सीबीएसई : थ्योरी की तरह प्रैक्टिकल परीक्षा भी अलग केंद्र पर

Muzaffarpur News - एजुकेशन रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर सीबीएसई के छात्रों को अब थ्योरी पेपर की तरह ही प्रैक्टिकल पेपर की परीक्षा भी अपने...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:10 AM IST
Muzaffarpur News - cbse practical examination like theory also at different centers
एजुकेशन रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर

सीबीएसई के छात्रों को अब थ्योरी पेपर की तरह ही प्रैक्टिकल पेपर की परीक्षा भी अपने स्कूल से बाहर देना होगा। यानी प्रैक्टिकल पेपर की परीक्षा के लिए एक्सटर्नल सेंटर बनाया जाएगा। इसको लेकर बोर्ड की ओर से तैयारियां शुरू कर दी गई है। इसे अगले वर्ष यानि वर्ष 2020 से लागू किया जा सकता है। बोर्ड ने बदलती जरूरतों के अनुसार परीक्षा पैटर्न में बदलाव करने की तैयारी कर ली है। इसको लेकर स्कूलों को निर्देश भी दिया गया है। बोर्ड ने स्कूलों को इसके संकेत देते हुए कहा है कि सीबीएसई से मान्यता हासिल किसी भी दसवीं या बारहवीं स्तर के स्कूल में प्रैक्टिकल की परीक्षा के लिए केंद्र बनाया जा सकता है। दूसरी ओर बोर्ड की ओर से प्रैक्टिकल परीक्षा की मार्किंग पैटर्न में भी बदलाव करने की योजना है। बताया गया है कि प्रैक्टिकल परीक्षा के लिए छात्र-छात्राओं को अलग से एडमिट कार्ड जारी किया जाएगा। अब तक थ्योरी और प्रैक्टिकल परीक्षा के लिए छात्रों को एक ही तरह का एडमिट कार्ड जारी किया जाता रहा है। प्रवेश पत्र पर परीक्षा केंद्र की जानकारी मिलेगी। वहीं इसके बिना प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। स्कूलों से मिले फीडबैक के आधार पर बोर्ड की ओर से इसकी अंतिम रूपरेखा तैयार की जाएगी। इसके लिए स्कूलों को निर्धारित फॉर्मेट सौंपा गया है। दूसरी ओर 15 जुलाई तक सीबीएसई के छात्र अपने विषय में बदलाव कर सकते हैं। इसमें दसवीं और बारहवीं के छात्र-छात्राएं शामिल होंगे। इस प्रक्रिया के पूरा होने के बाद 21 जुलाई तक इसकी जानकारी बोर्ड को भेजनी है।

इधर, प्रथम और द्वितीय श्रेणी से इंटर पास एससी-एसटी की छात्राअाें के लिए प्राेत्साहन राशि जारी की गई

मुजफ्फरपुर | इंटर की परीक्षा प्रथम व द्वितीय श्रेणी से पास करने वाली एससी, एसटी वर्ग की छात्राओं को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि सरकार ने विभाग को सौंप दी है। फिलहाल 986 छात्राओं के हिस्से की राशि योजना विभाग के पास पहुंची है। इस कड़ी में प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण होने वाली छात्राओं को 15 हजार रुपए की राशि और द्वितीय श्रेणी से उत्तीर्ण होने वाली छात्रा को 10 हजार रुपए की राशि मिलनी है। जिले के विभिन्न स्कूल और कॉलेजों से पास होने वाली छात्राओं को इसका लाभ मिलेगा। यह जानकारी डीपीओ योजना मो. नासिर हुसैन ने दी। उन्हाेंने बताया, कुछ छात्राओं ने राशि ली है। वे छात्राएं जिन्होंने अब तक प्रोत्साहन राशि नहीं ली है, वे कंबाइंड बिल्डिंग स्थित डीपीओ कार्यालय पहुंचकर डॉक्यूमेंट्स जमा कर इसे हासिल कर सकती हैं। इसके लिए अंक पत्र, जाति प्रमाण पत्र, बैंक का खाता नंबर, अार्इएफएससी काेड अाैर अाधार कार्ड की फाेटाे काॅपी डीपीअाे याेजना के कार्यालय में जमा करनी हाेगी।

X
Muzaffarpur News - cbse practical examination like theory also at different centers
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना