एनजीओ का सचिव सकरा का नहीं साहू रोड के रमेश थे; हो चुकी है मृत्यु

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 04:31 AM IST

Muzaffarpur News - क्राइम रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर ब्रजेश की राजदार मधु से पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है। उसने पुलिस को बताया है कि...

Muzaffarpur News - ngo secretary sakura was ramesh of sahu road have died
क्राइम रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर

ब्रजेश की राजदार मधु से पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है। उसने पुलिस को बताया है कि बालिकागृह का संचालन कर रही एनजीओ सेवा संकल्प एवं विकास समिति का सचिव सकरा का रमेश कुमार नहीं है, बल्कि साहू रोड के रमेश पोद्दार संगठन के सचिव थे। ऐसे सारा कंट्रोल ब्रजेश ठाकुर के हाथ में ही था। दो दिन की रिमांड में मधु से नगर डीएसपी मुकुल कुमार रंजन और महिला थानेदार ज्योति कुमारी ने पूछताछ की जिसमें यह नया तथ्य सामने आया। इस संबंध में नगर डीएसपी ने बताया कि महिला थाने की पुलिस ने साहू रोड के लोगों से रमेश पोद्दार के संबंध में जानकारी जुटा रही। उनका एक साल पहले देहांत होने की बात सामने आई है। मधु बयान कोर्ट में पेश किया जाएगा। मधु के इस खुलासे के बाद बाल संरक्षण इकाई की फाइल और रिकॉर्ड पर भी सवाल उठ रहे हैं। विभागीय कागजात में सकरा के रमेश कुमार का नाम सचिव के रूप में पेश किया गया है। इसके आधार पर सकरा के रमेश कुमार से पूछताछ हुई। उनकी संपत्ति जब्ती का डीएम कोर्ट से आदेश भी जारी किया गया है। डीएम कोर्ट में चले वाद के दौरान सकरा के रमेश कुमार दिल्ली से पहुंचे। उन्होंने कोर्ट को बताया कि वह बीते 15 वर्षों से दिल्ली में रहकर एक निजी कंपनी में नौकरी कर रहे हैं। वह सेवा संकल्प एवं विकास समिति के सचिव नहीं थे और ब्रजेश से भी उनका कोई जुड़ाव नहीं है। रमेश ने यह भी कहा था कि यदि उनके नाम पर बालिकागृह भवन को किराए पर देने का ब्रजेश ठाकुर ने कोई एग्रीमेंट बनाया है तो वह जाली है, क्योंकि वह कभी बालिकागृह नहीं गया है और नहीं एग्रीमेंट बनाई है। सकरा के रमेश ने सेवा संकल्प एवं विकास समिति या उनके नाम से अर्जित की गई संपत्ति को जब्त करने पर भी कोई आपत्ति नहीं की। डीएम ने रमेश के इस बयान के आधार पर फर्जी एग्रीमेंट बनाए जाने को लेकर अलग से कानूनी कार्रवाई करने का आदेश भी सहायक निबंधन पदाधिकारी को दिया था। मधु के बयान से अब सकरा के रमेश को सचिव बताने वाले अधिकारी भी लपेटे में आ सकते हैं।

रहस्यमय ढंग से लापता हुई मधुबनी की किशोरी के संबंध में विक्की से जानकारी ले रही सीबीआई

मधुबनी के फुलपरास की किशोरी समेत बालिकागृह से रहस्यमय ढंग से लापता हुई दो किशोरियों का सुराग अब तक नहीं लगा है। मधु की बहन का पुत्र विक्की भी मधुबनी के झंझारपुर इलाके का रहने वाला है। उसे लापता किशोरी की जानकारी हो सकती है। इसके अलावा यह भी स्पष्ट हुआ है कि मधुबनी में ब्रजेश की संगठन से कई रसूखदार जुड़े हैं। बालिकागृह से मधुबनी भेजी गई एक किशोरी को गायब कर दिया गया था। सीबीआई विक्की से ब्रजेश के नेटवर्क के बारे में जानकारी ले रही है। बता दें कि सीबीआई अगले पांच दिन तक विक्की से पूछताछ के आधार पर छापेमारी करेगी।

बालिकागृह मामले में लिखने के कारण वैभव मिश्रा पर मारपीट के आरोप में प्राथमिकी

मुजफ्फरपुर | काेल्हुआ पैगंबरपुर के ललन राय ने रविवार को अहियापुर थाने में एफआईआर दर्ज कराकर वैभव मिश्रा और लोकेश पुष्कर पर मारपीट करने का आरोप लगाया है। ललन ने मारपीट का कारण बहुत गंभीर बताया है। पुलिस को बताया है कि उसकी बहन पत्रकार है। उसने बालिकागृह कांड पर कुछ रिपोर्ट लिखी थी। आरोप लगाया है कि इसी वजह से लोकेश पुष्कर और वैभव मिश्रा ने अन्य 6-7 लोगों के साथ मिलकर जीरोमाइल चौक के निकट हमला किया। मारपीट की और गले से चेन ले लिया। अहियापुर थानाध्यक्ष मनोज कुमार ने बताया कि ललन के आवेदन के आधार पर वैभव और लोकेश पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है। मामले की छानबीन के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

X
Muzaffarpur News - ngo secretary sakura was ramesh of sahu road have died
COMMENT