--Advertisement--

बिहार के कॉलेज परीक्षा ने सारी हदें पार की; खूब चली नकल, हॉल में भी पुर्जे बिखरे थ

डिग्री पार्ट टू की परीक्षा को परीक्षा शब्द की श्रेणी में तो नहीं रखा जा सकता है।

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2018, 09:44 AM IST
ये कोई ग्रुप टास्क नहीं परीक्ष ये कोई ग्रुप टास्क नहीं परीक्ष
बेतिया. राज्य में मैट्रिक व इंटर की परीक्षाओं में सरकार ने चाहे जितनी कड़ाई शुरू कर दी हो लेकिन डिग्री की परीक्षाएं पूर्णतः भगवान भरोसे संचालित की जा रही हैं। बीआरए बिहार विवि के अंगीभूत कॉलेजों में परीक्षा के नाम पर कोरम पूरा करने का काम किया जा रहा है। परीक्षा केंद्रों पर न पर्याप्त संख्या में वीक्षक हैं न उपस्कर हैं और न सुरक्षा की कोई व्यवस्था है। 2 जुलाई से चल रही डिग्री पार्ट टू की परीक्षा को परीक्षा शब्द की श्रेणी में तो नहीं रखा जा सकता है, लेकिन गुरुवार को आयोजित हुई डिग्री पार्ट-टू के कला संकाय की एमआईएल की परीक्षा ने सारी हदें पार कर दीं। परीक्षा में परीक्षार्थियों की संख्या के दबाव के आगे केंद्र प्रशासन इतने लाचार हो गए कि उन्हें परीक्षार्थियों को जमीन पर दरी बिछाकर परीक्षा लेनी पड़ी। हर रूम की खिड़कियों के पीछे चिट-पुर्जे के ढेर लगे हुए थे परीक्षा हॉल में भी पुर्जे बिखरे थे। परीक्षा हॉल में प्राध्यापकों के साथ-साथ महाविद्यालय के फोर्थ ग्रेड तक के कर्मी वीक्षण कार्य मे लगाए गए थे। यही नहीं कई भूतपूर्व छात्रों व सामाजिक संगठनों से जुड़े लोगों की भी वीक्षक के रूप में ली गई गई थी जो कि उचित नहीं माना जा सकता।
X
ये कोई ग्रुप टास्क नहीं परीक्षये कोई ग्रुप टास्क नहीं परीक्ष
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..