विज्ञापन

कटरा में तेंदुए ने हमला कर 10 वर्षीय बच्ची समेत 15 को किया जख्मी, लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला

dainikbhaskar.com

Apr 16, 2019, 01:03 PM IST

बिहार न्यूज : तेंदुआ के अंगों की तस्करी न हो इसलिए जला दिया

  • comment

सिंहवाड़ा/कटरा/मुजफ्फरपुर (बिहार)। कटरा थाना के तेहवारा पंचायत के चिचरी बसंत गांव में सोमवार सुबह 7 बजे तेंदुए ने हमला कर 10 साल की बच्ची समेत 15 लोगों को जख्मी कर दिया। एक घर में घुसे तेंदुए को लोगों ने घेर कर भाला व दबली से हमला कर लहूलुहान कर दिया। जब तक वन विभाग की टीम रेस्क्यू करने मौके पर पहुंची तब तक आक्रोशित लोगों ने ईंट-पत्थर से मार कर तेंदुए की जान ले ली। रेंज ऑफिसर के यहां तेंदुए की हत्या को लेकर एफआईआर दर्ज की जा रही है। जख्मी लोगों को सिंहवाड़ा पीएचसी में प्राथमिक इलाज करने के बाद डीएमसीएच रेफर कर दिया गया।
तेंदुआ शिव कुमार सहनी के घर के पीछे बागीचे में छिपा था। सुबह पौधों में पानी देने पहुंची 10 साल की कोमल पर उसने हमला कर दिया। कोमल के शोर मचाने पर 20-25 लोग पहुंचे। तेंदुए ने झपट्टा मारकर उसका बायां हाथ व पैर नोंच डाला और एक व्यक्ति का पेट फाड़ दिया। इस बीच, तेंदुए को लोगों ने घेरकर भाला व दबिया से मार डाला। डीएफओ सुधीर कुमार कर्ण के नेतृत्व में जब वन विभाग की टीम पहुंची तो चिचरी बसंत गांव के मध्य विद्यालय के पीछे तालाब में तेंदुए का शव कीचड़ में मिला। वन विभाग की टीम ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के बाद शेरपुर स्थित वन विभाग के परिसर में जला दिया। तेंदुए के अंगों की तस्करी की आशंका को देखते हुए उसे दफनाने के बजाय जलाया गया।

51 किलो का मादा तेंदुआ 10 साल का था, नेपाल के जंगल से पहुंचा था

पोस्टमार्टम के दौरान तेंदुआ के हार्ट, लंग्स व फेफड़ा में भाले का गहरा जख्म पाया गया। पोस्टमार्टम से जुड़े टीम का कहना है कि बुरी तरह से भाला से गोदने के बाद पीट-पीट कर तेंदुए की जान ली गई। तेंदुए की उम्र 10 साल और वजन 51 किलो था। मुजफ्फरपुर, मोतिहारी व दरभंगा इलाके में तेंदुए अक्सर आ जाते हैं। पिछले साल साहेबगंज में भी तेंदुआ घुस आया था। दो साल पहले तेंदुआ के हमला से कई लोग जख्मी हुए थे। डीएफओ ने कहा कि संभवत: नेपाल के जंगल से भटक कर तेंदुआ नदी के रास्ते इस इलाके में पहुंचा। एक रात में तेंदुआ 50 किमी की दूरी तय करता है।

देरी से पहुंचने पर ग्रामीणों ने जताया विरोध

ग्रामीणों ने वन विभाग के अधिकारियों के देरी से पहुंचने पर हंगामा किया। वन अधिकारी का कहना है कि 70 किलोमीटर की दूरी व रास्ता खराब होने की वजह से करीब सवा 10 बजे टीम गांव पहुंची। पूछताछ में जानकारी मिली कि हमला में जख्मी होने के बाद सुबह 8 बजे तक तेंदुआ की जान लोगों ने पीट-पीट कर ले ली। सुबह करीब सवा सात बजे मोबाइल पर तेंदुआ के हमले की सूचना मिली थी।

बचने को छत पर भागे बस्तीवासी तेंदुए ने चीर डाला रवींद्र का पेट

तेहवारा पंचायत के चिचरी गांव में सोमवार की अहले सुबह तेंदुए के पहुंचने से घर में मौजूद महिलाएं अपने बच्चों समेत जान बचाने के लिए अपने घरों के छत पर भागे। कोई अपना घर का दरवाजा बंद करता दिखाई दिया तो कोई दूर भागते। जब तक रेस्क्यू टीम पहुंचती तेंदुए ने दो स्कूली छात्र कोमल कुमारी, मणी कुमार, गणेश कुमार, अमरजीत सहनी, नीतेश कुमार, रजिया देवी, जितेन्द्र सहनी, रविन्द्र सहनी समेत 15 लोगों को जख्मी कर दिया।
प्राथमिक उपचार के बाद सिंहवाड़ा पीएचसी से रविन्द्र सहनी को डीएमसीएच रेफर किया गया। इस दौरान तेंदुआ शिवकुमार सहनी के घर में घुस गया। जहां मौके पर जुटी भीड़ ने जाल, मच्छरदानी समेत अन्य समान से घेर मार डाला। तेंदुआ ने ग्रामीणा रविन्द्र के पेट पर हमला कर पेट को चीर दिया। रविन्द्र सहनी की हालात गंभीर बताई जाती है।

हमले में ये हुए जख्मी

जय प्रकाश कुमार, वीर बहादुर सिंह, विभा देवी, आयुष कुमार, अवधेश कुमार कर्ण, कुंवर सिंह, कोमल कुमारी, सीता देवी, गणेश सिंह, अमरजीत कुमार, जितेंद्र कुमार, नितेश कुमार, रजिया देवी, मंति कुमारी, राजेंद्र सहनी।

X
COMMENT
Astrology
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन