामने आया था।

शादी समारोह का वायरल हुआ था फोटो

मोतीपुर पुलिस व शराब तस्करों में पहले भी गहरा संबंध रहा है। मोतीपुर इलाके के एक चर्चित शराब तस्कर व पहले के एक थानेदार की तस्वीर एक साथ शादी समारोह में चर्चा का विषय बना था। वह भी शादी समारोह मोतीपुर में तैनात रह चुके एक आईएएस ऑफिसर की शादी समारोह की थी। हालांकि, उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई थी। उत्तर बिहार में दो दशक से मोतीपुर इलाका स्प्रिट के लिए काफी चर्चित रहा है।

थानेदार के प्राइवेट नंबर से मिल सकता है सुराग

मोतीपुर थाना अध्यक्ष कुमार अमिताभ के सरकारी व प्राइवेट दोनों मोबाइल नंबरों को पुलिस खंगालेगी। ताकी शराब तस्करों व मोतीपुर थाना अध्यक्ष में कोई संबंध रहा है या नहीं? इसकी पुलिस जांच करेगी। साथ ही रविवार की रात जिस समय मोतीपुर थाने पर छापेमारी करने विशेष टीम पहुंची। उस समय मोतीपुर थानेदार का लोकेशन कहां था?

X
Muzaffarpur News - after 9 months then ig ratna39s team talked about
COMMENT