बागमती परियोजना बांध के आसपास बने रेनकट की 24 घंटे में मरम्मत का आदेश

Muzaffarpur News - डीएम आलोक रंजन घोष शनिवार को प्रखंड मुख्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने बाढ़ से निपटने की तैयारियों का जायजा लेने के...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:25 AM IST
Orai News - renuka39s house around bagmati project dam
डीएम आलोक रंजन घोष शनिवार को प्रखंड मुख्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने बाढ़ से निपटने की तैयारियों का जायजा लेने के साथ ही बारिश से हुई क्षति व अन्य योजनाओं की समीक्षा की। मौके पर जनप्रतिनिधियों व आम लोगों ने क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं से डीएम को अवगत कराया और ज्ञापन सौंपे। इस दौरान जिप प्रतिनिधि संजय किंकर ने डीएम से बागमती परियोजना बांध की सुरक्षा के लिए होमगार्ड की प्रतिनियुक्ति और उत्तरी व दक्षिणी तटबंध के बीच स्थित महेशबाड़ा पंचायत में बारिश के कारण तटबंध किनारे बने रेनकट की मरम्मति की मांग की। डीएम ने अविलंब संज्ञान लेते हुए बागमती परियोजना के कार्यपालक अभियंता को 24 घंटे के अंदर तटबंध के रेनकट को दुरुस्त करने का आदेश दिया। साथ ही प्रतिनियुक्त सभी होमगार्ड जवानों की हाजिरी की रिपोर्ट प्रतिदिन डीएम कार्यालय को भेजने का आदेश दिया। इसके साथ ही डीएम ने औराई-जाले पथ स्थित महेश स्थान के निकट बन रहे पुल के डायवर्सन का भी जायजा लिया। इसके बाद डीएम ने औराई स्थित जमींदारी बांध का निरीक्षण किया। डीएम को बताया गया कि जमींदारी बांध टूटे रहने से बागमती व लखनदेई में आई बाढ़ के कारण औराई मुख्यालय की 9 पंचायत हर साल जलमग्न हो जाती हैं। प्रखंड कार्यालय सहित थाना और जिला मुख्यालय से इन पंचायतों का संपर्क भंग हो जाता है। फसलें बर्बाद हो जाती हैं। इस पर एसडीओ पूर्वी कुंदन कुमार ने बताया कि लखनदेई तटबंध की डीपीआर तैयार हो चुकी है लखनदेई का तटबंध बागमती के तर्ज पर बनेगा। मौके पर एसडीओ पूर्वी कुंदन कुमार, बीडीओ सत्येन्द्र कुमार यादव, सीओ शंकरलाल विश्वास, मुखिया अफरोज आलम उर्फ चांद, कांग्रेस अध्यक्ष मो. बकर, विनोद कुमार, अशफाक अहमद राईन, मणि कुमार, गुड्डू सिंह, मो. वसीम, गजनफर हुसैन आदि थे।

एस्टीमेट के नाम पर रुपए मांगने का आरोप

प्रखंड मुख्यालय पहुंचे डीएम के समक्ष मथुरापुर बुजुर्ग पंचायत के वार्ड सदस्य मणि कुमार ने जेई द्वारा नल जल योजना का प्राक्कलन बनाने के नाम पर रिश्वत मांगे जाने की शिकायत की। साथ ही आरोप लगाया कि बीडीओ के समक्ष कई बार मामले को उठाया गया लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। वहीं, राजखंड गांव के ईश्वरचंद पंडा ने आरोप लगाया कि उनकी पंचायत कई माह पूर्व शौचमुक्त हो चुकी है लेकिन कमीशन के खेल में कई लाभुकों को प्रोत्साहन राशि नहीं दी गई है।

बाढ़ से राहत बचाव के लिए मुजफ्फरपुर पहुंची एसडीआरएफ टीम, डीएम ने जारी किया अलर्ट

मुजफ्फरपुर | बागमती नदी के जलस्तर में लगातार हाे रही वृद्धि के बाद अाैराई व कटरा के कई इलाकाें में अायी बाढ़ के बाद प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया गया है। अधिकारियों व कर्मचारियाें काे अलर्ट माेड में रहने काे कहा गया है। राहत व बचाव कार्य के लिए शनिवार काे बिहटा से एसडीआरएफ की एक टीम मुजफ्फरपुर पहुंच गई है। एसडीआरएफ की टीम में 8 बाेट के साथ 32 जवान शामिल हैं। इधर, डीएम ने अधिकारियों से कहा है कि मुस्तैदी से राहत व बचाव कार्य काे चलाए जाएं। आपदा की स्थिति में प्रभावित क्षेत्रों में राहत केंद्र, सामुदायिक रसोई घर चलाने के साथ ही फूड पैकेट्स का वितरण किया जाएगा। कई दिनाें से जारी बारिश से बाढ़ की अाशंका काे देखते हुए अापदा टास्क फाेर्स की समीक्षा बैठक में डीएम अालाेक रंजन घाेष ने अधिकारियों से उक्त बातें कही। लापरवाही बरतने वाले बख्शे नहीं जाएंगे। अपर समाहर्ता अापदा अतुल कुमार वर्मा ने कहा कि तीनों नदियों से प्रभावित होने वाले संभावित कुल 150 क्षेत्र की पहचान की गई है। बचाव के लिए 291 निजी एवं 31 सरकारी नावाें के साथ ही 19470 पॉलीथिन सीट्स की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है।

सीओ ने बूढ़ी गंडक के तटबंध का किया निरीक्षण

मुशहरी | सीओ नागेंद्र कुमार ने शनिवार को बूढ़ी गंडक के तटबंध का मुशहरी से लेकर बुधनगरा तक निरीक्षण किया। रजवाड़ा से बुधनगरा तक दर्जनों स्थानों पर बांध पर बोकर ओर रेन कट मिले। बुधनगरा के वार्ड 1 में बांध के 2 वृक्ष गिरने की स्थिति में थे। रेन कट से वहां बड़ा सा गड्ढा बन गया था। आगे बढ़ने पर कुछ मजदूर बालू से रेन कट के गड्ढे भरते दिखे। सीओ नागेंद्र कुमार ने फटकार लगाई। ग्रामीण रमेश सहनी, मोहित राय, विपत सहनी, गणेश राम आदि ने बताया कि रेन कट ओर बोकर भरने के नाम पर कागजी खानापूर्ति की जा रही है। तटबंधों पर कहीं होमगार्ड व चौकीदार ड्यूटी पर नहीं मिले। निरीक्षण के बाद सीओ नागेंद्र कुमार ने शनिवार की देर शाम डीएम को त्राहिमाम संदेश भेजा है। जिसमें बूढ़ी गंडक के तटबंध में कई स्थानों पर रेन कट को खतरनाक बताते हुए जलस्तर में तेजी से वृद्धि होने की बात बताई है। उन्होंने आशंका जताई है कि यही स्थिति रही तो मुशहरी पुनः बाढ़ की चपेट में आ सकता है।

कलेक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक करते डीएम।

X
Orai News - renuka39s house around bagmati project dam
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना