आईसीटी के 10 अॉनलाइन प्लेटफॉर्म से घर बैठे ही पढ़ाई कर सकते हैं स्टूडेंट्स

Muzaffarpur News - लॉकडाउन के कारण घर बैठे-बैठे ही स्टूडेंट्स, शिक्षक व रिसर्च स्कॉलर आईसीटी यानी इंफॉर्मेशन कम्युनिकेशन...

Mar 27, 2020, 07:36 AM IST

लॉकडाउन के कारण घर बैठे-बैठे ही स्टूडेंट्स, शिक्षक व रिसर्च स्कॉलर आईसीटी यानी इंफॉर्मेशन कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी से अपनी पढ़ाई कर सकते हैं। सोशल डिस्टेंस को कायम रखने की अपील करते हुए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने अॉनलाइन लर्निंग की व्यवस्था सुनिश्चित कराई है। इसको लेकर बीआरए बिहार विवि के कुलपति समेत सभी विवि के वीसी व सभी कॉलेजों के प्राचार्यों को निर्देश दिया है। इसमें यूजीसी ने 10 अॉनलाइन प्लेटफॉर्म का लिंक भेजते हुए कहा है कि इसकी जानकारी सभी विवि व कॉलेज अपने-अपने वेबसाइट पर अपलोड करें ताकि छात्र-छात्राओं को अधिक से अधिक इसका फायदा मिल सके। आयोग का मानना है कि कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न इस संकट की घड़ी में अपने घरों में बैठे छात्र इस समय का इस्तेमाल ऑनलाइन लर्निंग के लिए कर सकते हैं।

लॉकडाउन में समय के सदुपयोग व पढ़ाई के लिए यूजीसी ने सुझाए उपाय

1. स्वयं ऑनलाइन कोर्सेज - स्वंय प्लेटफॉर्म पर छात्र-छात्राएं बिना किसी शुल्क व रजिस्ट्रेशन के एक्सेस कर अपनी पढ़ाई कर सकते हैं। वहीं जनवरी में रजिस्ट्रेशन करने वाले भी अपनी पढ़ाई को आगे बढ़ा सकते हैं।इस प्लेटफॉर्म पर इंजीनियरिंग, नॉन इंजीनियरिंग, सेकेंडरी, सीनियर सेकेंडरी, एनसीईआरटी टेक्स्ट बुक्स के साथ प्रोग्रामिंग, रोबोटिक्स, वर्चुअल साइंटिफिक एक्सपेरिमेंट्स, एजुकेशनल सॉफ्टवेयर्स के बारे में जानकारी मिलती है। इसके लिए http://storage.googleapis.com/uniquecourses/online.html पर लॉगिन करना है।

2. मैसिव ओपन अॉनलाइन कोर्सेज - यूजी व पीजी के छात्र-छात्राओं के लिए मूक्स कोर्सेज यानी मैसिव ओपन अॉनलाइन कोर्सेज से काफी फायदा होगा। इसमें सामान्य कोर्स के छात्र-छात्राओं के लिए काफी कंटेंट उपलब्ध है।इन्हें एक्सेस करने के लिए http://ugcmoocs.inflibnet.ac.in/ugcmoocs/moocs_courses.php पर लॉगिन करना है।

3. ई पीजी पाठशाला - इस अॉनलाइन प्लेटफॉर्म पर उच्च गुणवत्ता वाले इंटरेक्टिव कंटेंट के साथ-साथ ई टेक्सट, वीडियो के साथ-साथ 23 हजार मॉड्यूल्स के अलावा आर्ट्स, सोशल साइंस फाइन आर्ट्स, मानविकी से लेकर नैचुरल व मैथेमैटिकल साइंस की पीजी स्तरीय पाठ्यक्रम उपलब्ध है। इसे https://epgp.inflibnet.ac.in/ पर एक्सेस कर सकते हैं।

8. शोधगंगा - शोधगंगा पर 2 लाख 60 हजार इलेक्ट्रॉनिक थीसिस व छात्र-छात्राओं के शोध प्रबंध उपलब्ध हैं। पीएचडी के छात्र-छात्राओं के शोध को इस प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कराया जाता है ताकि लोग इससे जानकारी ले सकें। https://shodhganga.inflibnet.ac.in/ पर 2.60 लाख इलेक्ट्रॉनिक थीसिस उपलब्ध हैं।

9. ई शोध सिंधु - ई शोध सिंधु पर 15 हजार से अधिक महत्वपूर्ण जर्नल समेत अन्य उपयोगी सामग्रियों का भंडार है। इसमें https://ess.inflibnet.ac.in/ पर एक्सेस कर 15 हजार करोड़ से अधिक जर्नल्स मिल सकते हैं।

10. विद्वान - इस पोर्टल पर विशेषज्ञों की एक टीम है। यह मूल रूप से विभिन्न संकायों के एक्सपर्ट शिक्षकों के लिए है। ई-लर्निंग में एक बड़ी बाधा एक्सपर्ट्स के व्यू की है जो https://vidwan.inflibnet.ac.in/ पर दूर होती है। यह एक्सपर्ट्स का डाटाबेस है, जिससे स्टूडेंट्स अपने एक्सपर्ट्स से सीधे कांटेक्ट के माध्यम ढूंढ सकते हैं।

4. ई कंटेंट कोर्स वेयर - यहां स्टूडेंट्स को 87 यूजी कोर्सों के लिए कंटेंट मिलेगा। इसमें लगभग 24,110 मॉड्यूल सीईसी की वेबसाइट पर दिए गए हैं। ई-कंटेंट http://cec.nic.in/ पर उपलब्ध है।

5. स्वयंप्रभा - https://swayamprabha.gov.in/ 32 डीटीएच चैनलों का ऐसा ग्रुप है जहां आर्ट्स, साइंस, सोशल साइंस, ह्यूमैनिटीज, परफॉर्मिंग आर्ट्स आदि सभी फैकल्टीज के ऑनलाइन वीडियोज अवेलेबल हैं। इसमें उच्च गुणवत्तापूर्ण और शोध आधारित पाठ्यक्रम की जानकारी दी जाती है। इसमें कला, साइंस, कॉमर्स, सोशल साइंस, मानविकी, इंजीनियरिंग, टेक्नोलॉजी, लॉ, मेडिसिन व कृषि से लेकर अन्य विभागों की पूरी डिटेल जानकारी छात्र-छात्राओं को उपलब्ध कराई जाती है। ये सभी चैनल बिल्कुल मुफ्त में उपलब्ध हैं।

6. सीईसी-यूजीसी यू ट्यूब चैनल - इस पर विभिन्न विषयों पर मुफ्त में विद्वानों के लेक्चर उपलब्ध हैं। जिसे https://www.youtube.com/user/cecedusat पर एक्सेस किया जा सकता है।

7. नैड यानी नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी - नैड के प्लेटफॉर्म पर सभी भारतीय भाषाओं में रिसर्चरों के लिए जानकारी अपलोड है। जिसे https://ndl.iitkgp.ac.in/ पर एक्सेस कर सकते हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना