बेतिया / बालिका गृह से मुक्त लड़की की गैंगरेप मामले में हुई मेडिकल जांच, दो माह की गर्भवती भी है पीड़िता

Medical examination of girl released from girl child in gang rape case
X
Medical examination of girl released from girl child in gang rape case

  • मां नहीं चाहती थी कि दुष्कर्म का मामला उजागर हो 
  • आरोपियों को सजा दिलाने के लिए पीड़िता पहुंची थाने

दैनिक भास्कर

Sep 16, 2019, 10:37 AM IST

बेतिया. शहर में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई मुजफ्फरपुर बालिका गृह से मुक्त लड़की का इलाज जीएमसीएच में चल रहा है। उसकी हालत ठीक है। इस मामले में एफआईआर दर्ज करने के बाद रविवार दोपहर पीड़िता की मेडिकल जांच कराई गई।

 

शुक्रवार की रात चार युवकों ने उसे अगवा कर चलती गाड़ी में गैंगरेप किया था। पीड़िता के बयान के आधार पर महिला थाने में मामला दर्ज किया गया है। पीड़िता ने इलमराम चौक निवासी आकाश कुमार, राजन कुमार, दीनानाथ कुमार एवं इंदिरा चौक निवासी कुंदन कुमार को आरोपित किया है। वहीं, जीएमसीएच की डॉक्टर रुबी के अनुसार पीड़िता दो माह की गर्भवती है। प्रथम दृष्टया दुष्कर्म का मामला सामने आया है। कहा जा रहा है कि पीड़िता की मां चाहती थी कि बात उजागर नहीं हो, ताकि बदनामी ना हो।

 

पुलिस ने अस्पताल प्रबंधन से 4 बिंदुओं पर मांगी रिपोर्ट
इस मामले में पुलिस ने अस्पताल प्रबंधन से 4 बिंदुओं पर रिपोर्ट मांगी है। इसमें पीड़िता के साथ यौन शोषण हुआ है या नहीं? उम्र कितनी है? पीड़िता के कपड़े की जांच आदि रिपोर्ट शामिल है।

 

मुजफ्फरपुर बालिका गृह में रह चुकी है पीड़िता
पीड़िता भागकर मुजफ्फरपुर चली गई थी। वह बालिका गृहकांड होने के दो दिन पूर्व ही मुजफ्फरपुर बालिका गृह में पहुंची थी। उस मामले में पीड़िता को सात लाख का मुआवजा भी मिल चुका है। पीड़िता की शादी एक साल पहले ही शहर की एक कॉलोनी में हुई थी। उसका पति व पिता दोनों नेपाल में रहकर कोई काम करते हैं। यहां पीड़िता अपनी मां व छोटे भाई के साथ रहती है।

 

DBApp

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना