मीनापुर थाने के सभी पुलिस कर्मियों का हाेगा तबादला

Muzaffarpur News - भास्कर टीम | मुजफ्फरपुर/मीनापुर इलाके के तस्करों की शराब जब्त हाेने के बाद उसे सूची में कम दर्शाकर, उसे थाने से...

Oct 12, 2019, 08:25 AM IST
भास्कर टीम | मुजफ्फरपुर/मीनापुर

इलाके के तस्करों की शराब जब्त हाेने के बाद उसे सूची में कम दर्शाकर, उसे थाने से बेचने व पीने के गोरखधंधा में गिरफ्तार हुए मीनापुर थानेदार रजनीश कुमार काे शनिवार की रात 10 बजे न्यायालय में लाया गया। लेकिन, विलंब से लाने के कारण कोर्ट ने कल पेशी के लिए पुन: लाने को कहा। जिसके बाद थानेदार को वापस नगर थाने में रखा गया है।

मोतीपुर थाने में इसी साल 13 जनवरी काे थाने से शराब बेचे जाने का मामला पकड़ा गया था। थानेदार व जमादार पर एफआईआर दर्ज करने के बाद आईजी ने थाने के सभी पुलिस कर्मियों का सामूहिक तबादला कर दिया था। इसी तरह की कार्रवाई अब मीनापुर थाने में करने की कवायद चल रही है। एसएसपी ने पुलिस लाइन के सार्जेंट मेजर काे जिलादेश बनाने का निर्देश दिया है। गुरुवार शाम से शुक्रवार दोपहर तक थाने के मालखाने में रजनीश कुमार के द्वारा पोस्टिंग के बाद जब्त शराब की मिलान की गई। इसमें जब्ती सूची से दाे कार्टन (146 बाेतल) अधिक शराब मिली है। एसएसपी मनाेज कुमार ने बताया कि उनके खिलाफ मीनापुर अंचल इंस्पेक्टर की रिपोर्ट पर एफआईआर दर्ज की गई है।

मोतीपुर थाने से जब्त शराब बेचने के अाराेपी तत्कालीन थानेदार कुमार अमिताभ अाैर जमादार अमेरिका प्रसाद के खिलाफ 10 माह बीतने के बाद भी चार्जशीट दायर नहीं हाे सकी है। इस कांड के आईअाे तत्कालीन डीएसपी पूर्वी गाैरव पांडेय का जिले से स्थानांतरण हाे चुका है। बराैनी रेल डीएसपी बने गाैरव पांडेय ने केस की फाइल अाैर चार्ज नहीं साैंपी है। पुलिस सूत्राें की मानें ताे मामले में कुमार अमिताभ अाैर अमेरिका प्रसाद ने इस कार्रवाई के खिलाफ अपील की थी। इसके बाद हाईकाेर्ट में कई बिंदुअाें पर छानबीन के निर्देश दिए थे। इसके बाद मामले में जांच लटकी हुई है अाैर चार्जशीट भी दायर नहीं हाे सकी है। मुजफ्फरपुर विशेष उत्पाद काेर्ट में इस कांड की सुनवाई 6 नवंबर काे हाेनी है। न्यायालय काे चार्जशीट या फाइनल फाॅर्म समर्पित हाेने का इंतजार है।

माेतीपुर थानेदार अाैर जमादार के खिलाफ अब तक चार्जशीट नहीं, आईअाे का हुअा स्थानांतरण

अावास पर तस्करों की जमती थी मंडली; खुद पीने के लिए रखी थी शराब, थानेदार ने स्वीकारा : मीनापुर थाने की गिरफ्तारी के बाद उनके करतूत खुलकर सामने अा रहे हैं। इलाके के लाेगाें का कहना है कि मीनापुर थानेदार के अावास पर ही शराब तस्करों की मंडली जमती थी। जहां पार्टी मनाई जाती थी। इलाके के तस्कर बेखाैफ धंधा कर रहे थे। जिन तस्करों की सेटिंग नहीं थी, उसके शराब की खेप पकड़वाए जाते थे। शराब वास्तविक जब्ति काे सूची में बहुत कम अंकित किया जाता था अाैर शेष शराब तस्करों के हाथ से बेच दी जाती थी। एसएसपी मनाेज कुमार ने बताया है कि थानेदार के बेडरूम से दाे बाेतल शराब मिली। थानेदार ने स्वीकार की कि वे खुद पीने के लिए दाेनाें बाेतल रखा था।

एएसपी व मीनापुर थाने के स्टाफ कुछ भी बताने से किया इंकार, फिर पहुंचे एसएसपी : एएसपी अमितेश कुमार शुक्रवार शाम तक थाना में फाइलों का जायजा लेते रहे। कागजी प्रक्रिया पूरी की गई। प्रक्रिया पूरी होने के बाद एएसपी शहर की अाेर रवाना हो गए। इनके जाने के कुछ देर बाद शाम 07 बजे प्रभारी थानाध्यक्ष रवींद्र कुमार सीजर लिस्ट से अतिरिक्त मालखाने में मिली शराब, हथकड़ी व सभी फाइलों के साथ थाना की गाड़ी से शहर की ओर रवाना हुए। हालांकि, सर्किल इंस्पेक्टर (सीआई) नीरा कुमारी थाना में मौजूद थीं। उन्होंने घटना से संबंधित कोई भी जानकारी देने में असमर्थता जताई।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना