मुठभेड़ के बाद पुलिस काे कामयाबी, 4 एनएच पर 25 दिन में लूट की 28 वारदात में वांटेड 4 अपराधी गिरफ्तार

Muzaffarpur News - क्राइम रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर मुठभेड़ के बाद कांटी में गिरफ्तार शातिर अपराधियों ने बीते 25 दिन में लूट के 28 वारदात...

Nov 11, 2019, 08:55 AM IST
क्राइम रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर

मुठभेड़ के बाद कांटी में गिरफ्तार शातिर अपराधियों ने बीते 25 दिन में लूट के 28 वारदात काे अंजाम दे चुके थे। करीब 20 लाख रुपए से अधिक की संपत्ति लूटी। लूट व छिनतई के सभी घटनाएं शहर से गुजरने वाले 4 एनएच पर किए गए है। अहियापुर के बाड़ा जगन्नाथ में बीते 30 अक्टूबर काे इसी गिरोह ने रिटायर्ड दारोगा की प|ी का चेन छीना था। इस क्रम में विरोध करने पर रिटायर्ड दारोगा रामदेव राय काे गाेली मार दी थी। इसके अलावा कांटी में पेट्रोल पंप मालिक, दाे सीएसपी संचालक समेत सात लाेगाें से 10 लाख रुपए से अधिक की लूट काे अंजाम दिया। वारदात में 20 अधिक बाइक लूटे। एसएसपी जयंत कांत ने बताया कि सीरियल लूट काे अंजाम दे रहे सरैया थाने के वैशाली विशुनपुरा निवासी सुंदरम कुमार, कांटी के सोनबरसा रघुवंश कुमार, करजा के रसूलपुर निवासी भाेला कुमार, अाैर शुभम उर्फ विक्की काे गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से एक लोडेड पिस्टल, देशी कट्टा, लूटे गए 7 बाइक, चार मोबाइल व कई कागजात बरामद किए गए। गिरोह के कई साथियों का नाम भी चाराें ने बताया है। जिसका सत्यापन किया जा रहा है।

अपराधियों ने लूट के 31 कांडाें में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। एसएसपी ने बताया कि शनिवार की रात मोतीपुर से लाैट रहा था। साथ में सिटी एसपी, डीएसपी पश्चिमी व कांटी थाने की पुलिस भी थी। इसी दाैरान सूचना मिली कि बदमाशों ने एक बुलेट बाइक लूटकर भाग रहे हैं। पानापुर में अपराधियों काे पकड़ने के लिए घेराबंदी की गई। लूट की बुलेट बाइक से दाे अपराधी पहुंचे। पुलिस काे देख गाड़ी तेजी में भगा दी। पीछा करने पर पिस्टल निकाल कर फायर कर दिया। आत्मरक्षार्थ कांटी थानेदार ने दाे राउंड फायरिंग की। जिसके बाद पहले सुंदरम व रघुवंश कुमार काे दबोचा गया। इन दाेनाें की निशानदेही पर भाेला व शुभम काे पकड़ा गया। लूटी गई बाइक व अन्य सामान जब्त किए गए।



अपराधी के बारे में जानकारी देते एसएसपी, साथ में सिटी एसपी।

कुरियर काे लूटने वाले गिरोह ने फाइनेंस कंपनी और बैंक लूट की रची थी साजिश, दाे गिरफ्तार

पूछताछ में पुलिस को महत्वपूर्ण जानकारी मिली, कई नाम सामने आए

क्राइम रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर

कांटी थाने के सदातपुर में बीते 26 जुलाई काे डीटीडीसी कुरियर कंपनी कार्यालय में 26 लाख रुपए की डकैती काे अंजाम देने वाले अपराधियों ने कांटी में बैंक अाॅफ इंडिया अाैर मोतीपुर में सोनाटा फाइनेंस कंपनी काे लूटने की योजना बनाई थी। इसकी सूचना पुलिस काे सर्विलांस के जरिए हाे गई। इसके बाद अपराधियों काे घेरने की योजना बना कर छापेमारी की गई। इसमें कांटी थाने के मधुकर छपरा से अमन अाेझा अाैर अमन मिश्रा काे दबोचा गया। दाेनाें से पूछताछ में गिरोह के कई लाेगाें के नाम सामने अाए। फरार चले रहे गिरोह के सरगना कुशी के बिट्टू ठाकुर, मुनचुन ठाकुर अाैर सुंदरम उई माेनू काे पकड़ने के लिए छापेमारी चल रही है। यह जानकारी रविवार काे प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसएसपी जयंत कांत ने दी। उन्होंने बताया कि यह गिरोह काफी शातिर है। बड़े वारदात काे अंजाम दे रहे हैं। गिरोह के सभी सदस्यों काे गिरफ्तार करने के लिए टीम लगातार छापेमारी कर रही है। अमन अाेझा अाैर अमन मिश्रा काे जेल भेजा गया। दाेनाें के पास से लोडेड पिस्तौल के साथ कट्टा भी बरामद हुअा।

तत्कालीन एसएसपी मनाेज कुमार ने बीते 4 अगस्त काे सदातपुर में डीटीडीसी कार्यालय में 26 लाख रुपए की डकैती कांड का खुलासा किया था। तब तीन नाबालिग शातिरों काे लूटे गए 26 लाख रुपए में से 40 हजार रुपए के साथ दबोचा गया था। डीटीडीसी मुहर लगे कई सामान भी बरामद की गई थी। तीनों नाबालिगों ने तब गिरोह के 11 बदमाशों का नाम भी पुलिस काे बताया था। लेकिन खुलासा हाे जाने के बाद पुलिस फरार चल रहे बदमाशों काे पकड़ने के लिए कार्रवाई काे शिथिल कर दिया। इससे मनोबल बढ़ने के बाद इस गिरोह के बदमाशों ने कांटी व मोतीपुर में लूट की दाे बड़े वारदात काे अंजाम देने की प्लानिंग कर डाली। अमन अाेझा व अमन मिश्रा की गिरफ्तारी से इसका खुलासा हुअा।

4 अगस्त काे ही हुअा था खुलासा, लेकिन अपराधियों को पकड़ने में शिथिल थी पुलिस

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना