--Advertisement--

छठ की तैयारी / तेज हुआ घाटों की सफाई का काम, सीढ़ी घाट में जेसीबी से रास्ते को किया समतल

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2018, 12:13 PM IST


chhath puja preparation in muzaffarpur gandak river
X
chhath puja preparation in muzaffarpur gandak river

  • पूजन सामग्री की खरीदारी को लेकर बाजार गुलजार

मुजफ्फरपुर.  छठ महापर्व की तैयारी परवान चढ़ने लगी है। शुक्रवार को पूजन सामग्री की खरीदारी को लेकर बाजार गुलजार रहे। वहीं, घाटों को भी संवारने का काम तेज हो गया। 

 

डीएम मो. सोहैल के निरीक्षण के बाद नगर निगम ने भी घाटों की साफ-सफाई को लेकर अपनी ताकत झोंक दी है। बूढ़ी गंडक नदी के सीढ़ी घाट को तैयार करने के लिए जेसीबी लगाई गई। दलदल जगह पर मिट्टी भराई के साथ ही नदी की धार तक पहुंचने के लिए रास्ते को समतल किया गया। 

 

इधर, शहर के प्रमुख छठ घाट साहू पोखर, पड़ाव पोखर, विवि शिक्षक आवास परिसर स्थित पोखर में भी स्थानीय लोगों एवं पार्षद के सहयोग से साफ-सफाई का काम शुरू कर दिया गया है। साहू पोखर का पानी कचरे के चलते गंदा हो चुका है। सफाई के बाद पानी भी भरा जाएगा। सुरक्षा के मद्देनजर एसडीओ पूर्वी को वाच टावर का निर्माण कर दंडाधिकारी एवं पुलिस बल की तैनाती का आदेश दिया गया है। 

 

तीन पोखरिया में निरीक्षण के दौरान वार्ड पार्षद पति विजय झा ने डीएम को जानकारी दी कि तीन पोखरिया के जीर्णोद्धार एवं घाट निर्माण के लिए शहरी विकास विभाग ने 74 लाख रुपए आवंटित किए हैं। डीएम ने नगर आयुक्त एवं अभियंता को प्राक्कलन तैयार कर शीघ्र निर्माण कार्य शुरू कराने का निर्देश दिया है।

 

घाट तक जाने वाले रास्ते को चकाचक करना चुनौती
घाटों तक पहुंचने के रास्ते को चकाचक करना नगर निगम के लिए बड़ी चुनौती है। बाजार, मोहल्ले-टोले से लेकर घाट तक पहुंचने के रास्ते भी गंदगी से पटे हैं। विवि शिक्षक आवास स्थित तालाब तक पहुंचने वाली सड़क न सिर्फ जर्जर है, बल्कि नाला का पानी सड़क पर बह रहा है। पड़ाव पोखर तक पहुंचने के लिए अघोरिया बाजार से आने वाले व्रतियों को टूटी सड़कों से होकर गुजरना पड़ेगा। सड़कों पर जगह-जगह बड़े गड्ढे हैं, जहां से गुजरना आम दिनों में भी तकलीफदेह है।

 

छठ को लेकर बाजारों में बढ़ी चहल-पहल
छठ को लेकर बाजार की रौनक भी बढ़ गई है। धनतेरस व दिवाली के बाद बाजार में एक बार चहल-पहल बढ़ गई है। प्रमुख बाजार के साथ ही विभिन्न चौक-चौराहों पर फलों व पूजन सामग्री के दुकान सज गए हैं। वहीं, साड़ी, लहठी की दुकानों में ग्राहकों की भीड़ उमड़ रही है। मोतीझील, कल्याणी, सरैयागंज, सूतापट्टी में रविवार को भी कपड़े की दुकानें खुली रहीं। ग्रामीण क्षेत्रों से भी बड़ी संख्या में आए लोग कपड़े की खरीदारी करते दिखे।

 

पर्व को लेकर हाजीपुर से आई केले की खेप
पर्व को लेकर हाजीपुर से केले की बड़ी खेप आई है। आमगोला आेवरब्रिज के नीचे, जवाहरलाल रोड स्थित प्रमुख मंडी से खुदरा विक्रेता केला ले जा रहे हैं। इस बार हाजीपुर का केला बाजार में ज्यादा आया है। छठ पर्व में नारियल हर सूप में चढ़ाया जाता है। इसलिए काफी मात्रा में नारियल मंगाए गए हैं। 

 

सभी चौक-चौराहे पर सड़क किनारे बिक्री के लिए नारियल का ढेर लग गया है। ग्रामीण इलाकों से मिट्टी के चूल्हे को भी ठेला पर रखकर शहर के बाजार में लाया जा रहा है। प्रमुख बाजार कल्याणी से लेकर विभिन्न चौक-चौराहे पर सूप, डगरा, ढकिया की दुकानें सज गई हैं।

Astrology

Recommended

Click to listen..