कार्यपालक सहायकों का रात भर के लिए नियोजन, सुबह स्थगन की सूचना

Muzaffarpur News - चार साल तक नियोजन का इंतजार करने के बाद गुरुवार की शाम मेधा सूची से करीब 100 कार्यपालक सहायकों काे जिलाधिकारी के...

Oct 12, 2019, 08:21 AM IST
चार साल तक नियोजन का इंतजार करने के बाद गुरुवार की शाम मेधा सूची से करीब 100 कार्यपालक सहायकों काे जिलाधिकारी के हस्ताक्षर से नियोजन पत्र मिला। लंबे इंतजार के बाद नियोजन पत्र मिलने पर अधिकांश के घराें में खुशी की दीपावली मनी ताे कइयाें ने पूजा कर परसाद बांटा। लेकिन, सुबह हाेते ही उनके अरमानों पर पानी फिर गया। उनका नियोजन पत्र स्थगित करते हुए योगदान के लिए विभिन्न कार्यालयों में भेजे गए पत्रों काे सामान्य प्रशाखा के अधिकारी ने वापस कर लिया। सुबह ही अपने नियोजन के स्थगित हाेने की सूचना पर कलेक्ट्रेट परिसर में पहुंचकर अभ्यर्थियों ने जमकर हंगामा किया। अभ्यर्थियाें ने बताया कि सूबे में 1250 पदाें पर नियोजन के लिए करीब 60 हजार आवेदन किए गए थे। चार साल इंतजार के बाद जिले के चयनित अभ्यर्थियों के मेधा सूची से गुरुवार काे कलेक्ट्रेट में नियोजन पत्र उपलब्ध कराया गया। बांकी काे शुक्रवार काे नियोजन पत्र देने की बात कही गयी थी। इसकाे लेकर बांकी लाेग सुबह से ही कलेक्ट्रेट में जमा हाे कर नियोजन पत्र मिलने का इंतजार करने लेगे। लेकिन जैसे ही कार्यालय खुला ताे पता चला कि अगले आदेश तक इसे स्थगित कर दिया गया है। नियोजन स्थगित हाेने की सूचना से अभ्यर्थियों के अाशा पर पानी फिर गया है। इसके बाद अभ्यर्थियों द्वारा किए गए हंगामा से कलेक्ट्रेट परिसर में अफरातफरी का माहौैल उत्पन्न हा़े गया। डीएम कार्यालय के गेट पर तैनात मजिस्ट्रेट व जवानों ने हंगामा कर रहे अभ्यर्थियों काे समझा-बुझाकर गेट से बाहर निकाल दिया। अभ्यर्थियों ने डीएम कार्यालय के गेट के बाहर भी जमकर हंगामा व प्रदर्शन किया। मामले में डीपीआरओ कमल सिंह ने बताया कि यह मामला उच्च स्तर पर शासी परिषद के समक्ष वर्तमान में विचाराधीन है। एेसे में शासी परिषद के अग्रेतर निर्देश प्राप्त हाेने तक कार्यपालक सहायकों का योगदान संबंधी निर्गत आदेश काे तत्काल प्रभाव से अगले आदेश तक स्थगित किया गया है। डीएम अालाेक रंजन घाेष द्वारा मामले में शीघ्र ही निर्णय लिया जाएगा।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना