--Advertisement--

4 घंटे घेराबंदी / मोतीपुर थानेदार के आवास का ताला तोड़ कैश व शराब जब्त, सस्पेंड

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 10:19 AM IST


मोतीपुर थानाध्यक्ष कुमार अमिताभ मोतीपुर थानाध्यक्ष कुमार अमिताभ
X
मोतीपुर थानाध्यक्ष कुमार अमिताभमोतीपुर थानाध्यक्ष कुमार अमिताभ

  • पटना से पहुंची मद्य निषेध की टीम ने बोला धावा, एसएसपी की कॉल पर थाना अध्यक्ष मोबाइल बंद कर हुआ भूमिगत

मुजफ्फरपुर.  मोतीपुर थानाध्यक्ष कुमार अमिताभ के आवास से शराब बेचने की शिकायत पर मद्य निषेध पटना की टीम ने रविवार की शाम 7 बजे मोतीपुर थाने पर धावा बोला। एसएसपी, एसडीओ पश्चिमी की उपस्थिति में विशेष टीम ने थाना परिसर व मोतीपुर थानेदार के आवास का ताला तोड़कर चार घंटे तक घेराबंदी कर भारी मात्रा में शराब व कैश बरामद की है। शराबबंदी के बाद अब तक जब्त शराब का मिलान किया जा रहा है। 

 

उधर, एसएसपी के आदेश के बावजूद मोतीपुर थानेदार ने मोबाइल बंद कर मोतीपुर इलाके से भाग निकला। इस बीच एसएसपी ने थानाध्यक्ष को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। मोतीपुर थाना अध्यक्ष का शराब तस्करों से संबंध के साथ आवास में शराब रखे जाने की गुप्त सूचना मद्य निषेध आईजी रत्न संजय को मिली थी। 

 

मद्य निषेध के एसपी राजीव रंजन के नेतृत्व में विशेष टीम शाम 5 बजे ही कांटी के सदातपुर चौक पर पहुंची। सदातपुर चौक पर ही कांटी व अहियापुर थाने की पुलिस एवं बीएमपी को लेकर मोतीपुर थाने की घेराबंदी कर ली। कुछ ही देर बाद डीएसपी पश्चिमी कृष्ण मुरारी प्रसाद, एसएसपी मनोज कुमार भी पहुंच गए। इस बीच थानेदार फरार हो गए। फिर तत्कालीन थानेदार सुभाष प्रसाद को बुलाया गया। रात 11 बजे तक थानाध्यक्ष के आवास का ताला तोड़ा गया। 

 

सिस्टम पर सवाल : 11 दिन से थाने की स्टेशन डायरी रखी थी पेंडिंग
मोतीपुर थाना अध्यक्ष कुमार अमिताभ की भूमिका ने पूरे सिस्टम पर सवाल खड़ा कर दिया है। मद्य निषेध की टीम ने मोतीपुर थाने से ही एसएसपी को थानेदार के आवास में भारी मात्र में अवैध ढंग से शराब होने की सूचना दी। एसएसपी ने मोतीपुर थाना अध्यक्ष को अविलंब थाने पर पहुंचने का आदेश दिया। बावजूद थानेदार नहीं पहुंचा। इसके बाद एसएसपी को मोतीपुर थाना पहुंचना पड़ा। एसएसपी ने जब मोतीपुर थाने की स्टेशन डायरी चेक की तो 2 जनवरी की तिथि में स्टेशन डायरी लंबित देख अवाक रह गए। प्रत्येक घंटे स्टेशन डायरी को अपडेट करने की जगह 2 जनवरी से थानेदार ने स्टेशन डायरी को पेडिंग रखा था।

 

जब्त शराब को नष्ट करने का भेजा था प्रस्ताव
मोतीपुर थाने में शराबबंदी के बाद अब तक जब्त शराब को नष्ट नहीं किया गया था। हाल ही में थाना अध्यक्ष ने उत्पाद विभाग को जब्त शराब को नष्ट करने का प्रस्ताव भेजा था। शराब नष्ट करने का आदेश भी प्राप्त हो चुका है। लेकिन, उत्पाद टीम के नहीं आने के कारण नष्ट करने की कार्रवाई नहीं हो रही थी।

मालखाना अथवा थाना परिसर से बाहर जब्त शराब रखने की स्थिति में स्टेशन डायरी करना अनिवार्य है। साथ ही आवास में शराब रखने की जानकारी वरीय अधिकारी को भी होनी चाहिए। अगर बरामद शराब की जब्ती हाल में नहीं की है तो जब्त शराब को विधिवत सील करना है। -कृष्ण देव साह, अधिवक्ता, अपर लोक अभियोजक

 

बहुत ही गंभीर मामला है। देर रात तक कार्रवाई चल रही है। पूरी कार्रवाई के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी। -मनोज कुमार, एसएसपी, मुजफ्फरपुर 

Astrology
Click to listen..