भूटान की राजकुमारी देचन ने देखा ऐतिहासिक रैलिक स्तूप, बोलीं - यहां मन को शांति मिली

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 04:35 AM IST

Muzaffarpur News - भूटान की राजकुमारी देचन वांग्मो वांग्चुक रविवार को वैशाली पहुंचीं। उन्होंने कोल्हुआ में अशोक स्तंभ और रैलिक...

Muzaffarpur News - rajkumari dechan of bhutan saw the historic ralik stupa spoken peace was found here
भूटान की राजकुमारी देचन वांग्मो वांग्चुक रविवार को वैशाली पहुंचीं। उन्होंने कोल्हुआ में अशोक स्तंभ और रैलिक स्तूप देखा। वहां काफी देर तक एकांत में बैठीं। वैशाली का ऐतिहासिक स्थल और शांत वातावरण देख कर उन्होंने कहा कि यहां आकर मन को शांति मिली। वैशाली काफी शांत जगह है। यहां खूब प्रसन्नता मिली। स्तूप देख अभिभूत राजकुमारी को गाइड डॉ. रामनरेश राय ने भगवान बुद्ध के संबोधन और भगवान महावीर की जन्म स्थली के बारे में बताया। कहा कि जैन धर्म के मतावलंबियों के लिए यह एक पवित्र नगरी है। हिंदू धर्म से जुड़े प्राचीन मंदिरों एवं अवशेषों के बारे में जानकर भी राजकुमारी खुश हुईं। वैशाली को धर्म समन्वय स्थल बताया। शताब्दी पूर्व बौद्ध धर्म से जुड़े विरासतों को देखा। राजकुमारी दोपहर में कुशीनगर से वैशाली पहुंची थीं। उनके पहुंचने पर वैशाली होटल रेजीडेंसी में वैशाली प्रशासन की ओर से जिला जनसंपर्क पदाधिकारी सुमित कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी हाजीपुर संदीप शेखर प्रियदर्शी, बीडीओ अजय कुमार ने फूलों का गुलदस्ता देकर उन्हें सम्मानित किया। कुछ देर आराम के बाद तकरीबन ढाई बजे रैलिक स्तूप पर पहुंच कर पूजा-अर्चना की।

भगवान बुद्ध से जुड़ीं जानकारियां हासिल करतीं भूटान की राजकुमारी।

X
Muzaffarpur News - rajkumari dechan of bhutan saw the historic ralik stupa spoken peace was found here
COMMENT