सीबीएसई : अब रिजल्ट के आधार पर की जाएगी विद्यालयों की ग्रेडिंग

Muzaffarpur News - एजुकेशन रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर अब छात्र-छात्राअाें के परीक्षा परिणाम तय करेंगे स्कूलों की ग्रेडिंग। सीबीएसई ने...

Nov 11, 2019, 08:51 AM IST
एजुकेशन रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर

अब छात्र-छात्राअाें के परीक्षा परिणाम तय करेंगे स्कूलों की ग्रेडिंग। सीबीएसई ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। जिस स्कूल से टॉपरों की संख्या ज्यादा होगी उसे ग्रेडिंग में फायदा मिलेगा।

बोर्ड ने कहा है कि रिजल्ट को रैंकिंग के ऊपरी पायदान पर रखा जाएगा। खासकर 10वीं और 12वीं के रिजल्ट को आधार बनाया जाएगा। बोर्ड की ओर से रिजल्ट की मॉनिटरिंग भी की जाएगी। बता दें कि अब तक बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर केवल रिजल्ट का प्रदर्शन हाेता था। लेकिन, अब टॉपर्स की जानकारी भी वेबसाइट पर डाली जाएगी। इसमें टॉपर्स के स्कूल का नाम, प्रोफाइल समेत अन्य जानकारियां भी रहंेगी। बोर्ड का मानना है कि ऐसा करने से छात्र-छात्राओं को व्यक्तिगत पहचान मिलेगी। साथ ही दूसरे छात्र-छात्राओं में भी बेहतर करने की भावना विकसित होगी। इसकी सूची एक वर्ष तक उपलब्ध होगी।

स्नातक थर्ड-पार्ट की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन पर विवाद बढ़ा

एजुकेशन रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर

बीअारए बिहार विश्वविद्यालय के स्नातक थर्ड-पार्ट की परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाअाें काे मूल्यांकन के लिए परीक्षकाें के अावास पर भेजने के निर्णय का विराेध तेज हाे गया है। सीनेटर डाॅ. विजय कुमार ने कुलपति से केंद्रीयकृत मूल्यांकन कराने की मांग की है। उन्हाेंने कुलपति काे साैंपे ज्ञापन में कहा है कि राजभवन ने पिछले वर्ष एक गाइडलाइन जारी की थी। इसमें मूल्यांकन के लिए सह परीक्षक के ऊपर प्रधान परीक्षक की नियुक्ति किए जाने का निर्देश दिया था। प्रधान परीक्षक के ऊपर संबंधित विषय के वरीय प्राध्यापक मूल्यांकित उत्तर पुस्तिका की रैंडम जांच करेंगे। मूल्यांकन की गुणवत्ता के लिए केंद्र पर सीसीटीवी लगाने अाैर वीडियाेग्राफी कराने के लिए कहा गया था। पर्यवेक्षक की नियुक्ति करनी है अाैर दंडाधिकारी व पुलिस बल की उपस्थिति में मूल्यांकन कराना है, लेकिन इसका उल्लंघन करते हुए उत्तर पुस्तिकाअाें काे परीक्षकाें के अावास पर भेजने का निर्णय हुअा है।

स्टूडेंट यह भी जान सकेंगे कि टॉपर्स कैसे लिखते हैं प्रश्नाें के उत्तर

2020 में होनेवाली बोर्ड परीक्षा के टॉपरों की उत्तर पुस्तिका भी सार्वजनिक की जाएगी। इससे आम छात्र भी यह कला सीख सकेंगे कि टॉपर्स किस तरीके से प्रश्नों का उत्तर देते हैं कि उन्हें औरों की तुलना में अधिक अंक मिलता है। टॉपर्स की कॉपियों को बोर्ड की ओर से रिजल्ट जारी होने के बाद वेबसाइट पर डाला जाएगा। इसका प्रयोग सीबीएसई की ओर से अगली परीक्षा में किया जाएगा।

स्कूलों को भी अपनी वेबसाइट को करना है अपडेट | बोर्ड ने स्कूलों को स्पष्ट निर्देश दिया है कि वे अपने स्कूल की वेबसाइट को अपडेट रखें, ताकि छात्र-छात्राओं और पैरेंट्स को इससे हर आवश्यक जानकारी मिल सके। इसमें संस्थान की पूरी जानकारी, शिक्षक-छात्र-छात्राओं के डिटेल्स और अन्य संसाधनाें के डिटेल्स देने हाेंगे। बोर्ड ने इसका सख्ती से अनुपालन करने की बात कही है।

रजिस्ट्रेशन की तिथि 7 नवंबर तक ही निर्धारित की गई थी

एमटेक : निर्धारित समय तक में नहीं कराया रजिस्ट्रेशन, तीन छात्रों का एडमिशन कैंसिल

मुजफ्फरपुर| निर्धारित अवधि तक रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी नहीं करने से एमआईटी के एमटेक कोर्स में नामांकित तीन छात्रों का एडमिशन कैंसिल कर दिया गया है। थर्मल इंजीनियरिंग और मशीन डिजाइन कोर्स में संचालित एमटेक के छात्र हैं। आर्यभट्ट नॉलेज यूनिवर्सिटी की ओर से 7 नवंबर तक रजिस्ट्रेशन के लिए समय दिया गया था। वहीं कॉलेज ने कहा कि अगर छात्रों ने ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन का फॉर्म नहीं भरा होगा तो एडमिशन खुद ही कैंसिल हो जाएगा।

इधर, छेड़खानी के आरोपित अनुशासन समिति के सामने हुए पेश | एमआईटी में पिछले दिनों कैंपस के बाहर हुई कथित छेड़खानी की घटना में आरोपित छात्र अपने अभिभावकों के साथ अनुशासन समिति के सामने पेश हुए और अपना पक्ष रखा। वहीं उनके अभिभावकों से भी कमेटी के सदस्यों ने जानकारी ली। इस दौरान छात्रों ने खुद को बेकसूर होने की बात भी कही। वहीं कमेटी ने सभी छात्रों का पक्ष जाना। अब कमेटी की ओर से पीड़ित पक्ष को बुलाकर उसका पक्ष जाना जाएगा। टेलीफोन एक्सचेंज गेट के पास छात्रा के साथ पिछले दिनों छेड़खानी की गई थी। इसकी शिकायत कॉलेज प्रशासन को लिखे गए आवेदन में किया गया था। कॉलेज ने शिक्षकों को गेट के पास स्थित चाय दुकान में पहुंचकर और आसपास के लोगों से फीडबैक लेने का भी निर्देश दिया था। यह भी चर्चा है कि इसमें छात्रों को क्लीन चीट दिया जा सकता है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना