Hindi News »Bihar »Muzaffarpur» Record Cheating In College Exams

बिहार के कॉलेज परीक्षा ने सारी हदें पार की; खूब चली नकल, हॉल में भी पुर्जे बिखरे थ

डिग्री पार्ट टू की परीक्षा को परीक्षा शब्द की श्रेणी में तो नहीं रखा जा सकता है।

Bhaskar News | Last Modified - Jul 13, 2018, 10:07 AM IST

  • बिहार के कॉलेज परीक्षा ने सारी हदें पार की; खूब चली नकल, हॉल में भी पुर्जे बिखरे थ
    +2और स्लाइड देखें
    ये कोई ग्रुप टास्क नहीं परीक्षा हॉल है।
    बेतिया. राज्य में मैट्रिक व इंटर की परीक्षाओं में सरकार ने चाहे जितनी कड़ाई शुरू कर दी हो लेकिन डिग्री की परीक्षाएं पूर्णतः भगवान भरोसे संचालित की जा रही हैं। बीआरए बिहार विवि के अंगीभूत कॉलेजों में परीक्षा के नाम पर कोरम पूरा करने का काम किया जा रहा है। परीक्षा केंद्रों पर न पर्याप्त संख्या में वीक्षक हैं न उपस्कर हैं और न सुरक्षा की कोई व्यवस्था है। 2 जुलाई से चल रही डिग्री पार्ट टू की परीक्षा को परीक्षा शब्द की श्रेणी में तो नहीं रखा जा सकता है, लेकिन गुरुवार को आयोजित हुई डिग्री पार्ट-टू के कला संकाय की एमआईएल की परीक्षा ने सारी हदें पार कर दीं। परीक्षा में परीक्षार्थियों की संख्या के दबाव के आगे केंद्र प्रशासन इतने लाचार हो गए कि उन्हें परीक्षार्थियों को जमीन पर दरी बिछाकर परीक्षा लेनी पड़ी। हर रूम की खिड़कियों के पीछे चिट-पुर्जे के ढेर लगे हुए थे परीक्षा हॉल में भी पुर्जे बिखरे थे। परीक्षा हॉल में प्राध्यापकों के साथ-साथ महाविद्यालय के फोर्थ ग्रेड तक के कर्मी वीक्षण कार्य मे लगाए गए थे। यही नहीं कई भूतपूर्व छात्रों व सामाजिक संगठनों से जुड़े लोगों की भी वीक्षक के रूप में ली गई गई थी जो कि उचित नहीं माना जा सकता।
  • बिहार के कॉलेज परीक्षा ने सारी हदें पार की; खूब चली नकल, हॉल में भी पुर्जे बिखरे थ
    +2और स्लाइड देखें
    पार्ट-2 आर्ट्स के एमआईएल की परीक्षा।
  • बिहार के कॉलेज परीक्षा ने सारी हदें पार की; खूब चली नकल, हॉल में भी पुर्जे बिखरे थ
    +2और स्लाइड देखें
    हर रूम की खिड़कियों के पीछे चिट-पुर्जे के ढेर लगे हुए थे परीक्षा हॉल में भी पुर्जे बिखरे थे।
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Muzaffarpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×