पहली बारिश ने निगम की खोली पोल, कई मोहल्लों में भरा पानी

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सड़क पर बहता नाले का पानी। - Dainik Bhaskar
सड़क पर बहता नाले का पानी।
  • निगम ने 96 सफाई कर्मियों का बनाया दल, फिर भी गंदगी बरकरार

दरभंगा. मॉनसून की पहली बारिश के साथ ही नगर निगम के सफाई अभियान की पोल खुलने लगी है। हर साल की भांति इस साल भी शोर-शराबे के साथ बड़े नालों की सफाई के लिए एक महीना पहले से ही 96 सफाई कर्मियों का जंबो जेट दल बना दिया गया है। शुरुआती दौर में कुछ बड़े नालों की सफाई भी की गई। लेकिन गुजरते वक्त के साथ ही सफाई कार्य की चाल सुस्त पड़ती गई। अब आलम यह है कि बड़े नाले तो बड़े नाले छोटे नाले में भी बजबजती गंदगी शहरवासियों को अभी से ही परेशान करने के साथ ही डराने लगी है।

 

जर्जर नाले से बढ़ी परेशानी
वार्ड नंबर 24 और 25 के बीच की पुरानी मुंसफी सड़क की स्थिति पहले से ही बद से बदतर बनी हुई है। सड़क के दोनों किनारे जर्जर नाले का पानी सड़क पर ही जमा रहता है। वर्षा आते ही नीम चौक से नाका नंबर 5 व नेशनल सिनेमा की ओर जाने वाली सड़क की दुर्दशा होनी तय है। इसके अलावा नीम चौक से खान का चौक की ओर सड़क पर मानसून के पहले वर्षा के बाद से ही सड़क पर पानी फैलने लगा है। इतना ही नहीं शहर की कई कच्ची नाली से पानी उफान मारने लगा है। ऐसे में आने वाले दिनों में नगर निगम के सभी सफाई कार्यो पर पानी फिरने की पूरी आशंका है।

 

बरसात में स्थिति फिर से होगी भयावह 
नगर निगम के सफाई कर्मियों ने कई बड़े नालों की सफाई की है लेकिन नाली से निकला गया कचरा वहीं सड़क के किनारे छोड़ दिया गया है। जो फिर धीरे-धीरे नाली में जाने लगा है। सफाई के शुरुआती दौर में लहेरियासराय चट्टी से पूरब नहर की सफाई बंबईया चट्टी तक की गई थी। सतीश चंद्र झा व गज्जू चंद्र झा ने कहा की नगर निगम की उदासीनता से बरसात में स्थिति फिर से भयावह होने वाली है। समय पर नालों की सफाई कार्य में अनदेखी की गई है। 

 

सफाई कर्मियों का नहीं हो रहा सदुपयोग
वार्ड नंबर 37 के बड़े नाले की है वहां भी नगर निगम के सफाई कर्मी अभी तक सफाई कार्य के लिए नहीं पहुंचे हैं जब के इस नाले से शहर के अधिकतर वार्डों की जल निकासी का मार्ग है। वार्ड पार्षद रियासत अली खान ने कहा सफाई कार्य में लगाए गए कर्मियों का सदुपयोग नहीं किया जा रहा है। सफाई कर्मियों के कार्य का अधिकारी निरीक्षण नहीं कर रहे हैं जिसका परिणाम है कि सफाई कर्मी जैसे तैसे काम करके खानापूर्ति करने में लगे हुए हैं।

 

हर दिन के कार्यों की हो रही समीक्षा 
नगर निगम ने बरसात आने से पहले बड़े नालों की सफाई के लिए सभी वार्डाें से दो-दो सफाई कर्मियों को लेकर जंबो गैंग बनाया गया था। गैंग को तीन जीन जोन प्रभारियों के हवाले किया गया था। सभी गैंग में 32 सफाई कर्मी है। इन सफाई कर्मियांे को प्रतिदिन 50 रुपए की दर से चाय नाश्ता के लिए दैनिक मजदूरी के अतिरिक्त भुगतान किया जाता है। रोज के सफाई कार्याें की निगरानी के लिए उपनगर आयुक्त से लेकर नगर प्रबंधक व अन्य अधिकारियों को लगाया गया है। 

खबरें और भी हैं...