मुजफ्फरपुर / रेंज अफसर का आरोप- क्षेत्रीय मुख्य वन संरक्षक ने मांगी 5 लाख रुपए घूस

Regional Chief Forest Conservator accused of demanding bribe
X
Regional Chief Forest Conservator accused of demanding bribe

  • रेंजर की शिकायत पर मुख्यालय ने शुरू की जांच
  • आरसीसीएफ बोले-खुद भ्रष्ट है रेंज अफसर, मेरी मां बीमार है इसलिए मदद मांगी थी

दैनिक भास्कर

Dec 11, 2019, 04:33 AM IST

मुजफ्फरपुर (शैलेश कुमार). आरसीसीएफ (क्षेत्रीय मुख्य वन संरक्षक) रविशंकर कुमार ब्लैकमेल कर पांच लाख रुपए रिश्वत मांगने के आरोप में घिर गए हैं। ये आरोप वन विभाग के रेंज ऑफिसर मनाेज कुमार ने लगाए हैं। इसको लेकर रेंज ऑफिसर ने तिरहुत डीएफओ सुधीर कुमार कर्ण से लिखित शिकायत की है। इसमें रेंज ऑफिसर ने लिखा है कि आरसीसीएफ की प्रताड़ना से तंग आकर वह आत्महत्या करने काे मजबूर हाे जाएंगे। अब वन मुख्यालय ने मामले की जांच शुरू कर दी है। वन विभाग के प्रधान सचिव ने रेंज ऑफिसर काे पटना बुलाकर पूछताछ की है।


इधर, आरसीसीएफ रविशंकर कुमार का दावा है कि रेंज ऑफिसर मनाेज कुमार के क्षेत्र में बड़ी संख्या में अवैध आरा मिलें चल रही हैं। फील्ड से शिकायत पर जांच की गई। डीएफओ से लेकर हेडक्वार्टर तक काे इसकी रिपाेर्ट भेजी गई है। रेंज ऑफिसर ब्लैकमेलर हैं। किसी भी सीनियर ऑफिसर से बात करते हैं ताे उसकी रिकाॅर्डिंग करते हैं। अपने मतलब के मुताबिक ऑफिसराें काे ब्लैकमेल करने की आदत रही है। मेरी मां 40 दिनाें तक आईसीयू में थी। ऐसी मजबूरी किसी के भी साथ हाे सकती है। रेंज ऑफिसर ने कहा कि जब किसी चीज की जरूरत हाे ताे बताइएगा। इसी बात काे कट कर उन्हाेंने ब्लैकमेल करने का काम किया। जांच में सब साफ हाे जाएगा।

फोन पर लेनदेन की बात

  • आरसीसीएफ : हां, मनाेज कहां हाे... बाेले थे संडे काे आ जाएगा, सटर-डे को भी नहीं आए। संडे भी नहीं, मंडे भी पता नहीं। 
  • रेंज ऑफिसर : सर उतनी व्यवस्था नहीं हाे पाई। 
  • आरसीसीएफ : कितना हुआ है तुम्हारा...
  • रेंज ऑफिसर : 50 हजार हाे पाया है सर
  • आरसीसीएफ- (झुंझलाते हुए) रखाे तब। (ऑडियो के मुख्य अंश)

चिड़ियाखाना में मिट्टी घाेटाले के आराेपी रह चुके है रेंज ऑफिसर 
आरसीसीएफ पर ब्लैकमेल कर 5 लाख रुपए रिश्वत मांगने का आराेप लगाने वाले रेंज ऑफिसर मनाेज कुमार पटना के चिड़ियाखाना में कथित मिट्टी घाेटाले के आराेपी रहे हैं। बिहार के सबसे बड़े माॅल निर्माण काे लेकर जाे मिट्टी कटाई की गई, उसी मिट्टी की खरीदारी कर चिड़ियाखाना में भराई कराई गई थी। यह मामला विजिलेंस तक पहुंचा था। हालांकि उनका कहना है कि कोई गड़बड़ी नहीं हुई थी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना