जुलूस-ए-माेहम्मदी : मुस्तफा जाने रहमत पर लाखाें सलाम, शम्मे बज्मे हिदायत पर लाखाें सलाम... की गूंज से पेश की गई अकीदत

Muzaffarpur News - मुस्तफा जाने रहमत पर लाखाें सलाम, शम्मे बज्मे हिदायत पर लाखाें सलाम। जिस सुहानी घड़ी चमका तैबा का चांद, उस दिल...

Nov 11, 2019, 09:01 AM IST
मुस्तफा जाने रहमत पर लाखाें सलाम, शम्मे बज्मे हिदायत पर लाखाें सलाम। जिस सुहानी घड़ी चमका तैबा का चांद, उस दिल अफरोज साअत पर लाखाें सलाम।

पैगम्बर-ए-इस्लाम हजरत मोहम्मद सलल्लाहाे अलैहे वसल्लम पर सलात व सलाम पढ़ते हुए रविवार काे शहर में जगह-जगह से पूरी शान व शाैकत के साथ जुलूस ए मोहम्मदी निकाला गया। नारे तकबीर अाैर नारे रिसालत से शहर गूंज उठा। दीनी झंडे के साथ तिरंगा लहरा कर जुलूस में मुसलमानों ने राष्ट्र प्रेम का भी प्रदर्शन किया। करबला माेहल्ले के जुलूस में 100 फीट का तिरंगा निकाला गया था। जुलूस में घाेड़ा व रंग बिरंगे पोशाक से सजे बच्चों ने राैनक बिखेरा। राैजा-ए-रसूल अाैर खाने काबा का प्रतिरूप जुलूस में आकर्षण का केंद्र रहा। प्रत्येक मोहल्ले का जुलूस तिलक मैदान राेड में इकट्ठा हुअा।

यहां सड़क काे रंग बिरंगे फूल पत्तियों व झंडों से सजाया गया था। सड़क किनारे बने स्टेज से काजी ए शहर माैलाना मुफ्ती शमीमुल कादरी व विभिन्न मदरसों के उलेमाओं ने अकीदतमंदों काे खिताब किया। माैलाना ने पैगम्बर ए इस्लाम के अमन व शांति के पैगाम व हक की राह पर चलने की सीख दी गई। नबी पर सलात व सलाम पेश करने के बाद तिलक मैदान राेड में इज्तमाई दुअा की गई। दुअा में काजी ए शहर ने शहर व देश में शांति, तरक्की अाैर भाइचारे की कामना की। इससे पहले स्टेज से शायराें ने नाते पाक पेश किया। इसके बाद तिलक मैदान राेड से जुलूस वापस रवाना हुअा। हजरत मोहम्मद सलल्लाह व आलेह वसल्लम के जन्मदिवस के माैके पर निकले जुलूस में नूरी मदरसा, तेगीया मदरसा, दामोदरपुर, रामबाग, सादतपुर, स्पीकर चौक, सादपूरा , मड़ीपूर, मझाैलीया, अनवारे मुस्तफा, दीनिया गाैसिया आदि जगहो से निकला जुलूस आकर्षण का केंद्र रहा। तिलक मैदान नौजवान कमिटी के चेयरमैन इफ्तखार आलम मुन्ना, अध्यक्ष मो.फारूक गनौर, तिलक मैदान जमा मस्जिद के मुतवल्ली तैयब आजाद, सीनियर अधिवक्ता एमए एजाजी, हाजी मो.उस्मान, बीजेपी नेता मीमशाद आलम, गुड्डू गौरी, पम्मी, नेयाज आलम, मो.फारूक, मो.आरिफ, इमरान अली, कुर्बान अली, इकबाल हसन, मो.इम्तेयज, अली अहमद, अब्दुल सत्तार, अब्दुल हकीम अादि ने जुलूस में अाए लाेगाें का खैर मकदम किया।

नारे तकबीर व नारे रिसालत के साथ निकला जगह-जगह से जुलूस, तिलक मैदान राेड में हुआ जुटान, उलेमाओं ने नबी की जीवनी पर डाला प्रकाश

करवला से 40 फीट लंबे तिरंगा के साथ निकला जुलूस-ए-माेहम्मदी।

जगह-जगह शरबत अाैर शिरनी बंटा

जुलूस मोहम्मदी के स्वागत के लिए शहर के पक्की सराय, माड़ीपुर, करबला, चतुर्भुज स्थान, कच्ची सराय, समेत कई जगहाें पर स्टेज बनाय गया था। यहां जुलूस में नारा लगाए रहे लाेगाें काे शरबत पिलाया गया अाैर शीरनी बांटी गई।

शिया मुसलमानों ने भी जुलूस-ए-मोहम्मदी का किया खैर मकदम

भिकनपुपर में बिहार स्टेट शिया वक्फ बोर्ड के अधिकारी सयैद आरिफ रजा और मौलाना नेहाल हैदर के नेतृत्व में जुलूसे मोहम्मदी के स्वागत के लिए कार्यक्रम का अायाेजन किया गया। इस अवसर पर झपहां और भिकनपुर मस्जिद के इमाम काे शाॅल अाेढ़ा कर सम्मानित किया गया।

नकुलवा चाैक पर स्वतंत्र पार्षद प्रत्याशी मंच ने किया स्वागत

मुजफ्फरपुर| नकुलवा चाैक पर स्वतंत्र पार्षद प्रत्याशी मंच के बैनर तले जुटे लाेगाें ने जुलूस ए मोहम्मदी का स्वागत किया। माे. शमीम कुरैशी ने जुलूस में शामिल लाेगाें काे शरबत पिला कर खीर खिलाया। संरक्षक सेवादार अविनाश साईं, उमाशंकर प्रसाद बबलू, आमिर हुसैन, माे. सद्दाम, माे. सलाउद्दीन, रमेश झा, अाम प्रकाश शाही आदि ने ट्रैफिक सुचारू रखने में मदद की।

तिलक मैदान रोड में खिताब करते काजी ए शहर मौलाना मुफ्ती शमीमुल कादरी।

जुलूस में मक्का मदीना की झांकी आकर्षण का केंद्र रही।

हजरत मोहम्मद पैगंबर साहब ने पूरी दुनिया को दिया शांति का संदेश

बंदरा | प्रखंड में अमन का पैगाम देने वाले हजरत मोहम्मद साहब का जन्म दिन मिलाद उन-नबी पर हर्षोल्लास के माहौल में जुलूस निकाला गया। इस दौरान गोविंदपुर छपरा स्कूल में तकरीर का आयोजन किया गया।जिसमें मौलाना खुर्शीद अहमद, मौलाना कमरुद्दीन, मौलाना कमरूहसन (सीतामढ़ी), मौलाना जमशेर, मौलाना अशहर, मौलाना ओबैदुल्लाह आदि तकरीर कर पैगंबर के संदेशों को लोगों तक पहुंचाया। संचालन मो. कमरू हसन एवं धन्यवाद ज्ञापन मो. खुर्शीद ने किया। इस दौरान यहां बड़गांव, पटसारा, रतवारा बैंगरी, महिनाथपुर घोसरामा, पूसा, भूसरा, सिमरा, रतवारा, बंदरा, बड़गांव, सर्फुद्दीनपुर, गायघाट, कल्याणपुर आदि क्षेत्रों के दर्जनों जुलूसों का मिलान होता रहा।

हर्षोल्लास के माहौल में निकला जुलूस

सकरा | प्रखंड के विभिन्न गांवों के साथ ही नूरी मस्जिद से मजार शरीफ होते हुए जुलूस निकाला गया। जो सकरा, सबहा, सुजावलपुर होते हुए सकरा में आकर खत्म हो गया। मौके पर मो. शरीफ, मो. अख्तर, मो. इदरीश, मो. हदीस, मो. शमीम, मो. हबीब, मो. पीर मोहम्मद अंसारी आदि मौजूद थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना