• Hindi News
  • Bihar
  • Muzaffarpur
  • On the lines of CM Housing, now in every district, Japanese technology will also be planted, trees will be equal to 10 years in two years

बेतिया / सीएम आवास की तर्ज पर अब हर जिले में जापानी तकनीक से भी पौधरोपण, दो साल में 10 साल के बराबर के होंगे पेड़

जल-जीवन-हरियाली यात्रा के पहले चरण में मंगलवार को बेतिया पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। जल-जीवन-हरियाली यात्रा के पहले चरण में मंगलवार को बेतिया पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार।
X
जल-जीवन-हरियाली यात्रा के पहले चरण में मंगलवार को बेतिया पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार।जल-जीवन-हरियाली यात्रा के पहले चरण में मंगलवार को बेतिया पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार।

  • शराबबंदी की मॉनिटरिंग हफ्ते में 5 दिन आधा घंटा डीजीपी खुद करें

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2019, 11:06 AM IST

बेतिया/पटना. मुख्यमंत्री आवास की तर्ज पर अब हर जिले में जापानी तकनीक से भी पौधे लगेंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जापान के मियांवाकी तकनीक की खासीयत बताई। बोले-'इस तकनीक से 2 साल में ही पौधों की ऊंचाई 10 साल के पेड़ जैसी हो जाती है। मैंने इसका अधिकाधिक उपयोग कराने के लिए सभी जिलाधिकारियों से कहा है।' 

नीतीश, मंगलवार को अपनी जल-जीवन-हरियाली यात्रा की शुरुआत के मौके पर चंपापुर (बेतिया) में आयोजित जागरूकता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने 1032 करोड़ रुपए की 841 योजनाओं का उद्घाटन, शिलान्यास किया। बोले- 'मैंने जो वचन दिया, उसे पूरा किया। 19 जनवरी की मानव शृंखला के जरिए बिहार, पूरी दुनिया को जलवायु परिवर्तन में सुधार लाने का संदेश देगा।' उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री आवास (एक अणे मार्ग) में जापान के वैज्ञानिकों द्वारा विकसित मियांवाकी तकनीक का उपयोग कर 256 पौधे लगाए गए हैं।

गन्ने की दर का निर्धारण जल्द
सीएम ने कहा कि गन्ना किसानों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। बहुत ही जल्द गन्ने के दर का निर्धारण कर दिया जाएगा।

नीतीश बोले-कम्बाईन हार्वेस्टर छोड़ें, पुआल न जलाएं
जल-जीवन-हरियाली यात्रा के पहले चरण में मंगलवार को बेतिया पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। मोतिहारी में 4 दिसंबर, सीवान में 5 और गोपालगंज में 6 दिसंबर को यात्रा होगी।
 
शराबबंदी की मॉनिटरिंग हफ्ते में 5 दिन आधा घंटा डीजीपी खुद करें
मुख्यमंत्री ने कहा कि हफ्ते में 5 दिन आधा घंटा, डीजीपी शराबबंदी की मानीटरिंग खुद करें। कुछ दिन पहले मुख्य सचिव और डीजीपी के साथ बैठक में शराबबंदी को और प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए सख्ती करने का निर्णय लिया गया था। मुझे उम्मीद है कि डीजीपी शराबबंदी अभियान को बेहतर ढंग से संचालित करेंगे। गड़बड़ करने वालों पर कड़ी कार्रवाई करेंगे, चाहे वो व्यक्ति सरकारी तंत्र में ही क्यों ना हो? शराब पीने के कारण दुनिया भर में मरने वालों की संख्या सालाना 30 लाख है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना