अब तक 33 जमातियों की काेराेना जांच, किसी में बीमारी के लक्षण नहीं

Muzaffarpur News - बिशनपुर जगदीश पंचायत के आथर स्कूल में पिछले दो दिनों से रखे गए 11 मजदूरों की न तो जांच हुई और न ही उन्हें भोजन मिल...

Apr 05, 2020, 06:51 AM IST

बिशनपुर जगदीश पंचायत के आथर स्कूल में पिछले दो दिनों से रखे गए 11 मजदूरों की न तो जांच हुई और न ही उन्हें भोजन मिल रहा था। आखिरकार शनिवार की देर शाम सभी लोग अपने-अपने घर चले गए। मजदूरों ने बताया कि 2 अप्रैल को कोलकाता से गांव लौटने पर पंचायत के आथर स्कूल में बने क्वारेंटाइन सेंटर के एक कमरे में सभी लोगों को रखा गया था। जांच के लिए स्थानीय अस्पताल की ओर से एक एनएम और एक डॉक्टर आए। लेकिन, सिर्फ नाम-पता लिख कर चले गए। किसी तरह की कोई जांच नहीं की। यहां भोजन का भी प्रबंध नहीं किया गया था। जिस कारण घर से भोजन मंगाना पड़ा। पंचायत के मुखिया विनोद राम ने बताया कि चिकित्सकों की टीम ने सभी प्रवासी मजदूरों को क्वारेंटाइन सेंटर में ही रहने को कहा है। इसके बावजूद ये लोग अपने घर चले गए हैं। भोजन के लिए पंचायत स्तर पर कोई सरकारी फंड नहीं है। अपने स्तर से भोजन की व्यवस्था करने के लिए खरीदारी की गई है। शनिवार से इन लोगों को भोजन दिया जाना था। लेकिन, इससे पहले यह मजदूर अपने-अपने घर चले गए।

क्वारेंटाइन सेंटर में रखे गए 11 मजदूरों की न जांच हुई, न मिला भोजन, लौट गए अपने घर

क्राइम रिपाेर्टर|मुजफ्फरपुर

जिले में अब तक 33 जमातियाें की काेराेना से संबंधित जांच कराई गई है। पुलिस व प्रशासनिक अमले ने अलग-अलग इलाके में रुके हुए जमातियाें की तलाश की है। शनिवार काे गुजरात से अाए 17 जमातियाें की जांच कराई गई। किसी में काेराेना के लक्षण नहीं मिले हैं। सभी काे एसकेएमसीएच के डाॅक्टर ने हाेम क्वारेंटाइन की सलाह दी है। इन लाेगाें ने जानकारी दी है कि बीते 15 दिसंबर काे वह गुजरात से अाए थे। वह दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज नहीं गए थे। लाॅकडाउन के बाद मुजफ्फरपुर में ही थे। इससे पहले निजामुद्दीन मरकज से फरवरी व मार्च में लाैटे सकरा इलाके के 12, मिठनपुरा के दाे अाैर काजी माेहम्मदपुर इलाके के 10 लाेगाें की जांच कराई गई थी। इन 16 लाेगाें में भी काेराेना के लक्षण नहीं मिले थे। सभी की स्क्रीनिंग के बाद हाेम क्वारेंटाइन का निर्देश दिया गया था। इसके अलावा दिल्ली से मुजफ्फरपुर लाैटे अब 431 अाैर लाेगाें की प्रशासन काे तलाश है। इनमें मरकज से भी अाने वाले हाे सकते हैं। राज्य स्वास्थ्य समिति ने जिला व पुलिस प्रशासन काे सभी के नाम-पते के साथ पूरा ब्याेरा उपलब्ध करा दिया है।

क्वारेंटाइन में रखे गए मजदूर।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना