--Advertisement--

बेटी के BF से बदला लेने उसकी बहन से लिया बदला, इतने से भी नहीं भरा मन तो गांव में मचाया कोहराम

पुरानी रंजिश की अचानक भड़क उठी आग, धू-धू कर जले छह घर

Danik Bhaskar | Jun 16, 2018, 12:10 AM IST
  • बिहार के जयसिंह पुर गांव में छेड़खानी के बदले छेड़खानी
  • दो पक्षों में बढ़ा विवाद, जला डाले छह परिवारों के घर
  • पुलिस ने रोका, तो उनपर भी पेट्रोल से किया हमला

मोतीहारी (बिहार). बिहार के जयसिंहपुर गांव में बीते रविवार छेड़खानी के बदले छेड़खानी की गई। इससे एक गांव के दो पक्षों में विवाद बढ़ता चला गया। भीतर ही भीतर बदले की आग सुलगती चली गई। यह आग इतनी बढ़ गई कि गुरुवार की सुबह एक पक्ष के चार हजार से अधिक की संख्या में लोग इकट्ठा हो गए। इसके बाद पहले जमीन पर कब्जा किया। फिर दूसरे पक्ष के एक घर की चहारदीवारी तोड़ दी। सूचना पर पुलिस भी पहुंची। मामलों को शांत कराने में जुटी ही थी कि तीसरे पक्ष के लोगों ने एक पक्ष के साथ मिलकर घरों में आग लगाना शुरू कर दिया। टीआई पर पेट्रोल से किया हमला...

- उपद्रवियों की तुलना में पुलिस की संख्या कम थी। पुलिस के विरोध करने पर उपद्रवी पुलिस से भी उलझ गए। उपद्रवियों ने तुरकौलिया थानाध्यक्ष अखिलेश मिश्रा पर भी पेट्रोल फेंक दिया। देखते ही देखते एक के बाद एक कर छह घरों को आग के हवाले कर दिया। इसमें लगभग छह लाख रुपए की संपत्ति जलने का अनुमान लगाया जा रहा है।

ऐसे गरमाया पूरा मामला

- लोगों ने बताया कि शौच करने गई एक लड़की के साथ गांव के ही लड़के ने छेड़खानी कर दी। पूछने पर लड़की के परिजन आक्रोशित हो गए। वे बार-बार लड़के को जान से मारने की धमकी देने लगे। इसके बाद गुरुवार को करीब चार हजार की संख्या में लोग इकट्ठा हुए। फिर हंगामा शुरू कर दिया।

- गांव में कई तरह की चर्चाएं हैं। बताया जाता है कि उक्त गांव के लड़के का लड़की से अफेयर चल रहा था। इस दौरान लड़की के पिता ने उसे लड़के के साथ आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया। इससे नाराज होकर पिता ने लड़के की बहन के साथ गलत हरकत कर दी। इसी बात को लेकर विवाद था।

भूमि विवाद को लेकर मामले में आ गया तीसरा पक्ष

- पीड़ित परिवार के लोगों ने बताया कि उनके पूर्वजों के समय से वे सड़क किनारे झोपड़ी बनाकर रहते चले आ रहे हैं। उनके घरों के पीछे गांव के एक समुदाय के कुछ लोगों की जमीन है।

- जैसे ही एक पक्ष के लोगों ने उनके घरों पर हमला किया। तभी तीसरे पक्ष के लोग भी उनके साथ मिल गए। इसके बाद छह घरों में फूंक दिया। हमले के वक्त गांव में चारों तरफ चीख पुकार मच गई थी।

- लोग कुछ समझ नहीं पा रहे थे। जो जहां था वहीं से दौड़ रहा था। तभी उपद्रवी घटनास्थल पर जमा हो गए। इसके बाद उपद्रवियों ने घरों में आग लगा दिया। इसमें छह घर जलकर राख हो गए।

छावनी में तब्दील हुआ गांव

- हालात बेकाबू होता देख तुरकौलिया थाने की पुलिस ने सीनियर अधिकारियों को सूचना दी। इसके बाद आसपास के सभी थानों की पुलिस को घटनास्थल पर बुला लिया गया। राइट कंट्रोल वाहन के साथ पुलिस लाइन से 100 की संख्या में महिला और पुरुष जवानों को बुलाया गया। धीरे-धीरे गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। गांव में हालात तनावपूर्ण हैं। पुलिस के कई अधिकारी गांव में कैंप कर रहे हैं।

- मामले में तुरकौलिया के टीआई अखिलेश मिश्रा ने कहा- शिकायत मिलने पर एफआईआर दर्ज की जाएगी। उपद्रवियों ने पुलिस पर भी हमला किया था। इस मामले में भी एफआईआर दर्ज की जाएगी।

Related Stories