गोलू हत्याकांड के बाद पुलिस गोलीकांड का तीसरा शिकार भगवानपुर

Muzaffarpur News - गोलू हत्याकांड के बाद पुलिस गोलीकांड का तीसरा शिकार भगवानपुर का इंटर छात्र केशव झा बना। सदर थाना की ओर से गोलियों...

Dec 04, 2019, 08:26 AM IST
Muzaffarpur News - bhagwanpur third victim of police firing after golu massacre
गोलू हत्याकांड के बाद पुलिस गोलीकांड का तीसरा शिकार भगवानपुर का इंटर छात्र केशव झा बना। सदर थाना की ओर से गोलियों की तड़तड़ाहट सुनकर कौतूहलवश वह कमरे से बाहर निकल कर ज्यों मेन रोड पर आया कि दनदनाती हुई एक गोली उसके सिर में लग गई। माैके पर ही उसने दम तोड़ दिया। वह गोली भी सदर थाना में तैनात अर्द्धसैनिक बल की राइफल की ही थी। बाद में पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया।

केशव वैशाली के महुआ थाना के बखरी गांव के मिथिलेश झा का छोटा पुत्र था। मुंबई में बड़े भाई संजय झा के साथ रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था। यहां एमपीएस साइंस कॉलेज में इंटर का छात्र था। फाइनल ईयर की परीक्षा होने वाली थी। इसकी सूचना पर वह मुंबई से 25 सितंबर को मुजफ्फरपुर आया था। पिता कहते हैं, ‘26 सितंबर के काला दिन को कैसे भूल सकते हैं। केशव एक दिन पहले ही आया था। हमलोग भाड़े के मकान में रहते थे। मकान मुजफ्फरपुर-पटना मेन रोड के भगवानपुर स्थित पांडेय पेट्रोल पंप के पास था। केशव को छोड़ घर के सभी पुरुष सदस्य वैष्णाे माता धाम के लिए प्रस्थान कर गए थे। उस दिन दोपहर बाद गोलियों की आवाज सुन कर वह कमरे से बाहर निकला। जैसे ही मेन रोड किनारे पहुंचा कि उसके सिर में गोली लग गई। किसी के बताने पर बेटी रागिनी और बहू संजना को मालूम हुआ। दोनों देखने गई तो हतप्रभ रह गईं।

कर्फ्यू और गोलियों की तड़तड़ाहट की वजह से पड़ोसी बाहर नहीं निकल रहे थे। यात्रा पर निकले हमलोग दिल्ली पहुंच चुके थे। वहीं जानकारी मिली कि केशव को गोली लगी है। उसके न होने की बात छुपाई गई। हमलोग यात्रा रद्द कर दिल्ली से ही वापस लाैट अाए। आंदोलन के चलते यहां के हालात ठीक नहीं थे। हाजीपुर में ही ट्रेन छोड़ कर टैक्सी से किसी तरह घर पहुंचे। घटना के बारे में तब विस्तृत जानकारी हुई। तीसरे दिन एसकेएमसीएच से शव को प्राप्त किए।’ गोलू कांड के दौरान भगवानपुर का सदर थाना जैसे रणक्षेत्र बन गया था। यहां ताबड़तोड़ की जा रही फायरिंग में एक ओर जहां दर्जनों घायल हुए, वहीं दूसरी ओर चंदन कुमार ‘सोनू’, केशव कुमार झा के अलावा भगवानपुर के ही एक तीसरे बच्चे की जान भी चली गई थी। - सुजीत कुमार ‘पप्पू’

घर से निकलते ही केशव

के सिर में लग गई गाेली

केशव को छोड़ घर के सभी पुरुष सदस्य वैष्णाे माता धाम के लिए प्रस्थान कर गए थे। उस दिन गोलियों की आवाज सुन कर वह कमरे से बाहर निकला। जैसे ही मेन रोड किनारे पहुंचा कि उसके सिर में पुलिस की गोली लग गई।

मुजफ्फरपुर का गोलूकांड

अगली किस्त : सत्तू बेचने वाली ने भी खोया अपना लाल।

किस्त : 10

X
Muzaffarpur News - bhagwanpur third victim of police firing after golu massacre
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना