पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

चमकी बुखार से पीड़ित दाे बच्चों व एक बच्ची की मौत

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
हेल्थ रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर

एसकेएमसीएच में शुक्रवार की शाम चमकी-बुखार से पीड़ित दाे बच्चों अाैर एक बच्ची की इलाज के दौरान मौत हो गई। सभी का गंभीर हालत में इलाज चल रहा था। मृतकों में मोतिहारी के मेहसी के मिठनपुरा गांव के कैलाश राम के 7 वर्षीय पुत्र धीरज कुमार, बंदरा गांव के पूजन दुबे की पुत्री नूनू कुमारी और कांटी का गौरव कुमार शामिल है। इधर, पीआईसीयू में पूर्व से भर्ती 14 बच्चों की हालत गंभीर बनी हुई है। शिशुरोग विभागाध्यक्ष डॉ. गोपाल शंकर सहनी ने बताया कि मौसम गर्म रहने के कारण चमकी-बुखार के मरीज आ रहे हैं। अब बारिश हाेने से मौसम ठंडा हुआ है। शुक्रवार को चमकी बुखार के लक्षण वाले कम मरीज आए। लगातार बारिश होने से ही बीमारी कम होगी।

13 हजार फीस के लिए नवजात काे रेफर के बाद भी दिन भर नहीं किया डिस्चार्ज
मुजफ्फरपुर|ब्रह्मपुरा स्थित एक निजी अस्पताल में 13 हजार रुपए फीस के लिए नवजात को बंधक बना कर रखने का मामला सामने अाया है। अाराेप है कि नवजात काे निजी अस्पताल रेफर किया गया। 13 हजार बकाया पैसा नहीं रहने से रेफर करने में घंटाें विलंब हुअा। शाम में बकाया जमा करने पर नवजात को डिस्चार्ज किया गया। गोपालगंज के महमदपुर निवासी नवजात के मामा ओम प्रकाश ने बताया, 3 सितंबर को बच्चे का जन्म हुआ। सांस लेने में दिक्कत होने पर बच्चे को 4 सितंबर काे जूरन छपरा के दाे व अहियापुर के एक निजी अस्पताल में दिखाया। फिर नवजात काे ब्रह्मपुरा के एक अस्पताल में भर्ती कराया। शुक्रवार को 65 हजार रुपए का बिल देते हुए कहा गया कि बच्चे के हाॅर्ट में परेशानी है। उसे पटना ले जाइए, जबकि उनके पास 52 हजार रुपए ही थे, जिसे जमा कर दिया गया था। शेष 13 हजार रुपए के लिए नवजात को बिना ऑक्सीजन के अस्पताल में दिनभर रखा गया।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें