पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

क्योंकि- धुएं से सांसों में घुल रहा जहर

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सबसे बड़ी मुसीबत है कि शहर के पास कूड़ा डंपिंग पॉइंट नहीं है। शहर से 12 किमी. दूर राैतिनियां में नगर निगम का डंपिंग पॉइंट है। निगम की 22 एकड़ जमीन पर चार साल पहले राैतिनियां में कूड़ा डंपिंग की शुरुअात हुई थी। स्थानीय ग्रामीणाें के लगातार विराेध के बाद पिछले काफी समय से कचरा डंपिंग बंद है। डंपिंग पाॅइंट के एक हिस्से काे पार्क के रूप में डेवलप करने की तैयारी शुरू कर दी गई है। शेष भाग में कचरा प्राेसेसिंग के लिए लैंडफिल साइट का निर्माण होगा। राैतिनियां में विरोध के बाद निगम के कर्मी कूड़ा काे ठिकाने लगाने के लिए शहर के किनारे चक्कर काटते हैं। फिलहाल शहर से सटे आवासीय इलाके नारायणपुर अनंत राेड में कूड़ा डंप हाे रहा है। कूड़ा में अाग लगने से निकलने वाले धुआं से लाेगाें की सांस अटक गई है। शहर में इक्की-दुक्की जगहाें पर डस्टबिन दिखाई देता है। लेकिन, जर्जर अवस्था में हैं। हालांकि, नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की अाेर से सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्रावधान लागू करने के लिए बिहार के छह शहरों में मुजफ्फरपुर का भी चयन हुअा है।

खबरें और भी हैं...