बिहार / सेना में बहाली के नाम पर दर्जनों युवकों को ठगने वाला आर्मी जवान पकड़ा गया

गिरफ्तार जवान सुनील कुमार राय। गिरफ्तार जवान सुनील कुमार राय।
X
गिरफ्तार जवान सुनील कुमार राय।गिरफ्तार जवान सुनील कुमार राय।

  • मुजफ्फरपुर का निवासी है फौजी, सेना के आर्डिनेंस कोर का है जवान, साथी की तलाश में जुटी पुलिस
  • मुजफ्फरपुर के चक्कर मैदान में सेना की भर्ती रैली के दौरान युवकों से लिए थे दो-दो लाख रुपए

दैनिक भास्कर

Mar 06, 2020, 06:19 AM IST

मुजफ्फरपुर. सेना में भर्ती के नाम पर बेरोजगार युवकों को ठगने वाले एक सैन्यकर्मी को मुजफ्फरपुर पुलिस ने गुरुवार की शाम बेला थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार जवान मुजफ्फरपुर का ही रहने वाला सुनील कुमार राय है, जो सेना के ऑर्डिनेंस काेर का जवान है। सुनील तथा एक अन्य दीपक के खिलाफ महंथ मनियारी के रहने वाले पुष्पराज ने बेला थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। पुष्पराज ने बताया कि दीपक उसके गांव का ही रहने वाला है। नवंबर-दिसंबर 2019 में मुजफ्फरपुर के चक्कर मैदान में सेना की भर्ती रैली हुई थी। इस दौरान सुनील व दीपक ने दर्जन भर युवकों से सेना में भर्ती कराने के नाम पर दो से ढाई लाख तक रुपए लिए थे।

पुष्पराज ने बताया कि उनके झांसे में आकर उसने भी ढाई लाख रुपए दिए। बहाली नहीं होने पर रुपए मांगे तो सुनील और दीपक टालमटोल करने लगे। किसी तरह ठगी के शिकार अन्य युवकों ने सुनील काे धीरनपट्टी गांव में बातचीत करने के लिए बुलाया जहां रुपए लौटाने में सुनील की आनाकानी करने पर हंगामा होने लगा। स्थानीय लाेगाें से सूचना मिलने पर पहुंची बेला थाने की पुलिस ने सुनील को गिरफ्तार कर लिया। थाने लाकर तलाशी लेने पर उसके पास से सेना का आई कार्ड, कैंटीन का स्मार्ट कार्ड तथा कुछ अन्य कागजात बरामद हुए हैं। पूछताछ के दौरान सुनील ने एक अन्य सेना के जवान के बारे में बताया  जिसके माध्यम से वह ठगे गए युवकों के संपर्क में आया था। सुनील के गिरफ्तार होने की जानकारी मिलने पर आधा दर्जन अन्य युवकों ने थाने पहुंच शिकायत दर्ज कराई। मुजफ्फरपुर एसएसपी जयंत कांत ने बताया कि मामले के दूसरे नामजद आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी की जा रही है।

दानापुर मिलिट्री इंटेलिजेंस की टीम ने मुजफ्फरपुर पहुंचकर की तहकीकात

भर्ती के नाम पर ठगी के आरोप में सुनील के गिरफ्तार होने की जानकारी मिलते ही दानापुर मिलिट्री इंटेलिजेंस इकाई की टीम पूछताछ के लिए बेला थाने पहुंच गई। पूछताछ के दौरान यह पता चला कि सुनील सेना के ऑर्डिनेंस कोर का जवान है। आर्मी इंटेलिजेंस की टीम यह पता लगाने में जुटी है कि वह कहां पर पदस्थापित है। बहाली के नाम पर ठगी के रैकेट में शामिल उसके अन्य साथियों का भी पता लगाया जा रहा है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना