मधुबनी / नीतीश बोले-सार्वजनिक तालाबों को अतिक्रमण मुक्त कर किया जाएगा जल का संचयन



सभा को संबोधित करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। सभा को संबोधित करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार।
X
सभा को संबोधित करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार।सभा को संबोधित करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार।

  • 'सूबे में जनसंख्या को नियंत्रित करने के लिए प्रजनन दर घटाने की जरूरत'
  • इसके लिए लड़कियों को शिक्षित होना होगा, तभी हो सकेगा संभव: सीएम

Dainik Bhaskar

Nov 17, 2019, 12:16 PM IST

मधुबनी. कोसी दियारा क्षेत्र स्थित जयदेव सल्हैता उच्च विद्यालय के प्रांगण में शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि यदि किसी व्यक्ति ने सार्वजनिक तालाब पर अवैध कब्जा कर लिया है तो उसे अतिक्रमण से मुक्त कराया जाएगा। सार्वजनिक स्थान पर पानी पीने की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी। सरकारी बिल्डिंग के छतों पर गिरे वर्षा के पानी को सोख्ता बनाकर जल संचय करने का काम किया जाएगा। यह काम सबसे पहले सभी सरकारी भवनों से शुरू किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले ग्रीष्म ऋतु में जब दरभंगा में जल स्तर कम हो गया तो सरकार को इसकी चिंता सताने लगी। जिसके बाद सरकार ने अधिकाधिक पौधारोपण करने का निर्णय लिया। पश्चिमी कोसी नहर परियोजना के अवशेष कार्य को 770 लाख की लागत से पूरा किया जाएगा।

 

किया जाएगा फसल चक्र का आकलन, दी जाएगी जानकारी
सीएम ने कहा कि सरकार पूरे बिहार में फसल चक्र का आकलन किया जाएगा और कहा कि किस मौसम में कौन सा फसल पैदा होगा यह सुनिश्चित कर किसानों को इसके बारे में जानकारी दी जाएगी। सूबे के हर गांव में बिजली पहुंचा दी गई है। अब सरकार सौर्य ऊर्जा को बढ़ावा देने के क्षेत्र में कार्य कर रही है। मुख्यमंत्री ने किसानों से यह अपील किया कि खेतों में पुआल को नहीं जलाएं। पुआल जलाने से प्रदूषण का स्तर काफी बढ़ रहा है। सीएम ने लोगों से कहा कि नल के जल का इस्तेमाल सिर्फ पीने के लिए कीजिएगा। पशु को नहलाने, सिंचाई करने, वाहन धोने सहित अन्य कामों के लिए नल का जल उपयोग नहीं करने की अपील लोगों से की।

 

2023 मे बांध का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोसी नदी की बांध के आगे रिंग बांध का निर्माण करने से बाढ़ से सुरक्षा मिलेगा और यह कार्य 2023 तक पूरा कर लिया जाएगा। बाढ़ सुरक्षा के लिए सात जगहों पर जो कमी थी उसका शिलान्यास हो गया है। भूतही बलान के लिंक रोड का विस्तारीकरण किया जाएगा। इससे 56 गांव को फायदा मिलेगा। कमला तटबंध टूटने से विस्थापित हुए नरुआर गांव के 51 परिवारों को पांच डिसमल जमीन का पर्चा उपलब्ध करा दिया गया है। जल्द ही भवन निर्माण के लिए भी राशि उन्हें उपलब्ध करा दी जाएगी। 

 

जयनगर के कमला तटबंध को मजबूत करने के लिए अभियंताओं की टीम गठित कर दी गई है और मार्च तक इस दिशा में अंतिम निर्णय ले लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में जनसंख्या को नियंत्रित करने के लिए प्रजनन दर घटाने की जरूरत है। प्रजनन दर घटाने के लिए लड़कियों को शिक्षित होना आवश्यक है। जिसके लिए सूबे के सभी पंचायतों में उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की स्थापना की जा रही है। अगर महिलाएं शिक्षित होंगी तो प्रजनन दर में स्वतः कमी आएगी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना