--Advertisement--

फूलों से सीखो हंसना-हंसाना व चांद से दिल का लगाना...

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 04:35 AM IST

Muzaffarpur News - अयोध्या प्रसाद खत्री साहित्यिक सेवा संस्थान की ओर से रविवार को गांधी पुस्तकालय में मासिक काव्य गोष्ठी का आयोजन...

Muzaffarpur News - learn from flowers laugh and laugh at the moon
अयोध्या प्रसाद खत्री साहित्यिक सेवा संस्थान की ओर से रविवार को गांधी पुस्तकालय में मासिक काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस दौरान गीत, गजल से गांधी पुस्तकालय का सभागार देर शाम तक गुलजार रहा। कवि विष्णुकांत झा ने मां का जन्म दिया जिस बेटे ने मुझे, दो जून का भी खाना खिलाता नहीं...गीत से देश परिवार की हकीकत को बयां किया। रामउचित पासवान ने फूलों से सीखो हंसना-हंसाना और चांद से तू दिल का लगाना... गजल गाया तो सभागार तालियों से गूंज उठा। आलोक कुमार अभिषेक ने धुआं वाहन प्रतिबंधित हो, रेल, बस, साइकिल की सवारी हो एक तिहाई भूमि पर केवल पेड़, जंगल और झाड़ी हो... के जरिये पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया। ठाकुर विनय कुमार शर्मा ने वक्ते रुखसती जब फरामोश हो बल खाती है छंटती तनहाइयां मुझसे न संभल पाती है, सुमन कुमार मिश्र ने जब कवि का हृदय जगता है तो कविता का सृजन होता है, हरिनारायण गुप्ता ने सो गया सारा जमाना, मुझको नींद आती नहीं, आसमां वाले मुझे तेरी जमीं भाती नहीं, नागेंद्र नाथ ओझा ने मिटे कलुषता मन की भ्रांति जय हो जय हो मकर संक्रांति...गीत गाकर लोगों को मकर संक्रांति पर्व की शुभकामनाएं दी। इस मौके पर जगदीश शर्मा, नागेंद्र राम साथी, दीनबंधु आजाद, अनिल कुमार, अंजनी कुमार पाठक, संजय गर्ग, तेजनारायण ठाकुर, सत्यनारायण मिश्र मयंक, उमेश राज, सिबगतुल्लाह हमीदी आदि ने अपनी प्रस्तुतियों से मन मोहा।

गांधी पुस्तकालय में हुई मासिक काव्य गोष्ठी

ठंड के बावजूद मंदिर परिसर में जुटी श्रद्धालुओं की भीड़

साहेबगंज | महावीर स्थान मंदिर परिसर में 33वें वर्ष हो रहे श्री राम नाम अखंड संकीर्तन सह नवाह अष्टयाम में 7वें दिन रविवार को श्रद्धालु भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी। संगीतमय रामधुन में कोलकाता की तपन बनर्जी, मुजफ्फरपुर के मुकेश ठाकुर सहित नेपाल से आई मंडली शामिल हुई। श्री राम जय राम जय जय राम की संगीतमय धुन व संकीर्तन में स्त्री -पुरुषों की भीड़ ठंड के बावजूद मंदिर परिसर में जुट रही।

X
Muzaffarpur News - learn from flowers laugh and laugh at the moon
Astrology

Recommended

Click to listen..