पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सीएम ग्राम परिवहन योजना की जानकारी देने के लिए प्रखंडों तक चलेगा अभियान

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के प्रति लोगों में कम उत्सुकता को देखते हुए विभाग ने जागरूकता अभियान चलाने का निर्णय लिया है ताकि लोगों को योजना की जानकारी देने के साथ उन्हें इसका लाभ उठाने के लिए प्रेरित किया जा सके। इसको लेकर गुरुवार को डीटीओ नजीर अहमद ने कांटी, मोतीपुर, साहेबगंज और मीनापुर प्रखंड के बीडीओ के साथ बैठक की। बैठक में बीडीओ व संबंधित अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों को लोगों के बीच जागरूकता अभियान चलाकर इस योजना की जानकारी देने का निर्देश दिया गया। इसके तहत वैसे कई कागजात नहीं होने पर भी योजना का लाभ देने की बात कही। डीटीओ ने बताया कि योजना का लाभ लेने के लिए कई कागजातों को देना अनिवार्य था। लेकिन, लक्ष्य से काफी कम आवेदन आने के कारण कुछ कागजातों में कंसिडर किया गया है। बताया कि जिले में कुल 385 पंचायत है। प्रत्येक पंचायत में पांच-पांच लोगों को तीन पहिया व चार पहिया वाहनों का लाभ इस योजना के तहत देना है।

डीटीओ ने चार प्रखंडों के बीडीओ के साथ की बैठक, प्रचार-प्रसार कराए जाने का दिया निर्देश

इन कागजातों में कंसिडर
आवासीय प्रमाण पत्र की जगह आधार कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस से ही काम चलेगा।

चार पहिया या थ्री व्हीलर खरीदने वाले को किसी एक के ड्राइविंग लाइसेंस से ही चलेगा काम।

उम्र प्रमाण-पत्र की जगह ड्राइविंग लाइसेंस से ही चलेगा काम।

इसके अलावे कई कागजातों को देने में कंसिडर किया गया है।

जिले के सभी प्रखंडों में जमीन का होगा रिविजन सर्वे, शुरुआत मड़वन से होगी
मुजफ्फरपुर | भूमि विवादों को खत्म करने के लिए सरकार ने जिले के सभी गांवों का रिविजन सर्वे कराने का निर्णय लिया है। प्रखंडवार रिविजन सर्वे का काम मड़वन प्रखंड से शुरू होगा। इसके लिए प्रखंडवार गांवों का नक्शा समेत जमीन के कागजात आने लगे हैं। मड़वन प्रखंड का नक्शा आने के बाद राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग ने गुरुवार को जिले के मुशहरी, सकरा व मुरौल प्रखंड के 200 गांवों के जमीन के नक्शे की शीट सर्वे ऑफिस को उपलब्ध कराया है। इससे पूर्व वर्ष 1962 में रिविजन सर्वे कराया गया था। विभाग ने मड़वन प्रखंड से सर्वे शुरू करने के लिए पूर्व में ही उसके सभी राजस्व गांवों का नक्शा सर्वे ऑफिस को उपलब्ध करा दिया था। गुरुवार को मुशहरी प्रखंड के 42 राजस्व गांवों के साथ ही सकरा के 121 गांव तथा मुरौल के 71 राजस्व गांवों का नक्शा कुल 270 शीट में उपलब्ध कराया गया। विभागीय निर्देश के अालोक में सभी प्रखंड व अंचलों में रिविजन सर्वे शुरू होने के बाद विभाग इसके लिए दूसरे चरण में सिविल अभियंता के साथ ही अमीनों की बहाली कर प्रतिनियुक्ति करेगा। इसके साथ ही सर्वे होने वाले प्रखंडों में इसके लिए कार्यालय खोले जाएंगे। प्रखंडवार रिविजन सर्वे के बाद उसके औपबंधिक मानचित्र का प्रकाशन होगा तथा प्रखंड के लोगों से इस पर दावा-आपत्ति की मांग होगी।

योजना का उद्देश्य
दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में आवागमन के विकास व इन गांवों में रहने वाले लोगों को आसानी से प्रखंड व जिला मुख्यालय तक पहुंचाने के उद्देश्य से सरकार ने योजना की शुरुआत की है। इसके तहत प्रत्येक पंचायत में 5-5 लोगों को 4 से लेकर 10 सीटर वाहन खरीदने के लिए 50 प्रतिशत या अधिकतम एक लाख का अनुदान दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...