मुजफ्फरपुर / 6 महीने पहले बेटे को गोली मारी गई, परिवार सुरक्षा की गुहार लगाता रहा, बदमाशों ने अब पिता को गला दबाकर मार डाला

राजकुमार ठाकुर की फाइल फोटो। राजकुमार ठाकुर की फाइल फोटो।
X
राजकुमार ठाकुर की फाइल फोटो।राजकुमार ठाकुर की फाइल फोटो।

  • घर में अकेले सो रहे थे 52 वर्षीय राजकुमार, तभी हत्या को दिया गया अंजाम 
  • बेटे को रंगदारी के लिए मारी गई गोली तो 25 दिन घर पर तैनात रही थी पुलिस

दैनिक भास्कर

Feb 25, 2020, 09:42 AM IST

मुजफ्फरपुर. 6 माह पहले पुत्र अविनाश के पैर में गोली मारे जाने पर दहशत में डूबे उसके पिता राजकुमार ठाकुर जान-माल की सुरक्षा के लिए पुलिस से गुहार लगाते रहे। फिर भी उनकी जान नहीं बची। अपराधियों ने उन्हें रविवार की रात घर में घुसकर गला घोंटकर मार डाला। घटना कांटी थाने के कुशी बसवरिया टोला की है।
 
राजकुमार घर में अकेले सो रहे थे। पोस्टमाॅर्टम में गले में अंदरूनी इंज्यूरी पाई गई है। अविनाश को गोली मारने का जिन लोगों पर आरोप था, उन्हीं पर राजकुमार की हत्या का आरोप लगाया जा रहा है। गांव में तनाव है। 52 वर्षीय राजकुमार की पत्नी की 7 साल पहले मौत हो चुकी है। दोनों पुत्र जयपुर में कांट्रैक्टर हैं। परिवार के साथ वहीं रहते हैं। अविनाश को गोली मारने की घटना में पड़ोस के गांव के ही कुछ लोगों को आरोपित किया गया था। पूर्व के विवाद व रंगदारी का आरोप लगा था। तब उनके घर पर 4 जवानों की तैनाती 25 दिनों के लिए कर दी गई थी। बीती रात भोज खाकर लौटने के बाद वे घर में सो गए। सोमवार सुबह बेड पर शव मिला। जीभ व आंख बाहर निकली थी, जिससे गला दबाकर हत्या की आशंका जताई गई है। मृतक के पिता त्रिभुवन ठाकुर ने 3 नामजद व एक अज्ञात पर हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस को बयान दिया है। 

जनप्रतिनिधियों ने भी पुलिस लापरवाही पर उठाए सवाल
राजकुमार ठाकुर की निर्मम हत्या के बाद मौके पर सभी दलों के जनप्रतिनिधि पहुंचे। इस दौरान पूर्व मंत्री अजीत कुमार ने कहा कि राजकुमार ठाकुर उनके काफी करीबी थे। उनकी हत्या से वे काफी मर्माहत हैं। राजद के पूर्व प्रत्याशी हैदर आजाद ने कहा कि अपराधी बेलगाम हो गए हैं। पुलिस को सूचना देकर गुहार लगाने के बाद भी लोगों की जान नहीं बच रही है। 

हत्या के पहले अपराधियों ने काट दी घर की बिजली
मौके पर पहुंची पुलिस को बिजली काटे जाने की जानकारी मिली। आशंका है कि पीछे के रास्ते से अपराधी घर में घुसा होगा। गला दबा कर हत्या करने के बाद उसी रास्ते से निकला होगा। राजकुमार के पुत्र अविनाश और अभय जयपुर में हैं। घटना की सूचना ग्रामीणों ने दोनों को दे दी है। मृतक के भाई संजय ठाकुर का आरोप है कि यह हत्या उनलोगों ने ही की है जिन्होंने 6 माह पहले अविनाश को गोली मारी थी।

पूर्व के विवाद में हत्या का आरोप लगाया जा रहा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट अभी पुलिस को नहीं मिली है। पोस्टमार्टम से ही हत्या की बात पुष्ट हो पाएगी। परिजनों के बयान पर एफआईआर दर्ज की जाएगी। सुरक्षा गार्ड मांगे जाने की जानकारी नहीं है। -जयंत कांत, एसएसपी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना