--Advertisement--

पूजा के सामान से पटा कोना-कोना; दउरा सूप,चूल्हे और फल-सब्जियों की खरीदारी

लोक आस्था के महापर्व छठ का जुड़ाव समाज के हर वर्ग से है। यह दरअसल प्रकृति और किसानों का पर्व माना जाता है। इसमें सूप...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 04:02 AM IST
Muzaffarpur - pata kona kona with the items of worship shopping of daura soup stove and fruit vegetables
लोक आस्था के महापर्व छठ का जुड़ाव समाज के हर वर्ग से है। यह दरअसल प्रकृति और किसानों का पर्व माना जाता है। इसमें सूप व डलिया में खेती से जुड़ी तमाम चीजें सजाई जाती हैं। लिहाजा, फल से लेकर सब्जियों मसलन सेब, नारंगी, केला, नारियल, गागर नींबू, अदरख, शकरकंद से लेकर अन्य चीजों से शहर का कोना-काेना पट गया है। रविवार से चार दिवसीय महापर्व की शुरुआत होने वाली है। इसलिए, शनिवार को लोग लिस्ट बनाकर खरीदारी के लिए निकले। हालांकि, सारे जरूरी सामान की फिर भी खरीदारी नहीं हो पाई। गन्नीपुर निवासी अमिताभ कुमार ने कहा कि महापर्व स्वच्छता और प्रकृति की रक्षा का पर्व है। चार दिनों के पर्व में कोई एक चीज का नहीं, बल्कि किसान से लेकर समाज में हर तरह के कुटीर उद्योगों के सामान का उपयोग होता है। सूप, डलिया, डगरा, मिट्टी का चूल्हा, दीप, कोशी, ठेकुआ बनाने के सामान, फल-सब्जियां नैवेद्य के रूप में होते हैं। इसलिए अंतिम दिन तक खरीदारी होती रहती है।

इधर, इनरव्हील क्लब ऑफ मुजफ्फरपुर जागृति की ओर से झिटकहियां स्थित स्लम एरिया में छठ व्रती के बीच पूजन सामग्री का वितरण किया गया। मौके पर क्लब की अध्यक्ष डॉ. भारती सिंह, पीडीसी सुधा प्रसाद, सचिव अर्चना झा, गीता सिंह, माला, पिंटू, किरण, चेतना, अंजना, भावना, नुपूर, मंजू, पायल, संगीता, स्नेह, सुजाता एवं हेमा आदि थीं।

लकड़ीढाई घाट पर पर्व के लिए गेहूं सुखातीं व्रती।

इधर, ट्रैफिक पुलिस के बावजूद घंटों जाम में फंसे लोग, गलियों का सहारा लेकर पहुंचे गंतव्य तक

मुजफ्फरपुर| महापर्व को लेकर बाजार की रौनक परवान पर है। शनिवार को प्रमुख बाजार मोतीझील, कल्याणी, सरैयागंज, अखाड़ाघाट रोड, छोटी कल्याणी, हरिसभा, अघोरिया बाजार, भगवानपुर से लेकर तमाम जगहों पर भारी भीड़ उमड़ी। लेकिन, खरीदारी करने निकले लोग खरीदारी से ज्यादा जाम में फंसे रहे। भीड़-भाड़ को देखते हुए ट्रैफिक पुलिस हर प्रमुख चौक-चौराहे पर तैनात थी। बावजूद इसके ट्रैफिक व्यवस्था ध्वस्त हो गई। जाम से निकलने के लिए लोगों ने गलियों तक का सहारा लिया। सरैयागंज, छोटी सरैयागंज, सूतापट्टी, अखाड़ाघाट रोड में लोग किसी तरह निकले। मोतीझील में तो तिल रखने की जगह नहीं थी। लोगों को कार ही नहीं बाइक भी ओवरब्रिज पर ही खड़ी करनी पड़ी। पैदल किसी तरह से मोतीझील और ओवरब्रिज के नीचे जाकर खरीदारी करने को विवश होना पड़ा।

घर से घाट तक छठ का माहौल, आज नहाय-खाय के साथ शुरू होगा महापर्व

घर से घाट तक छठ का माहौल, आज नहाय-खाय के साथ शुरू होगा महापर्व

मुजफ्फरपुर| ज्योति पर्व के बाद एक बार फिर घर से घाट तक छठ का माहौल बनने लगा है। नहाय-खाय के साथ रविवार को महापर्व शुरू हो जाएगा। व्रती शनिवार से ही इसकी तैयारी में जुट गईं। चार दिवसीय पर्व के पहले दिन व्रती नहाय खाय से इसकी शुरुआत करेंगी। नदी, तालाब और घरों में स्नान के बाद व्रती कद्दू-भात का सेवन करेंगी। मान्यता है कि तन-मन को शुद्ध रखने के लिए स्नान के बाद कद्दू सब्जी का सेवन किया जाता है। पर्व को लेकर घाटों के साथ ही घर-घर घाट का निर्माण शुरू हो गया है। बड़ी संख्या में लोग घरों के कैंपस और छतों पर कृत्रिम घाट बनाकर छठ करते हैं। इसकी तैयारी के साथ ही प्रसाद बनाने का काम भी शुरू हो गया। छठी मइया के गीत गुनगुनाती महिलाओं ने ठेकुआ आदि बनाने के लिए गेहूं धोकर सुखाने का काम किया। नहाय खाय के बाद 12 को खरना, 13 को सांध्य अर्घ्य एवं 14 नवंबर को प्रात:कालीन अर्घ्य दिया जाएगा।

मुजफ्फरपुर| ज्योति पर्व के बाद एक बार फिर घर से घाट तक छठ का माहौल बनने लगा है। नहाय-खाय के साथ रविवार को महापर्व शुरू हो जाएगा। व्रती शनिवार से ही इसकी तैयारी में जुट गईं। चार दिवसीय पर्व के पहले दिन व्रती नहाय खाय से इसकी शुरुआत करेंगी। नदी, तालाब और घरों में स्नान के बाद व्रती कद्दू-भात का सेवन करेंगी। मान्यता है कि तन-मन को शुद्ध रखने के लिए स्नान के बाद कद्दू सब्जी का सेवन किया जाता है। पर्व को लेकर घाटों के साथ ही घर-घर घाट का निर्माण शुरू हो गया है। बड़ी संख्या में लोग घरों के कैंपस और छतों पर कृत्रिम घाट बनाकर छठ करते हैं। इसकी तैयारी के साथ ही प्रसाद बनाने का काम भी शुरू हो गया। छठी मइया के गीत गुनगुनाती महिलाओं ने ठेकुआ आदि बनाने के लिए गेहूं धोकर सुखाने का काम किया। नहाय खाय के बाद 12 को खरना, 13 को सांध्य अर्घ्य एवं 14 नवंबर को प्रात:कालीन अर्घ्य दिया जाएगा।

व्रतियों को साड़ी, पूजन सामग्री का वितरण

व्रतियों को साड़ी, पूजन सामग्री का वितरण

सिटी रिपोर्टर|मुजफ्फरपुर

छठ पर्व को लेकर विभिन्न संगठनों की ओर से शनिवार को छठ व्रती के बीच पूजन सामगी का वितरण हुआ। इस दौरान गरीबनाथ मंदिर न्यास समिति की ओर से सौ व्रतियों के बीच साड़ी, सूप और नारियल बांटे गए। मंदिर में परिसर में कांटी, झपहां, बोचहां एवं मुशहरी से व्रती सामग्री लेने पहुंचे। मौके पर मुख्य रूप से प्रधान पुजारी विनय पाठक, मंदिर न्यास समिति के सचिव एनके सिन्हा, कोषाध्यक्ष पुरेंद्र प्रसाद, सदस्य सुरेश चाचान, अनिल धवन एवं गोपाल फलक आदि थे। उधर, अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद विचार मंच की ओर से राज-राजेश्वरी देवी मंदिर के बाहर जरूरतमंदों को साड़ी व कपड़े दिए गए। मौके पर अध्यक्ष विमल कुमार व उपाध्यक्ष नीतेश कुमार आदि थे। खत्री सभा की ओर से पुरानी बाजार में छठ व्रती के बीच साड़ियों का वितरण किया गया। मौके पर मेयर सुरेश कुमार, वार्ड पार्षद शेरू अहमद, अब्दुल बारी, अश्विनी खत्री, सुजीत कपूर, शंभू नाथ, राज कपूर, डॉ. विनोद मेहता, राम किशोर उप्पल, विनोद नंदे, राजीव मेहरोत्रा, विनोद कपूर, अनुभव मुकेश, दिन बंधु खत्री, राकेश कक्कड़, निर्मल मेहता आदि थे। नव अंकुर संस्था की ओर से मां सविता सोशल वेलफेयर सोसायटी के तत्वावधान में व्रती को साड़ी, नारियल, नीबू, गेहूं का वितरण हुआ। मौके पर बोचहां विधायक बेबी कुमारी, मेयर सुरेश कुमार, सीमा झा, गीता देवी, विष्णुकांत झा, राजेश रोशन, पंकज शाही थे। गोला बांध रोड स्थित अयोध्या प्रसाद के आवास पर व्रती को पूजन सामग्री दी गई। मौके पर कमलेश्वर प्रसाद, जीवन कुमार, इमरान खान, फैजुल अहमद, नीरज पटेल, विपुल पटेल, सुशील, मुकेश अग्रवाल, रतन खेतान व अमित कुमार आदि थे।

सिटी रिपोर्टर|मुजफ्फरपुर

छठ पर्व को लेकर विभिन्न संगठनों की ओर से शनिवार को छठ व्रती के बीच पूजन सामगी का वितरण हुआ। इस दौरान गरीबनाथ मंदिर न्यास समिति की ओर से सौ व्रतियों के बीच साड़ी, सूप और नारियल बांटे गए। मंदिर में परिसर में कांटी, झपहां, बोचहां एवं मुशहरी से व्रती सामग्री लेने पहुंचे। मौके पर मुख्य रूप से प्रधान पुजारी विनय पाठक, मंदिर न्यास समिति के सचिव एनके सिन्हा, कोषाध्यक्ष पुरेंद्र प्रसाद, सदस्य सुरेश चाचान, अनिल धवन एवं गोपाल फलक आदि थे। उधर, अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद विचार मंच की ओर से राज-राजेश्वरी देवी मंदिर के बाहर जरूरतमंदों को साड़ी व कपड़े दिए गए। मौके पर अध्यक्ष विमल कुमार व उपाध्यक्ष नीतेश कुमार आदि थे। खत्री सभा की ओर से पुरानी बाजार में छठ व्रती के बीच साड़ियों का वितरण किया गया। मौके पर मेयर सुरेश कुमार, वार्ड पार्षद शेरू अहमद, अब्दुल बारी, अश्विनी खत्री, सुजीत कपूर, शंभू नाथ, राज कपूर, डॉ. विनोद मेहता, राम किशोर उप्पल, विनोद नंदे, राजीव मेहरोत्रा, विनोद कपूर, अनुभव मुकेश, दिन बंधु खत्री, राकेश कक्कड़, निर्मल मेहता आदि थे। नव अंकुर संस्था की ओर से मां सविता सोशल वेलफेयर सोसायटी के तत्वावधान में व्रती को साड़ी, नारियल, नीबू, गेहूं का वितरण हुआ। मौके पर बोचहां विधायक बेबी कुमारी, मेयर सुरेश कुमार, सीमा झा, गीता देवी, विष्णुकांत झा, राजेश रोशन, पंकज शाही थे। गोला बांध रोड स्थित अयोध्या प्रसाद के आवास पर व्रती को पूजन सामग्री दी गई। मौके पर कमलेश्वर प्रसाद, जीवन कुमार, इमरान खान, फैजुल अहमद, नीरज पटेल, विपुल पटेल, सुशील, मुकेश अग्रवाल, रतन खेतान व अमित कुमार आदि थे।

नभ अंकुर सेवा संस्थान की ओर से सामग्री बांटतीं विधायक बेबी कुमारी।

नभ अंकुर सेवा संस्थान की ओर से सामग्री बांटतीं विधायक बेबी कुमारी।

70 रुपए तक बिका कद्दू

नहाय खाय के लिए कद्दू की अनिवार्यता को देखते हुए शनिवार शाम कद्दू 70 रुपए तक बिका। नहाय-खाय को कद्दू-भात भी कहा जाता है। पर्व के दौरान शरीर में शीतलता और पानी की मात्रा बनी रहे है। इसलिए कद्दू की सब्जी बनती है।

Muzaffarpur - pata kona kona with the items of worship shopping of daura soup stove and fruit vegetables
Muzaffarpur - pata kona kona with the items of worship shopping of daura soup stove and fruit vegetables
X
Muzaffarpur - pata kona kona with the items of worship shopping of daura soup stove and fruit vegetables
Muzaffarpur - pata kona kona with the items of worship shopping of daura soup stove and fruit vegetables
Muzaffarpur - pata kona kona with the items of worship shopping of daura soup stove and fruit vegetables
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..